पांच हजार लाइटों से जगमग होगा कपालमोचन मेला


कपालमोचन में स्थित पहली व दसवीं पातशाही गुरुद्वारा और ऋण मोचन सरोवर। फाइल फोटो।

कपालमोचन में स्थित पहली व दसवीं पातशाही गुरुद्वारा और ऋण मोचन सरोवर। फाइल फोटो।
– फोटो : Yamuna Nagar

ख़बर सुनें

यमुनानगर। जिले में चार नवंबर से अंतरराज्यीय कपालमोचन मेला शुरू हो रहा है। प्रशासन ने मेले के लिए तैयारी करनी शुरू कर दी है। मेला क्षेत्र में सफाई, लाइट, शौचालय जैसे कामों के लिए टेंडर लगा दिए गए हैं। प्रशासन के मुताबिक इस बार कपालमोचन मेला क्षेत्र 5050 लाइटों से जगमग होगा। इसमें से 350 हैलोजन (100 व 120 वाट की 200 एलईडी और 150 सामान्य लाइट) श्रीबद्रीनारायण, श्रीकेदारनाथ व श्रीमंत्रा देवी मंदिर व यहां तक पहुंचने के रास्ते पर लगाई जाएंगी।
जबकि मेला क्षेत्र में 200 फ्लैश लाइट और 9 व 18 वाट की एलईडी लाइट व 40 व 60 वाट बल्बों की संख्या करीब 4500 रहेगी। इसके अलावा मेले के दौरान श्रीकपालमोचन, श्रीआदिबद्री व श्रीमंत्रा देवी सहित श्राइन बोर्ड के सभी मंदिरों पर लड़ियों का प्रबंध रहेगा। इस काम का टेंडर लेने वाले ठेकेदार को दीवाली पर भी तीनों सरोवर लाइटों से रोशन करने होंगे।
क्षेत्र में 550 अस्थायी शौचालय बनेंगे, 74 सफाई कर्मी रहेंगे
मेले में 74 स्थायी व 550 अस्थायी शौचालयों की व्यवस्था रहेगी। कपालमोचन मेला क्षेत्र में 450 और श्री आदिबद्री में 50 अस्थायी शौचालय बनेंगे। मेला क्षेत्र में लगने वाले सभी पुलिस नाकों पर भी 50 अस्थायी शौचालय बनेंगे। श्रीकपालमोचन सरोवर के पास 18 स्थायी शौचालयों की सफाई के लिए हर समय तीन कर्मी उपलब्ध रहेंगे। इसी तरह सूरजकुंड परिसर के पास 14 स्थायी शौचालय पर दो कर्मी, राजकीय प्राथमिक पाठशाला अहड़वाला में बने 10 स्थायी शौचालयों पर दो कर्मी, राजकीय महाविद्यालय अहड़वाला में 20 शौचालयों पर दो कर्मी, सूचना प्रसारण केंद्र के दो शौचालयों पर एक कर्मी, मार्शल आर्ट म्यूजियम पर 20 शौचालयों पर दो कर्मी सफाई के लिए हर समय तैनात रहेंगे।
दिन रात 75 कर्मचारी रहेंगे तैनात
सफाई के टेंडर मुताबिक मेला क्षेत्र में ठेकेदार को दिन रात कम से कम 75 सफाई कर्मी तैनात करने होंगे। पांच-पांच सफाईकर्मी श्री आदिबद्री, श्री केदारनाथ व श्री मंत्रा देवी मंदिर पर सफाई के लिए नियुक्त रहेंगे। तीनों सरोवरों के महिला घाटों में बने चेंजिंग रूमों की सफाई के लिए हर सरोवर पर पांच-पांच महिला कर्मचारी तैनात रहेंगी। ठेकेदार को स्वयं अपने 15 सुपरवाइजर के साथ 24 घंटे मेला क्षेत्र में दूरभाष के साथ उपलब्ध रहना है। मेले से दो दिन पूर्व यानी दो नवंबर तक मेला क्षेत्र में सफाई का कार्य पूरा करना होगा।

यमुनानगर। जिले में चार नवंबर से अंतरराज्यीय कपालमोचन मेला शुरू हो रहा है। प्रशासन ने मेले के लिए तैयारी करनी शुरू कर दी है। मेला क्षेत्र में सफाई, लाइट, शौचालय जैसे कामों के लिए टेंडर लगा दिए गए हैं। प्रशासन के मुताबिक इस बार कपालमोचन मेला क्षेत्र 5050 लाइटों से जगमग होगा। इसमें से 350 हैलोजन (100 व 120 वाट की 200 एलईडी और 150 सामान्य लाइट) श्रीबद्रीनारायण, श्रीकेदारनाथ व श्रीमंत्रा देवी मंदिर व यहां तक पहुंचने के रास्ते पर लगाई जाएंगी।

जबकि मेला क्षेत्र में 200 फ्लैश लाइट और 9 व 18 वाट की एलईडी लाइट व 40 व 60 वाट बल्बों की संख्या करीब 4500 रहेगी। इसके अलावा मेले के दौरान श्रीकपालमोचन, श्रीआदिबद्री व श्रीमंत्रा देवी सहित श्राइन बोर्ड के सभी मंदिरों पर लड़ियों का प्रबंध रहेगा। इस काम का टेंडर लेने वाले ठेकेदार को दीवाली पर भी तीनों सरोवर लाइटों से रोशन करने होंगे।

क्षेत्र में 550 अस्थायी शौचालय बनेंगे, 74 सफाई कर्मी रहेंगे

मेले में 74 स्थायी व 550 अस्थायी शौचालयों की व्यवस्था रहेगी। कपालमोचन मेला क्षेत्र में 450 और श्री आदिबद्री में 50 अस्थायी शौचालय बनेंगे। मेला क्षेत्र में लगने वाले सभी पुलिस नाकों पर भी 50 अस्थायी शौचालय बनेंगे। श्रीकपालमोचन सरोवर के पास 18 स्थायी शौचालयों की सफाई के लिए हर समय तीन कर्मी उपलब्ध रहेंगे। इसी तरह सूरजकुंड परिसर के पास 14 स्थायी शौचालय पर दो कर्मी, राजकीय प्राथमिक पाठशाला अहड़वाला में बने 10 स्थायी शौचालयों पर दो कर्मी, राजकीय महाविद्यालय अहड़वाला में 20 शौचालयों पर दो कर्मी, सूचना प्रसारण केंद्र के दो शौचालयों पर एक कर्मी, मार्शल आर्ट म्यूजियम पर 20 शौचालयों पर दो कर्मी सफाई के लिए हर समय तैनात रहेंगे।

दिन रात 75 कर्मचारी रहेंगे तैनात

सफाई के टेंडर मुताबिक मेला क्षेत्र में ठेकेदार को दिन रात कम से कम 75 सफाई कर्मी तैनात करने होंगे। पांच-पांच सफाईकर्मी श्री आदिबद्री, श्री केदारनाथ व श्री मंत्रा देवी मंदिर पर सफाई के लिए नियुक्त रहेंगे। तीनों सरोवरों के महिला घाटों में बने चेंजिंग रूमों की सफाई के लिए हर सरोवर पर पांच-पांच महिला कर्मचारी तैनात रहेंगी। ठेकेदार को स्वयं अपने 15 सुपरवाइजर के साथ 24 घंटे मेला क्षेत्र में दूरभाष के साथ उपलब्ध रहना है। मेले से दो दिन पूर्व यानी दो नवंबर तक मेला क्षेत्र में सफाई का कार्य पूरा करना होगा।

.


What do you think?

Written by Haryanacircle

वो गाड़ी में बैठ खाते रहे मूंगफली और भाई की जिंदगी की भीख मांगता रहा पीड़ित

पेक में दीक्षांत समारोह 9 अक्तूबर को, राष्ट्रपति भेंट करेंगी डिग्रियां