in

प्रशासन ने 39 किसानों के खाते में डाला खराब हुई फसलों का मुआवजा


ख़बर सुनें

जुलाना। प्रशासन ने मौसम की मार से खराब हुई फसलों का मुआवजा देना शुरू कर दिया है। शनिवार को 39 किसानों के खाते में मुआवजा राशि डाल दी। जिसके बाद किसानों ने तहसील पर चल रहा अपना धरना एक महीने के लिए स्थगित कर दिया है। किसानों ने साफ कहा कि यदि बाकी किसानों की मुआवजा राशि जल्द खातों में नही आईं तो फिर से धरना शुरू कर दिया जाएगा।
धरने की अध्यक्षता करते हुए किसान नेता रणधीर मलिक ने कहा कि शनिवार को जुलाना हलके के 39 किसानों के खाते में प्रशासन ने मुआवजा राशि डाल दी है। इससे साफ है कि अब मुआवजा राशि डालने की प्रक्रिया शुरू हो गई है। तहसीलदार राकेश मलिक की तरफ से उन्हें आश्वासन मिला है कि अन्य किसानों के खातों में भी जल्द ही मुआवजा राशि डाल दी जाएगी। इसके अलावा डीएसपी धर्मबीर खर्ब ने किसानों के केस वापस करवाने में सहयोग की बात कही है। इस वजह से एक महीने तक अब किसान अपना धरना कार्यक्रम स्थगित कर रहे हैं। एक महीने में यदि किसानों पर दर्ज मुकदमे वापस नहीं हुए और सभी किसानों को मुआवजा राशि नहीं मिली तो फिर से धरना शुरू किया जाएगा। बताते चलें कि पिछले एक सप्ताह से तहसील गेट पर ताला लगाकर किसान धरना दे रहे थे। धीरे-धीरे धरना स्थल पर किसानों की संख्या बढने लग गई थी। पुलिस ने दस किसानों पर इस संबंध में मुकदमें दर्ज कर उन्हें जेल भेज दिया था। इसके बाद किसानों को जमानत भी मिल गई थी।

जुलाना। प्रशासन ने मौसम की मार से खराब हुई फसलों का मुआवजा देना शुरू कर दिया है। शनिवार को 39 किसानों के खाते में मुआवजा राशि डाल दी। जिसके बाद किसानों ने तहसील पर चल रहा अपना धरना एक महीने के लिए स्थगित कर दिया है। किसानों ने साफ कहा कि यदि बाकी किसानों की मुआवजा राशि जल्द खातों में नही आईं तो फिर से धरना शुरू कर दिया जाएगा।

धरने की अध्यक्षता करते हुए किसान नेता रणधीर मलिक ने कहा कि शनिवार को जुलाना हलके के 39 किसानों के खाते में प्रशासन ने मुआवजा राशि डाल दी है। इससे साफ है कि अब मुआवजा राशि डालने की प्रक्रिया शुरू हो गई है। तहसीलदार राकेश मलिक की तरफ से उन्हें आश्वासन मिला है कि अन्य किसानों के खातों में भी जल्द ही मुआवजा राशि डाल दी जाएगी। इसके अलावा डीएसपी धर्मबीर खर्ब ने किसानों के केस वापस करवाने में सहयोग की बात कही है। इस वजह से एक महीने तक अब किसान अपना धरना कार्यक्रम स्थगित कर रहे हैं। एक महीने में यदि किसानों पर दर्ज मुकदमे वापस नहीं हुए और सभी किसानों को मुआवजा राशि नहीं मिली तो फिर से धरना शुरू किया जाएगा। बताते चलें कि पिछले एक सप्ताह से तहसील गेट पर ताला लगाकर किसान धरना दे रहे थे। धीरे-धीरे धरना स्थल पर किसानों की संख्या बढने लग गई थी। पुलिस ने दस किसानों पर इस संबंध में मुकदमें दर्ज कर उन्हें जेल भेज दिया था। इसके बाद किसानों को जमानत भी मिल गई थी।

.


कनाडा से संगरूर जा रहे दंपति की सड़क किनारे खड़े ट्रक से टकराई कार, पत्नी की मौत पति व चालक घायल

कार की टक्कर से स्कूटी सवार बुजुर्ग की मौत