in

पुलिस साफ फुटेज न होने की बात कहती रही, महिला प्रोफेसर ने ढूंढकर दे दी नई फुटेज


ख़बर सुनें

एक तरफ जहां पुलिस साफ फुटेज न होने की बात कहती रही वहीं दूसरी तरफ एमडीयू की असिस्टेंट प्रोफेसर पूनम रेढ़ू ने दुकानदार की मदद से साफ फुटेज ढूंढकर पुलिस को उपलब्ध करवा दी। आर्य नगर थाना प्रभारी इंस्पेक्टर रोहताश सिंह का कहना है कि जल्द ही आरोपी महिला को पकड़ लिया जाएगा।
पुलिस के मुताबिक पूनम रेढ़ू ने दी शिकायत में बताया कि वह एमडीयू के गणित विभाग में असिस्टेंट प्रोफेसर है और मूलरूप से भिवानी के मिथाथल गांव की रहने वाली है। दो जुलाई को गांधी कैंप बाजार में खरीदारी करने गई थी। जब जूतों की दुकान से खरीदारी कर रही थी तो उसके पास एक 50 साल की महिला आकर बैठ गई। उसका ध्यान मोबाइल फोन पर था। 5 बजकर 30 मिनट पर महिला बैग के अंदर रखे छोटे बैग को निकाल कर ले गई। छोटे बैग में 20 हजार रुपये, पैन कार्ड, वोटर कार्ड, आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस व एमडीयू का कर्मचारी पहचान पत्र, लाइब्रेरी कार्ड व एटीएम कार्ड व अन्य महत्वपूर्ण कागजात थे। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच पड़ताल शुरू कर दी है।
कैमरे में साफ नहीं आया महिला का चेहरा
पुलिस ने दुकान के अंदर लगे सीसीटीवी कैमरे की जांच की। जांच में पता चला कि महिला सहायक प्रोफेसर के पास आकर बैठती है। दुकान के एक कर्मचारी को चप्पल दिखाने के लिए बोलती है। इसके बाद मौका पाकर प्राध्यापिका के पास रखे बैग के अंदर से छोटा बैग निकालकर ले जाती है। हालांकि फुटेज पूरी तरह से साफ नहीं है। महिला प्रोफेसर ने दुकानदार की मदद से प्रयास किया कि आरोपी महिला की साफ फुटेज मिल जाए। उसने बाजार के अंदर लगे दूसरे कैमरों की जांच की और मंगलवार को साफ फुटेज पुलिस को उपलब्ध करवाई।
पुलिस ने मामला दर्ज कर सीसीटीवी फुटेज के आधार पर आरोपी महिला की तलाश शुरू कर दी है। दुकान में लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज साफ नहीं थी। अब नई फुटेज मिली है। जल्द आरोपी को तलाश करके काबू किया जाएगा। -इंस्पेक्टर रोहताश सिंह, थाना प्रभारी आर्य नगर
पुलिस को दुकान से सीसीटीवी कैमरे की साफ फुटेज नहीं मिली थी। जब उसने पुलिस से कहा कि आरोपी महिला पकड़ी गई या नहीं। जवाब मिला कि फुटेज साफ नहीं है। इस कारण दिक्कत आ रही है। ऐसे में उसने दुकानदार की मदद से दुकान के बाहर लगे सीसीटीवी कैमरों की जांच करवाई। अब एक कैमरे में वह महिला गली से गुजरती दिखाई दे रही है, वह फुटेज पुलिस को उपलब्ध करवा दी है। -पूनम रेढू, असिस्टेंट प्रोफेसर, एमडीयू

एक तरफ जहां पुलिस साफ फुटेज न होने की बात कहती रही वहीं दूसरी तरफ एमडीयू की असिस्टेंट प्रोफेसर पूनम रेढ़ू ने दुकानदार की मदद से साफ फुटेज ढूंढकर पुलिस को उपलब्ध करवा दी। आर्य नगर थाना प्रभारी इंस्पेक्टर रोहताश सिंह का कहना है कि जल्द ही आरोपी महिला को पकड़ लिया जाएगा।

पुलिस के मुताबिक पूनम रेढ़ू ने दी शिकायत में बताया कि वह एमडीयू के गणित विभाग में असिस्टेंट प्रोफेसर है और मूलरूप से भिवानी के मिथाथल गांव की रहने वाली है। दो जुलाई को गांधी कैंप बाजार में खरीदारी करने गई थी। जब जूतों की दुकान से खरीदारी कर रही थी तो उसके पास एक 50 साल की महिला आकर बैठ गई। उसका ध्यान मोबाइल फोन पर था। 5 बजकर 30 मिनट पर महिला बैग के अंदर रखे छोटे बैग को निकाल कर ले गई। छोटे बैग में 20 हजार रुपये, पैन कार्ड, वोटर कार्ड, आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस व एमडीयू का कर्मचारी पहचान पत्र, लाइब्रेरी कार्ड व एटीएम कार्ड व अन्य महत्वपूर्ण कागजात थे। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच पड़ताल शुरू कर दी है।

कैमरे में साफ नहीं आया महिला का चेहरा

पुलिस ने दुकान के अंदर लगे सीसीटीवी कैमरे की जांच की। जांच में पता चला कि महिला सहायक प्रोफेसर के पास आकर बैठती है। दुकान के एक कर्मचारी को चप्पल दिखाने के लिए बोलती है। इसके बाद मौका पाकर प्राध्यापिका के पास रखे बैग के अंदर से छोटा बैग निकालकर ले जाती है। हालांकि फुटेज पूरी तरह से साफ नहीं है। महिला प्रोफेसर ने दुकानदार की मदद से प्रयास किया कि आरोपी महिला की साफ फुटेज मिल जाए। उसने बाजार के अंदर लगे दूसरे कैमरों की जांच की और मंगलवार को साफ फुटेज पुलिस को उपलब्ध करवाई।

पुलिस ने मामला दर्ज कर सीसीटीवी फुटेज के आधार पर आरोपी महिला की तलाश शुरू कर दी है। दुकान में लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज साफ नहीं थी। अब नई फुटेज मिली है। जल्द आरोपी को तलाश करके काबू किया जाएगा। -इंस्पेक्टर रोहताश सिंह, थाना प्रभारी आर्य नगर

पुलिस को दुकान से सीसीटीवी कैमरे की साफ फुटेज नहीं मिली थी। जब उसने पुलिस से कहा कि आरोपी महिला पकड़ी गई या नहीं। जवाब मिला कि फुटेज साफ नहीं है। इस कारण दिक्कत आ रही है। ऐसे में उसने दुकानदार की मदद से दुकान के बाहर लगे सीसीटीवी कैमरों की जांच करवाई। अब एक कैमरे में वह महिला गली से गुजरती दिखाई दे रही है, वह फुटेज पुलिस को उपलब्ध करवा दी है। -पूनम रेढू, असिस्टेंट प्रोफेसर, एमडीयू

.


मुंबई की सीमेंट कंपनी का फर्जी सेल्स मैनेजर बनकर की रोहतक के कारोबारी से 9 लाख 92 हजार की ठगी

क्वान की डो प्रतियोगिता के पहले दिन एमडीयू ने जीते पांच स्वर्ण व एक रजत पदक