in

बच्चों ने खोली गैस, चाय बनाने समय पति-पत्नी झुलसे


ख़बर सुनें

पानीपत। विजय नगर में बच्चों की शैतानी की वजह से माता-पिता बुरी तरह झुलस गए। बच्चों ने खेल-खेल में गैस खोल दी। गैस रिसाव के कारण माचिस जलाते ही हादसा हो गया। गनीमत रही रही कि बच्चे बच गए। दंपती इलाज कराने के लिए तुरंत सामान्य अस्पताल पहुंचे, जहां पर डॉक्टर ने पति को दाखिल कर लिया, जबकि पत्नी को प्राथमिक उपचार के बाद छुट्टी दे दी।
विजय नगर निवासी रवि ने बताया कि मंगलवार सुबह उसे नौकरी पर जाना था लेकिन पत्नी के अचानक सिर दर्द होने की वजह से नाश्ता नहीं बना था। इसलिए वह खुद ही चाय बनाने के लिए रसोई में गया और उसने जैसे ही माचिस जलाई तो आग लग गई और वह झुलस गया। उसने शोर मचाया तो पत्नी दौड़ते हुए रसोई में आई। वह आग बुझाने लगी तो उसके भी हाथ झुलस गए। किसी तरह आग को बुझाया और उसके बाद वह अस्पताल इलाज कराने पहुंचे। रवि ने बताया कि घर में बच्चे छोटे है। उन्होंने अज्ञात के कारण खेल-खेल में गैस खोल दी, जिस वजह उपरोक्त हादसा हो गया।
खाना बनाते वक्त 60 प्रतिशत तक झुलसे दो भाई
मूलरूप से यूपी के मलिकपुर निवासी संजय ने बताया कि वह अपने भाई राजू के साथ पिछले कई साल से बापौली क्षेत्र में रहते है। वो हनुमान भट्ठे पर काम करते है। वह काम से घर लौटे और नहाने के बाद रसोई में खाना बनाने की तैयारी करने लगे। भाई राजू पास बैठकर सब्जी काट रहा था और वह अन्य तैयारी में लगा था। सभी तैयारी पूरी होने के बाद उसने जैसे ही माचिश जलाई तो पूरे कमरे में आग लग गई। वह दोनों भाई बुरी तरह झुलस गए। किसी तरह दौड़कर कमरे से बाहर निकले और बचाव के लिए आवाज लगाई। स्थानीय लोगों ने उसे सामान्य अस्पताल पहुंचाया। जहां पर दोनों भाइयों की हालत गंभीर देखते हुए उन्हें बर्न वार्ड में भर्ती किया गया और इलाज शुरू किया गया। मेडिकल रिपोर्ट की माने तो 60 प्रतिशत से अधिक झुलस चुके हैं।

पानीपत। विजय नगर में बच्चों की शैतानी की वजह से माता-पिता बुरी तरह झुलस गए। बच्चों ने खेल-खेल में गैस खोल दी। गैस रिसाव के कारण माचिस जलाते ही हादसा हो गया। गनीमत रही रही कि बच्चे बच गए। दंपती इलाज कराने के लिए तुरंत सामान्य अस्पताल पहुंचे, जहां पर डॉक्टर ने पति को दाखिल कर लिया, जबकि पत्नी को प्राथमिक उपचार के बाद छुट्टी दे दी।

विजय नगर निवासी रवि ने बताया कि मंगलवार सुबह उसे नौकरी पर जाना था लेकिन पत्नी के अचानक सिर दर्द होने की वजह से नाश्ता नहीं बना था। इसलिए वह खुद ही चाय बनाने के लिए रसोई में गया और उसने जैसे ही माचिस जलाई तो आग लग गई और वह झुलस गया। उसने शोर मचाया तो पत्नी दौड़ते हुए रसोई में आई। वह आग बुझाने लगी तो उसके भी हाथ झुलस गए। किसी तरह आग को बुझाया और उसके बाद वह अस्पताल इलाज कराने पहुंचे। रवि ने बताया कि घर में बच्चे छोटे है। उन्होंने अज्ञात के कारण खेल-खेल में गैस खोल दी, जिस वजह उपरोक्त हादसा हो गया।

खाना बनाते वक्त 60 प्रतिशत तक झुलसे दो भाई

मूलरूप से यूपी के मलिकपुर निवासी संजय ने बताया कि वह अपने भाई राजू के साथ पिछले कई साल से बापौली क्षेत्र में रहते है। वो हनुमान भट्ठे पर काम करते है। वह काम से घर लौटे और नहाने के बाद रसोई में खाना बनाने की तैयारी करने लगे। भाई राजू पास बैठकर सब्जी काट रहा था और वह अन्य तैयारी में लगा था। सभी तैयारी पूरी होने के बाद उसने जैसे ही माचिश जलाई तो पूरे कमरे में आग लग गई। वह दोनों भाई बुरी तरह झुलस गए। किसी तरह दौड़कर कमरे से बाहर निकले और बचाव के लिए आवाज लगाई। स्थानीय लोगों ने उसे सामान्य अस्पताल पहुंचाया। जहां पर दोनों भाइयों की हालत गंभीर देखते हुए उन्हें बर्न वार्ड में भर्ती किया गया और इलाज शुरू किया गया। मेडिकल रिपोर्ट की माने तो 60 प्रतिशत से अधिक झुलस चुके हैं।

.


आरपीएस कॉलेज के तीन विद्यार्थियों ने अंतर महाविद्यालय प्रतियोगिता में जीते तीन पुरस्कार

पार्षद समेत चार मकानों को निशाना बनाकर चोरी किए लाखों की नकदी व सोने- चांदी के जेवर