in

बर्थडे पार्टी में केक काटते समय पढ़ा धार्मिक ग्रंथ, धर्मांतरण के शक में दो लोगों को पीटा


ख़बर सुनें

साढौरा। गांव ठसका में जन्मदिन पार्टी के दौरान कुछ लोगों ने धर्म परिवर्तन कराने का आरोप लगाते हुए हंगामा कर दिया। आरोप है कि जब पादरी ने लोगों को समझाना चाहा तो उन्होंने मारपीट की। बताया जा रहा है कि इस दौरान कुछ लोगों ने पथराव भी किया। मामले में साढौरा थाना पुलिस ने पादरी की शिकायत पर अज्ञात लोगों के खिलाफ मारपीट और अन्य धाराओं में केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। साथ ही शांति व्यवस्था के लिए कमेटी का गठन किया गया है।
पुलिस को दिए बयानों में नारायणगढ़ निवासी सतीश ने बताया कि वह शिव कॉलोनी स्थित डीलिवर्स चर्च के पादरी हैं। सोमवार रात को वह अपने साथी सुनील के साथ ठसका निवासी रणजीत की बेटी की बर्थ-डे पार्टी में गए थे। केक काटने की रस्म के दौरान ही कुछ लोगों ने धर्मांतरण करवाने का आरोप लगाते हुए उनसे और साथी सुनील से मारपीट शुरू कर दी। आरोपी उन्हें घसीटते हुए गली में ले गए और वहां मारपीट करते हुए उनके कपड़े फाड़ दिए। इस दौरान आरोपियों ने उन पर पथराव किया। साथ ही दुबारा गांव में आने पर जान से मारने की धमकी दी गई। पादरी सतीश कुमार ने बताया कि मारपीट के दौरान हमलावरों ने उनसे धार्मिक ग्रंथ भी छीना।
पहले भी हो चुके धर्मांतरण पर विवाद
जिले में पहले भी धर्मांतरण को लेकर कई बार विवाद हो चुके हैं। कुछ माह पहले गांधीनगर थाना क्षेत्र की बैंक कालोनी, मायापुरी कॉलोनी, छप्पर थाना क्षेत्र के गांव में भी हिंदू संगठनों ने धर्मांतरण को लेकर हंगामा किया था। गांधी नगर थाना के पास विवाद बढ़ने पर रोड तक जाम किया गया था। इसके अलावा फर्कपुर थाना क्षेत्र की कॉलोनी में भी एक मकान में प्रार्थना को लेकर काफी दिनों तक हंगामा चलता रहा। मामले को लेकर विधायक घनश्याम दास अरोड़ा विधानसभा में भी मुद्दा उठा चुके हैं।
पादरी सतीश की शिकायत पर अज्ञात लोगों के विरुद्ध मारपीट की विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज कर लिया गया है। मंगलवार सुबह पुलिस जांच के लिए गांव ठसका गई थी। वहां दोनों पक्षों पर आधारित शांति कमेटी का गठन किया गया है। फिलहाल गांव में कोई तनाव नहीं है।
– धर्मपाल, एसएचओ, थाना साढौरा।

साढौरा। गांव ठसका में जन्मदिन पार्टी के दौरान कुछ लोगों ने धर्म परिवर्तन कराने का आरोप लगाते हुए हंगामा कर दिया। आरोप है कि जब पादरी ने लोगों को समझाना चाहा तो उन्होंने मारपीट की। बताया जा रहा है कि इस दौरान कुछ लोगों ने पथराव भी किया। मामले में साढौरा थाना पुलिस ने पादरी की शिकायत पर अज्ञात लोगों के खिलाफ मारपीट और अन्य धाराओं में केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। साथ ही शांति व्यवस्था के लिए कमेटी का गठन किया गया है।

पुलिस को दिए बयानों में नारायणगढ़ निवासी सतीश ने बताया कि वह शिव कॉलोनी स्थित डीलिवर्स चर्च के पादरी हैं। सोमवार रात को वह अपने साथी सुनील के साथ ठसका निवासी रणजीत की बेटी की बर्थ-डे पार्टी में गए थे। केक काटने की रस्म के दौरान ही कुछ लोगों ने धर्मांतरण करवाने का आरोप लगाते हुए उनसे और साथी सुनील से मारपीट शुरू कर दी। आरोपी उन्हें घसीटते हुए गली में ले गए और वहां मारपीट करते हुए उनके कपड़े फाड़ दिए। इस दौरान आरोपियों ने उन पर पथराव किया। साथ ही दुबारा गांव में आने पर जान से मारने की धमकी दी गई। पादरी सतीश कुमार ने बताया कि मारपीट के दौरान हमलावरों ने उनसे धार्मिक ग्रंथ भी छीना।

पहले भी हो चुके धर्मांतरण पर विवाद

जिले में पहले भी धर्मांतरण को लेकर कई बार विवाद हो चुके हैं। कुछ माह पहले गांधीनगर थाना क्षेत्र की बैंक कालोनी, मायापुरी कॉलोनी, छप्पर थाना क्षेत्र के गांव में भी हिंदू संगठनों ने धर्मांतरण को लेकर हंगामा किया था। गांधी नगर थाना के पास विवाद बढ़ने पर रोड तक जाम किया गया था। इसके अलावा फर्कपुर थाना क्षेत्र की कॉलोनी में भी एक मकान में प्रार्थना को लेकर काफी दिनों तक हंगामा चलता रहा। मामले को लेकर विधायक घनश्याम दास अरोड़ा विधानसभा में भी मुद्दा उठा चुके हैं।

पादरी सतीश की शिकायत पर अज्ञात लोगों के विरुद्ध मारपीट की विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज कर लिया गया है। मंगलवार सुबह पुलिस जांच के लिए गांव ठसका गई थी। वहां दोनों पक्षों पर आधारित शांति कमेटी का गठन किया गया है। फिलहाल गांव में कोई तनाव नहीं है।

– धर्मपाल, एसएचओ, थाना साढौरा।

.


किशोरी से दुष्कर्म करने का आरोपी मामा गिरफ्तार, भेजा जेल

आज से बारिश का हाई अलर्ट, अधूरी तैयारियों से तरबतर हो सकता है शहर