बड़ा खुलासा: लॉरेंस ने कबूला- कब मिली थी मूसेवाला की हत्या की खबर, किसने किया कत्ल यह भी बताया


नई दिल्ली की तिहाड़ जेल को भारत की सबसे सुरक्षित जेल का दर्जा प्राप्त है लेकिन कुख्यात गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई को इस जेल में भी मोबाइल फोन जैसी सुविधा आसानी से उपलब्ध थी। इसी के सहारे उसने करीब दो माह तक तिहाड़ से ही गैंगस्टर गोल्डी बराड़ से बातचीत की और पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला की हत्या की साजिश रची। वहीं लॉरेंस से पूछताछ के आधार पर पंजाब पुलिस ने बिहार से एक गैंगस्टर मोहम्मद राजा हुसैन को भी गिरफ्तार किया है। लॉरेंस ने बताया कि उसके गैंग ने मोहाली में विक्की मिड्डूखेड़ा की हत्या का बदला लेने के लिए  सिद्धू मूसेवाला की हत्या की है। मगर उसने इस हत्याकांड में सीधे तौर पर अपना हाथ होने से फिर इनकार किया है।

पंजाब पुलिस की पूछताछ में लॉरेंस बिश्नोई ने तिहाड़ जेल में अपने पास मोबाइल होने और वहां से गोल्डी बराड़ से बात करने के सवालों पर नकारात्मक जवाब दिया है लेकिन इस मामले में जब दिल्ली पुलिस ने तिहाड़ में ही बंद गैंगस्टर जग्गू भगवानपुरिया से पूछताछ की थी तो उसने बताया था कि लॉरेंस मोबाइल पर गोल्डी बराड़ से बातें करता था और दोनों के बीच करीब दो माह तक बातचीत चली।

इस बीच पंजाब पुलिस ने लॉरेंस बिश्नोई से पूछताछ के आधार पर सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड में एक और गिरफ्तारी की है। पुलिस ने बिहार के गोपालगंज इलाके से मोहम्मद राजा हुसैन नामक एक गैंगस्टर को गिरफ्तार किया है। जानकारी के अनुसार लॉरेंस बिश्नोई ने पूछताछ के दौरान इस गैंगस्टर के नाम का खुलासा किया था। इसके बाद पंजाब पुलिस ने उसे बिहार के गोपालगंज से काबू कर लिया। 

मोहम्मद राजा हुसैन को लॉरेंस और गोल्डी बराड़ का साथी बताया जाता है। उसे पंजाब लाया जा रहा है। इस तरह मूसेवाला हत्याकांड में अब तक पंजाब पुलिस ने 11 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। पूछताछ में लॉरेंस ने सिद्धू मूसेवाला की हत्या के कारणों संबंधी सवालों के जवाब में पुलिस को बताया है कि मूसेवाला की हत्या पैसे के लिए नहीं की गई और न ही मूसेवाला से प्रोटेक्शन मनी ही मांगी गई थी। 

लॉरेंस ने दोहराया कि उसके गैंग ने मोहाली में विक्की मिड्डूखेड़ा की हत्या का बदला लेने के लिए मूसेवाला की हत्या की है। मिड्डूखेड़ा लॉरेंस का कॉलेज का दोस्त था। लॉरेंस ने यह भी खुलासा किया है कि मूसेवाला की हत्या के लिए कोई तारीख तय नहीं की गई थी और उसे (लॉरेंस) भी मूसेवाला की हत्या के बाद ही पता चला कि वारदात हो चुकी है। लॉरेंस ने मूसेवाला की हत्या में सीधे तौर पर अपना हाथ होने से फिर इनकार किया है।

.


What do you think?

Written by Haryanacircle

डंपर का टायर बदल रहे चालक को कैंटर ने मारी टक्कर, मौत

कारोबार की रंजिश में करवाया था मेडिकल स्टोर संचालक पर जानलेवा हमला, तीन काबू