in

पुलिस कर्मियों पर हमला, वर्दी फाड़ी


ख़बर सुनें

अंबाला। गांव उगाला में नशे में धुत्त व्यक्ति ने अपने साथियों संग मिलकर डायल-112 की टीम पर हमला कर दिया। आरोपियों ने टीम के सदस्यों की वर्दी फाड़ी और अभद्र व्यवहार किया। मारपीट के बाद मुलाजिमों ने नशे में धुत व्यक्ति सहित लक्ष्य को मौके पर दबोच लिया। सूचना के बाद बराड़ा पुलिस थाने से भारी पुलिस बल मौके पर पहुंचा। पुलिस ने ड्राइवर कुलदीप सिंह की शिकायत पर नरेश कुमार, लक्ष्य, आसु, प्रवीण कुमार व दिलबाग के खिलाफ सरकारी काम में बाधा डालने, ड्यूटी के दौरान गाली-गलौज, मारपीट और जान से मारने की धमकी देने की धाराओं के तहत केस दर्ज किया है।
दरअसल, डायल-112 की टीम को नशे में धुत नरेश की पत्नी रानी देवी ने फोन कर मारपीट करने की सूचना दी थी। टीम गाड़ी लेकर पहुंची तो नरेश ने गाड़ी के ड्राइवर ईसीएच कुलदीप सिंह के साथ अभद्र व्यवहार करते हुए मारपीट शुरू कर दी। आरोपी ईसीएच का कॉलर पकड़कर उन्हें गाड़ी से नीचे खींचने लगे।
कुलदीप सिंह ने शिकायत में बताया कि शिकायत मिलने के बाद उगाला गांव पहुंचे तो उन्हें शिकायतकर्ता रानी देवी मिली। अभी बात की शुरू की थी कि उसी समय उसका पति नरेश कुमार अपनी मोटरसाइकल लेकर आ गया। एसआई सुभाष चंद शिकायतकर्ता रानी देवी के साथ बातचीत कर रहे थे, इतने में नरेश कुमार मेरे पास आया। वह गालियां देते हुए वर्दी का कॉलर पकड़कर गाड़ी से बाहर खींचने लगा। उसी समय वह गाड़ी से नीचे उतरा तो नरेश कुमार ने वर्दी को पकड़ लिया और वह फट गई। तभी ऊंची-ऊंची आवाज में बोलने लगा कि इन पुलिस वालों को हमारे गांव में आने का मजा चखाएंगे। आवाज सुन कर नरेश के पड़ोसी मौके पर आ गए। मेरे, एसआई सुभाष चंद और एसपीओ राम सिह के साथ गाली-गलौज करते हुए मारपीट करने लगे।
14 दिन के लिए न्यायिक हिरासत में भेजा
कुलदीप सिंह ने बताया कि मारपीट के दौरान ही एसआई व एसपीओ ने बहादुरी के साथ नशे में धुत नरेश व उसके साथी लक्ष्य को धर दबोचा। अन्य हमलावर भागने में कामयाब हो गए। जांच अधिकारी एएसआई संदीप ने बताया कि दो आरोपियों को काबू कर 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा है। फरार आरोपियों की तलाश के लिए जगह-जगह छापामारी की जा रही है।

अंबाला। गांव उगाला में नशे में धुत्त व्यक्ति ने अपने साथियों संग मिलकर डायल-112 की टीम पर हमला कर दिया। आरोपियों ने टीम के सदस्यों की वर्दी फाड़ी और अभद्र व्यवहार किया। मारपीट के बाद मुलाजिमों ने नशे में धुत व्यक्ति सहित लक्ष्य को मौके पर दबोच लिया। सूचना के बाद बराड़ा पुलिस थाने से भारी पुलिस बल मौके पर पहुंचा। पुलिस ने ड्राइवर कुलदीप सिंह की शिकायत पर नरेश कुमार, लक्ष्य, आसु, प्रवीण कुमार व दिलबाग के खिलाफ सरकारी काम में बाधा डालने, ड्यूटी के दौरान गाली-गलौज, मारपीट और जान से मारने की धमकी देने की धाराओं के तहत केस दर्ज किया है।

दरअसल, डायल-112 की टीम को नशे में धुत नरेश की पत्नी रानी देवी ने फोन कर मारपीट करने की सूचना दी थी। टीम गाड़ी लेकर पहुंची तो नरेश ने गाड़ी के ड्राइवर ईसीएच कुलदीप सिंह के साथ अभद्र व्यवहार करते हुए मारपीट शुरू कर दी। आरोपी ईसीएच का कॉलर पकड़कर उन्हें गाड़ी से नीचे खींचने लगे।

कुलदीप सिंह ने शिकायत में बताया कि शिकायत मिलने के बाद उगाला गांव पहुंचे तो उन्हें शिकायतकर्ता रानी देवी मिली। अभी बात की शुरू की थी कि उसी समय उसका पति नरेश कुमार अपनी मोटरसाइकल लेकर आ गया। एसआई सुभाष चंद शिकायतकर्ता रानी देवी के साथ बातचीत कर रहे थे, इतने में नरेश कुमार मेरे पास आया। वह गालियां देते हुए वर्दी का कॉलर पकड़कर गाड़ी से बाहर खींचने लगा। उसी समय वह गाड़ी से नीचे उतरा तो नरेश कुमार ने वर्दी को पकड़ लिया और वह फट गई। तभी ऊंची-ऊंची आवाज में बोलने लगा कि इन पुलिस वालों को हमारे गांव में आने का मजा चखाएंगे। आवाज सुन कर नरेश के पड़ोसी मौके पर आ गए। मेरे, एसआई सुभाष चंद और एसपीओ राम सिह के साथ गाली-गलौज करते हुए मारपीट करने लगे।

14 दिन के लिए न्यायिक हिरासत में भेजा

कुलदीप सिंह ने बताया कि मारपीट के दौरान ही एसआई व एसपीओ ने बहादुरी के साथ नशे में धुत नरेश व उसके साथी लक्ष्य को धर दबोचा। अन्य हमलावर भागने में कामयाब हो गए। जांच अधिकारी एएसआई संदीप ने बताया कि दो आरोपियों को काबू कर 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा है। फरार आरोपियों की तलाश के लिए जगह-जगह छापामारी की जा रही है।

.


बैठक में भाग लेने आए नंबरदार की बाइक चोरी

धोखाधड़ी के आरोप में चार पर मामला दर्ज