in

पुलिसकर्मियों को धक्का देकर गाड़ी से कूदा लूट और डकैती का आरोपी, गांव धतीर के समीप चकमा देकर हिरासत से फरार


ख़बर सुनें

पलवल। नीमका जेल से प्रोडक्शन वारंट पर लाया गया लूट और डकैती का आरोपी गांव लिखी निवासी अजय बावरिया गदपुरी थाना पुलिस की हिरासत से फरार हो गया। पुलिस आरोपी को रिमांड पर लेकर निशानदेही के लिए गुरुग्राम लेकर गई थी। वापस लौटते समय आरोपी गांव धतीर के समीप पुलिसकर्मियों को धक्का देकर गाड़ी से कूद गया। पुलिस ने पीछा किया, लेकिन वह चकमा देकर फरार हो गया। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। करीब 48 घंटे बीत जाने के बाद भी पुलिस फरार आरोपी का सुराग नहीं लगा पाई है। लापरवाही के आरोप में एक सब इंस्पेक्टर सहित तीन पुलिसकर्मियों के खिलाफ विभागीय कार्रवाई की तैयारी की जा रही है। फरार आरोपी की तलाश के लिए पुलिस की तीन टीमों का गठन किया गया है।
डीएसपी मुख्यालय अनिल कुमार ने बताया कि हसनपुर थाना क्षेत्र के गांव लिखी निवासी अजय बावरिया ने गदपुरी पुलिस थाना क्षेत्र में पांच वारदात को अंजाम दिया है। हथियारों के बल पर लूट के आरोप में भी मुकदमा दर्ज है। आरोपी लोगों को बंधक बनाकर बिजली के ट्रांसफार्मरों को चोरी करता था। लूट के एक मामले में वह पिछले कुछ दिनों से नीमका जेल में बंद था। सब इंस्पेक्टर राजेश कुमार ने आरोपी अजय बावरिया को सोमवार यानी 23 मई को अदालत से प्रोडक्शन वारंट पर लेकर एक दिन की रिमांड पर लिया था। रिमांड के दौरान आरोपी ने बताया कि वह चोरी और लूट के सामान को गुरुग्राम में बेचता था। माल की बरामदगी और निशानदेही के लिए पुलिस आरोपी को गुरुग्राम ले गई। वापस लौटते समय धतीर-सिकंदरपुर गांव के रास्ते गदपुरी पुलिस थाना ले जाया जा रहा था। गाड़ी में आरोपी की सुरक्षा के लिए एक सब-इंस्पेक्टर, एक पुलिसकर्मी राजेंद्र और एक एसपीओ मौजूद था। रास्ते में बारिश का पानी पानी भरा होने और गड्ढे होने के कारण गाड़ी की रफ्तार कम थी। तभी पुलिसकर्मियों को धक्का देकर आरोपी गाड़ी से कूद गया।
आरोपी को निजी गाड़ी से ले गया था दारोगा
जांच अधिकारी महिपाल ने बताया कि आरोपी को सब इंस्पेक्टर राजेश कुमार अपनी निजी गाड़ी से गुरुग्राम ले गया और निजी गाड़ी से ही वापस लेकर आ रहा था। आरोपी गाड़ी की खिड़की खोलकर कूदा और फरार हो गया। गाड़ी में मौजूद पुलिसकर्मी तुरंत उतरे और आरोपी का पीछा किया, लेकिन धतीर गांव की गलियों में पुलिस को चकमा देकर फरार हो गया। काफी तलाश करने के बाद भी वह नहीं मिला। डीएसपी अनिल कुमार ने बताया कि मामले में आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। तलाश के लिए तीन टीमें गठित की हैं। लापरवाही बरतने वाले पुलिस कर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है।

पलवल। नीमका जेल से प्रोडक्शन वारंट पर लाया गया लूट और डकैती का आरोपी गांव लिखी निवासी अजय बावरिया गदपुरी थाना पुलिस की हिरासत से फरार हो गया। पुलिस आरोपी को रिमांड पर लेकर निशानदेही के लिए गुरुग्राम लेकर गई थी। वापस लौटते समय आरोपी गांव धतीर के समीप पुलिसकर्मियों को धक्का देकर गाड़ी से कूद गया। पुलिस ने पीछा किया, लेकिन वह चकमा देकर फरार हो गया। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। करीब 48 घंटे बीत जाने के बाद भी पुलिस फरार आरोपी का सुराग नहीं लगा पाई है। लापरवाही के आरोप में एक सब इंस्पेक्टर सहित तीन पुलिसकर्मियों के खिलाफ विभागीय कार्रवाई की तैयारी की जा रही है। फरार आरोपी की तलाश के लिए पुलिस की तीन टीमों का गठन किया गया है।

डीएसपी मुख्यालय अनिल कुमार ने बताया कि हसनपुर थाना क्षेत्र के गांव लिखी निवासी अजय बावरिया ने गदपुरी पुलिस थाना क्षेत्र में पांच वारदात को अंजाम दिया है। हथियारों के बल पर लूट के आरोप में भी मुकदमा दर्ज है। आरोपी लोगों को बंधक बनाकर बिजली के ट्रांसफार्मरों को चोरी करता था। लूट के एक मामले में वह पिछले कुछ दिनों से नीमका जेल में बंद था। सब इंस्पेक्टर राजेश कुमार ने आरोपी अजय बावरिया को सोमवार यानी 23 मई को अदालत से प्रोडक्शन वारंट पर लेकर एक दिन की रिमांड पर लिया था। रिमांड के दौरान आरोपी ने बताया कि वह चोरी और लूट के सामान को गुरुग्राम में बेचता था। माल की बरामदगी और निशानदेही के लिए पुलिस आरोपी को गुरुग्राम ले गई। वापस लौटते समय धतीर-सिकंदरपुर गांव के रास्ते गदपुरी पुलिस थाना ले जाया जा रहा था। गाड़ी में आरोपी की सुरक्षा के लिए एक सब-इंस्पेक्टर, एक पुलिसकर्मी राजेंद्र और एक एसपीओ मौजूद था। रास्ते में बारिश का पानी पानी भरा होने और गड्ढे होने के कारण गाड़ी की रफ्तार कम थी। तभी पुलिसकर्मियों को धक्का देकर आरोपी गाड़ी से कूद गया।

आरोपी को निजी गाड़ी से ले गया था दारोगा

जांच अधिकारी महिपाल ने बताया कि आरोपी को सब इंस्पेक्टर राजेश कुमार अपनी निजी गाड़ी से गुरुग्राम ले गया और निजी गाड़ी से ही वापस लेकर आ रहा था। आरोपी गाड़ी की खिड़की खोलकर कूदा और फरार हो गया। गाड़ी में मौजूद पुलिसकर्मी तुरंत उतरे और आरोपी का पीछा किया, लेकिन धतीर गांव की गलियों में पुलिस को चकमा देकर फरार हो गया। काफी तलाश करने के बाद भी वह नहीं मिला। डीएसपी अनिल कुमार ने बताया कि मामले में आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। तलाश के लिए तीन टीमें गठित की हैं। लापरवाही बरतने वाले पुलिस कर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है।

.


ब्रेन टीज़र: बैंक के प्रमुख के चयनकर्ता से लेकर चावल के सबसे बड़े निर्यातक तक, क्या आप IAS परीक्षा में पूछे गए इन GK प्रश्नों का उत्तर दे सकते हैं?

सरकार की वादाखिलाफी के विरोध में प्रदर्शन, आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने गुर्जर धर्मशाला से लघु सचिवालय तक निकाला जुलूस