प्लाईवुड फैक्टरी में लगी भीषण आग, करोड़ों का सामान जलकर हुआ राख


ख़बर सुनें

यमुनानगर/रादौर। दामला में हाफिजपुर रोड स्थित श्रीराम स्टील इंडस्ट्री प्लाईवुड फैक्टरी में बुधवार तड़के अचानक आग लग गई। आग इतनी विकराल थी कि कुछ ही देर में फैक्टरी में चारों ओर फैल गई। चौकीदार ने आग लगने की सूचना फायर ब्रिगेड और पुलिस को दी गई। फायर ब्रिगेड की लगभग 10 गाड़ियां और लगभग 20 कर्मचारी आग बुझाने में जुटे। करीब 13 घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद शाम पांच बजे दमकल कर्मियों ने आग पर काबू पाया। आग लगने से फैक्टरी में रखी प्लाईवुड, मशीनें, दो ट्रैक्टर ट्रॉलियां व अन्य सामान जलकर राख हो गया। फैक्टरी मालिक के अनुसार उसका करीब आठ करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है। आग लगने के दौरान कोई जनहानि नहीं हुई है।
श्रीराम स्टील इंडस्ट्री प्लाईवुड फैक्टरी के मालिक अश्विनी कौशिक ने बताया कि बुधवार तड़के लगभग तीन बजे अज्ञात कारण के चलते फैक्टरी में अचानक आग लग गई। उनके चौकीदार ने इसकी सूचना उसे और दमकल विभाग को दी। सूचना मिलने पर लगभग सवा तीन बजे फायर ब्रिगेड की दो गाड़ियां मौके पर पहुंच गई, लेकिन आग का विकराल रूप देख कर्मियों ने और गाड़ियों और कर्मचारियों की मांग की। चार गाड़ियां और मौके पर पहुंची। जिसके बाद दमकल कर्मियों ने फैक्टरी के चारों तरफ से पानी की बौछार कर आग बुझाने का प्रयास किया। सूखी प्लाई व लकड़ी होने से आग बड़ी तेजी से फैल रही थी। एक के बाद एक करके मौके पर दस दमकल की गाड़ियां आग बुझाने में लग गई। फैक्टरी में लगी भीषण आग को बुझाने में फायर ब्रिगेड की टीम को पूरा दिन लग गया। आग लगने से फैक्टरी की मशीनें, तैयार प्लाई, कच्चा माल, दो ट्रैक्टर-ट्रालियां, फैक्टरी का शेड, बिल्डिंग, चैंबर, ड्रायर, पोपलर व सफेदे की लकड़ी, रॉ मैटारियल, तैयार प्लाईबोर्ड व अन्य सामान जल कर राख हो गया। इससे उसे करोड़ों रुपये का नुकसान हुआ है। जिस समय फैक्टरी में आग लगी उस समय फैक्टरी का यूनिट बंद होने से मजदूर फैक्टरी में नहीं थे। अन्यथा बड़ा हादसा हो सकता था।
आग लगने की सूचना मिलने पर भारतीय किसान यूनियन के जिला प्रधान सुभाष गुर्जर व अन्य पदाधिकारी फैक्टरी में पहुंचे। उन्होंने आग लगने की घटना पर चिंता जताई और दुख प्रकट किया। उन्होंने सरकार से फैक्टरी मालिक को उचित मुआवजा देने की मांग रखी।
इनसेट
अग्रवाल प्लाईवुड में भी लगी आग
दूसरी आग बुधवार सुबह सात बजे सहारनपुर रोड स्थित अग्रवाल प्लाईवुड फैक्टरी में लगी। आग लगने की सूचना फैक्टरी कर्मियों ने दमकल विभाग को दी। सूचना मिलने पर दमकल की दो गाड़ियां मौके पर पहुंची। दमकम कर्मचारियों ने करीब तीन घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पा लिया। आग लगने से फैक्टरी में रखा तैयार और कच्चा माल, फैक्टरी का शेड, लकड़ी व रॉ मैटारियल जल कर राख हो गया। जिससे फैक्टरी मालिक को लाखों रुपये का नुकसान हुआ।
वर्जन
सूचना मिलने ही दोनों स्थानों पर दमकल की गाड़ियां कर्मचारियों सहित पहुंच गई थी। दोनों स्थानों पर कर्मचारियों ने कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पा लिया है। बढ़ते तापमान में हमें सतर्क रहना चाहिए। बीड़ी सिगरेट पीने के बाद उसे अच्छी तरह बुझाकर फेंके। प्लाईवुड फैक्टरी मालिक भी सतर्क रहें।
-प्रमोद दुग्गल, दमकल अधिकारी

यमुनानगर/रादौर। दामला में हाफिजपुर रोड स्थित श्रीराम स्टील इंडस्ट्री प्लाईवुड फैक्टरी में बुधवार तड़के अचानक आग लग गई। आग इतनी विकराल थी कि कुछ ही देर में फैक्टरी में चारों ओर फैल गई। चौकीदार ने आग लगने की सूचना फायर ब्रिगेड और पुलिस को दी गई। फायर ब्रिगेड की लगभग 10 गाड़ियां और लगभग 20 कर्मचारी आग बुझाने में जुटे। करीब 13 घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद शाम पांच बजे दमकल कर्मियों ने आग पर काबू पाया। आग लगने से फैक्टरी में रखी प्लाईवुड, मशीनें, दो ट्रैक्टर ट्रॉलियां व अन्य सामान जलकर राख हो गया। फैक्टरी मालिक के अनुसार उसका करीब आठ करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है। आग लगने के दौरान कोई जनहानि नहीं हुई है।

श्रीराम स्टील इंडस्ट्री प्लाईवुड फैक्टरी के मालिक अश्विनी कौशिक ने बताया कि बुधवार तड़के लगभग तीन बजे अज्ञात कारण के चलते फैक्टरी में अचानक आग लग गई। उनके चौकीदार ने इसकी सूचना उसे और दमकल विभाग को दी। सूचना मिलने पर लगभग सवा तीन बजे फायर ब्रिगेड की दो गाड़ियां मौके पर पहुंच गई, लेकिन आग का विकराल रूप देख कर्मियों ने और गाड़ियों और कर्मचारियों की मांग की। चार गाड़ियां और मौके पर पहुंची। जिसके बाद दमकल कर्मियों ने फैक्टरी के चारों तरफ से पानी की बौछार कर आग बुझाने का प्रयास किया। सूखी प्लाई व लकड़ी होने से आग बड़ी तेजी से फैल रही थी। एक के बाद एक करके मौके पर दस दमकल की गाड़ियां आग बुझाने में लग गई। फैक्टरी में लगी भीषण आग को बुझाने में फायर ब्रिगेड की टीम को पूरा दिन लग गया। आग लगने से फैक्टरी की मशीनें, तैयार प्लाई, कच्चा माल, दो ट्रैक्टर-ट्रालियां, फैक्टरी का शेड, बिल्डिंग, चैंबर, ड्रायर, पोपलर व सफेदे की लकड़ी, रॉ मैटारियल, तैयार प्लाईबोर्ड व अन्य सामान जल कर राख हो गया। इससे उसे करोड़ों रुपये का नुकसान हुआ है। जिस समय फैक्टरी में आग लगी उस समय फैक्टरी का यूनिट बंद होने से मजदूर फैक्टरी में नहीं थे। अन्यथा बड़ा हादसा हो सकता था।

आग लगने की सूचना मिलने पर भारतीय किसान यूनियन के जिला प्रधान सुभाष गुर्जर व अन्य पदाधिकारी फैक्टरी में पहुंचे। उन्होंने आग लगने की घटना पर चिंता जताई और दुख प्रकट किया। उन्होंने सरकार से फैक्टरी मालिक को उचित मुआवजा देने की मांग रखी।

इनसेट

अग्रवाल प्लाईवुड में भी लगी आग

दूसरी आग बुधवार सुबह सात बजे सहारनपुर रोड स्थित अग्रवाल प्लाईवुड फैक्टरी में लगी। आग लगने की सूचना फैक्टरी कर्मियों ने दमकल विभाग को दी। सूचना मिलने पर दमकल की दो गाड़ियां मौके पर पहुंची। दमकम कर्मचारियों ने करीब तीन घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पा लिया। आग लगने से फैक्टरी में रखा तैयार और कच्चा माल, फैक्टरी का शेड, लकड़ी व रॉ मैटारियल जल कर राख हो गया। जिससे फैक्टरी मालिक को लाखों रुपये का नुकसान हुआ।

वर्जन

सूचना मिलने ही दोनों स्थानों पर दमकल की गाड़ियां कर्मचारियों सहित पहुंच गई थी। दोनों स्थानों पर कर्मचारियों ने कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पा लिया है। बढ़ते तापमान में हमें सतर्क रहना चाहिए। बीड़ी सिगरेट पीने के बाद उसे अच्छी तरह बुझाकर फेंके। प्लाईवुड फैक्टरी मालिक भी सतर्क रहें।

-प्रमोद दुग्गल, दमकल अधिकारी

.


What do you think?

Written by Haryanacircle

बचपन में माता-पिता का उठा साया, फिर भी प्राची ने नहीं मानी हार

अग्निपथ का विरोध: हरियाणा के कई जिलों में युवा सड़कों पर उतरे, कहा- सरकार योजना वापस ले, वरना आंदोलन करेंगे