in

बदलते मौसम ने बिगाड़ी सेहत


ख़बर सुनें

अंबाला सिटी। बदलते मौसम के साथ मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। साथ ही अस्पतालों में ओपीडी में भी इजाफा हुआ है। हालात यह हैं कि पहले जो डॉक्टर करीब 150 ओपीडी देखता था, वह बढ़कर 250 तक पहुंच गई है। डॉक्टर अतिरिक्त समय बैठकर मरीजों का उपचार कर रहे हैं।
वहीं, सरकारी से लेकर निजी अस्पताल में मरीजों की तादाद एकाएक बढ़ गई है। इनमें मुख्य रूप से खांसी, जुकाम और बुखार के मरीज शामिल हैं। दूसरी ओर, अस्थमा की बीमारी से जूझ रहे मरीजों के लिए परेशानी और बढ़ गई है। मरीजों को फेफड़ों में नमी होने के कारण सांस लेने में परेशानी हो रही है। ऐसे में तबीयत खराब होने पर मरीज अस्पतालों की ओर रुख कर रहे हैं। वहीं, मरीजों को मुख्य रूप से ठंडा पानी और कोल्डड्रिंक इत्यादि न पीने की सलाह दी जा रही है, ताकि खांसी, जुकाम जैसी बीमारियों से बचा जा सके।
दूसरी ओर, जिनको दो से तीन दिन से बुखार है, ऐसे मरीजों को डॉक्टर कोरोना का टेस्ट कराने की सलाह दे रहे हैं। डॉक्टरों के अनुसार, ऐसे बहुत से मरीजों में कोरोना टेस्ट करवाने पर संक्रमण की पुष्टि हो रही है। साथ ही, खानपान से परहेज के अलावा मरीजों को कोरोना के नियमों का पालन करने की सलाह दी जा रही है, ताकि कोरोना के फैलाव से बचा जा सके।
यह रखें परहेज
ठंडे पानी का सेवन करने से बचें।
ठंडे पेय पदार्थ का सेवन न करें।
खट्टी चीजों से परहेज करें।
बारिश में भीगने से बचें।
बीमार होने पर यह करें उपाय
डॉक्टर से संपर्क करें।
हल्का भोजन करें।
भाप लें और गरारे करें।
डॉक्टर से मिलने में लगा समय
तबीयत खराब हो गई थी इसलिए अस्पताल आए हैं। पहले पर्ची वाली लाइन में काफी देर खड़े रहे, फिर डॉक्टर से मिलने में समय लग गया। मरीजों की संख्या बहुत अधिक है।
– श्री राम, मरीज।
बारी का कर रहे इंतजार
डॉक्टर से मिलने के लिए मरीजों की भीड़ लगी हुई है। काफी समय से यहां पर बैठे हैं, परंतु बारी नहीं आई है। अपनी बारी का इंतजार कर रहे हैं। देखते हैं कब तक बारी आती है।
– जगदीश मंडल, मरीज।
बिना जांच कराए लौट गई
ऐसे मौसम में स्किन से जुड़ी बीमारी हो जाती है इसलिए डॉक्टर को दिखाने आई थी। थोड़ी सी लेट हो गई थी तो पर्ची नहीं बनी। अब बिना जांच करवाए वापस जाना पड़ रहा है।
– ममता, मरीज।
पहले के मुकाबले मरीजों की संख्या ज्यादा है। मौसम बदल रहा है तो ऐसे में लोग परहेज नहीं करते, इस कारण उनकी तबीयत बिगड़ रही है। सभी को ठंडे पानी के स्थान पर सामान्य पानी पीने की सलाह दे रहे हैं। वहीं, कोरोना भी बढ़ रहा है, ऐसे में नियमों का पालन करने के लिए कह रहे हैं।
-डॉक्टर हर्ष, सिविल अस्पताल, अंबाला सिटी।

अंबाला सिटी। बदलते मौसम के साथ मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। साथ ही अस्पतालों में ओपीडी में भी इजाफा हुआ है। हालात यह हैं कि पहले जो डॉक्टर करीब 150 ओपीडी देखता था, वह बढ़कर 250 तक पहुंच गई है। डॉक्टर अतिरिक्त समय बैठकर मरीजों का उपचार कर रहे हैं।

वहीं, सरकारी से लेकर निजी अस्पताल में मरीजों की तादाद एकाएक बढ़ गई है। इनमें मुख्य रूप से खांसी, जुकाम और बुखार के मरीज शामिल हैं। दूसरी ओर, अस्थमा की बीमारी से जूझ रहे मरीजों के लिए परेशानी और बढ़ गई है। मरीजों को फेफड़ों में नमी होने के कारण सांस लेने में परेशानी हो रही है। ऐसे में तबीयत खराब होने पर मरीज अस्पतालों की ओर रुख कर रहे हैं। वहीं, मरीजों को मुख्य रूप से ठंडा पानी और कोल्डड्रिंक इत्यादि न पीने की सलाह दी जा रही है, ताकि खांसी, जुकाम जैसी बीमारियों से बचा जा सके।

दूसरी ओर, जिनको दो से तीन दिन से बुखार है, ऐसे मरीजों को डॉक्टर कोरोना का टेस्ट कराने की सलाह दे रहे हैं। डॉक्टरों के अनुसार, ऐसे बहुत से मरीजों में कोरोना टेस्ट करवाने पर संक्रमण की पुष्टि हो रही है। साथ ही, खानपान से परहेज के अलावा मरीजों को कोरोना के नियमों का पालन करने की सलाह दी जा रही है, ताकि कोरोना के फैलाव से बचा जा सके।

यह रखें परहेज

ठंडे पानी का सेवन करने से बचें।

ठंडे पेय पदार्थ का सेवन न करें।

खट्टी चीजों से परहेज करें।

बारिश में भीगने से बचें।

बीमार होने पर यह करें उपाय

डॉक्टर से संपर्क करें।

हल्का भोजन करें।

भाप लें और गरारे करें।

डॉक्टर से मिलने में लगा समय

तबीयत खराब हो गई थी इसलिए अस्पताल आए हैं। पहले पर्ची वाली लाइन में काफी देर खड़े रहे, फिर डॉक्टर से मिलने में समय लग गया। मरीजों की संख्या बहुत अधिक है।

– श्री राम, मरीज।

बारी का कर रहे इंतजार

डॉक्टर से मिलने के लिए मरीजों की भीड़ लगी हुई है। काफी समय से यहां पर बैठे हैं, परंतु बारी नहीं आई है। अपनी बारी का इंतजार कर रहे हैं। देखते हैं कब तक बारी आती है।

– जगदीश मंडल, मरीज।

बिना जांच कराए लौट गई

ऐसे मौसम में स्किन से जुड़ी बीमारी हो जाती है इसलिए डॉक्टर को दिखाने आई थी। थोड़ी सी लेट हो गई थी तो पर्ची नहीं बनी। अब बिना जांच करवाए वापस जाना पड़ रहा है।

– ममता, मरीज।

पहले के मुकाबले मरीजों की संख्या ज्यादा है। मौसम बदल रहा है तो ऐसे में लोग परहेज नहीं करते, इस कारण उनकी तबीयत बिगड़ रही है। सभी को ठंडे पानी के स्थान पर सामान्य पानी पीने की सलाह दे रहे हैं। वहीं, कोरोना भी बढ़ रहा है, ऐसे में नियमों का पालन करने के लिए कह रहे हैं।

-डॉक्टर हर्ष, सिविल अस्पताल, अंबाला सिटी।

.


Sonipat: कांग्रेस विधायक सुरेंद्र पंवार को मिली जान से मारने की धमकी , दुबई के नंबर से आया कॉल, बढ़ी सुरक्षाSonipat: कांग्रेस विधायक सुरेंद्र पंवार को मिली जान से मारने की धमकी, दुबई के नंबर से आया कॉल, बढ़ी सुरक्षा

सुधार के लिए कदम उठाएं : सिविल सर्जन