in

बाइक सवार दो युवकों से 8.64 लाख रुपये लूटने का प्रयास करने वाले दो आरोपी चढ़े पुलिस के हत्थे


ख़बर सुनें

पानीपत। मित्तल मेगा मॉल के पास बाइक सवार दो युवकों से पिस्तौल के बल पर 8.64 लाख रुपये लूटने का प्रयास करने वाले दो आरोपियों को सीआईए-2 ने गिरफ्तार किया है। दोनों सफीदों के टोंडी खेड़ी के रहने वाले हैं। आरोपियों ने एक अन्य साथी के साथ मिलकर वारदात को अंजाम देने की बात कही। साथियों के ठिकानों का पता लगाकर उन्हें काबू करने के लिए दोनों आरोपियों को सीआईए ने न्यायालय में पेेश कर दो दिन के पुलिस रिमांड पर लिया है।
सीआईए-2 प्रभारी इंस्पेक्टर वीरेंद्र सिंह ने बताया कि दोनों आरोपियों को सोमवार शाम सौदापुर अड्डे से पकड़ा गया। आरोपियों की पहचान सफीदों के टोंडी खेड़ी निवासी सुशील पुत्र चतर सिंह और कुलदीप उर्फ काकू पुत्र राजेश के रूप में हुई। प्रारंभिक पूछताछ में पता चला कि आरोपियों ने रेकी कर वारदात को अंजाम दिया था। लूट के बाद थोड़ी दूर सेक्टर-25 में पहुंचने पर सामने से आ रही पुलिस की गाड़ी को देखकर रुपये से भरे थैले को सड़क पर छोड़कर फरार हो गए थे। पूछताछ में खुलासा हुआ कि तीनों आरोपी लूटपाट के इरादे से ही सफीदों से पानीपत आए थे। उन्होंने प्लान बनाया था कि एक साथी बैंक के अंदर जाएगा और दो बाहर बाइक पर रहेंगे। अंदर वाला साथी बैंक से रुपये निकलवाने वाले शख्स पर नजर रखेगा। जैसे ही अंदर से इनपुट मिलेगा वह सचेत हो जाएंगे। रिमांड के दौरान आरोपियों ने बताया कि इससे पहले वह दो बैंकों में जाकर कोशिश कर चुके थे, लेकिन बड़ी मछली हाथ नहीं लगी। इसके बाद आईसीआईसीआई बैंक आए।
सीआईए-2 प्रभारी वीरेंद्र ने बताया कि सुशील और कुलदीप का तीसरा साथी फरार है, जिसकी धरपकड़ में टीम जुटी है। दोनों आरोपियों से खुलासा हुआ कि तीसरा साथी पहले पानीपत में पीओपी का काम करके जा चुका है। उसने ही पूरी योजना तैयार की। तीसरे साथी का आपराधिक रिकॉर्ड भी सामने आया है, जिसे निकलवाया जा रहा है।

पानीपत। मित्तल मेगा मॉल के पास बाइक सवार दो युवकों से पिस्तौल के बल पर 8.64 लाख रुपये लूटने का प्रयास करने वाले दो आरोपियों को सीआईए-2 ने गिरफ्तार किया है। दोनों सफीदों के टोंडी खेड़ी के रहने वाले हैं। आरोपियों ने एक अन्य साथी के साथ मिलकर वारदात को अंजाम देने की बात कही। साथियों के ठिकानों का पता लगाकर उन्हें काबू करने के लिए दोनों आरोपियों को सीआईए ने न्यायालय में पेेश कर दो दिन के पुलिस रिमांड पर लिया है।

सीआईए-2 प्रभारी इंस्पेक्टर वीरेंद्र सिंह ने बताया कि दोनों आरोपियों को सोमवार शाम सौदापुर अड्डे से पकड़ा गया। आरोपियों की पहचान सफीदों के टोंडी खेड़ी निवासी सुशील पुत्र चतर सिंह और कुलदीप उर्फ काकू पुत्र राजेश के रूप में हुई। प्रारंभिक पूछताछ में पता चला कि आरोपियों ने रेकी कर वारदात को अंजाम दिया था। लूट के बाद थोड़ी दूर सेक्टर-25 में पहुंचने पर सामने से आ रही पुलिस की गाड़ी को देखकर रुपये से भरे थैले को सड़क पर छोड़कर फरार हो गए थे। पूछताछ में खुलासा हुआ कि तीनों आरोपी लूटपाट के इरादे से ही सफीदों से पानीपत आए थे। उन्होंने प्लान बनाया था कि एक साथी बैंक के अंदर जाएगा और दो बाहर बाइक पर रहेंगे। अंदर वाला साथी बैंक से रुपये निकलवाने वाले शख्स पर नजर रखेगा। जैसे ही अंदर से इनपुट मिलेगा वह सचेत हो जाएंगे। रिमांड के दौरान आरोपियों ने बताया कि इससे पहले वह दो बैंकों में जाकर कोशिश कर चुके थे, लेकिन बड़ी मछली हाथ नहीं लगी। इसके बाद आईसीआईसीआई बैंक आए।

सीआईए-2 प्रभारी वीरेंद्र ने बताया कि सुशील और कुलदीप का तीसरा साथी फरार है, जिसकी धरपकड़ में टीम जुटी है। दोनों आरोपियों से खुलासा हुआ कि तीसरा साथी पहले पानीपत में पीओपी का काम करके जा चुका है। उसने ही पूरी योजना तैयार की। तीसरे साथी का आपराधिक रिकॉर्ड भी सामने आया है, जिसे निकलवाया जा रहा है।

.


पार्षद समेत चार मकानों को निशाना बनाकर चोरी किए लाखों की नकदी व सोने- चांदी के जेवर

गर्भवती महिला ने जहरीला पदार्थ निगलकर दी जान