पहले सिफारिशी भर्ती थी अब प्रतिभावान आ रहे : विज


ख़बर सुनें

कैथल। हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज ने कहा कि सूबे में अक्सर सरकारी योजनाओं में देरी से लागू किए जाने की बात सामने आती है। योजनाएं बन जाती हैं, टेंडर लग जाता है मगर काम में फिर भी देरी हो जाती है। अब इस बात का पता चला है कि विभागों में जो सिफारिशी स्टाफ है, उनकी वजह से ही योजनाओं के लागू होने में देरी होती है। उन्होंने छह सरकारें देखी हैं। छह सरकारों में वह विधायक रहे हैं। केवल इस समय की भाजपा सरकार ऐसी है, जिसमें नौकरियों में पर्ची व खर्ची नहीं चलती। अब इस सरकार में जो भर्ती हो रही हैं, उसमें प्रतिभावान लोग सामने आ रहे हैं।
हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज बार रूम में आयोजित कार्यक्रम में भाग लेने आए हुए थे। उन्होंने यहां निकाय चुनाव में प्रधान पद के लिए भाजपा प्रत्याशी सुरभि गर्ग के समर्थन में वोट की अपील भी की। उन्होंने कहा कि उन्हें सच बोलने की बीमारी है। पिछली सरकारों में भर्ती स्टाफ में कई सिफारिशी तो ऐसे हैं, जो फाइल पर ठीक से अपने साइन तक नहीं कर सकते। उनकी इस बात से किसी को दुख हो तो होता रहे। लेकिन वास्तविकता यही है और उन्हें भी सच बोलने की बीमारी है। उनके अनुसार भाजपा सरकार ने सिफारिश की रीत को बदला है।
विज ने कहा कि आज तबादलों को ऑनलाइन किया जा रहा है। पहले तबादलों की दुकानें चलतीं थीं। जो अब बंद कर दी गई हैं। सरकार पारदर्शी तरीके से इन सभी तरह के झमेलों से बचकर केवल और केवल विकास पर काम कर रही है। प्रदेश में सड़कों का जाल बिछ रहा है। डॉक्टरों की कमी पूरी करने के लिए 1252 डाक्टरों की भर्ती की जा रही है। यूपी में बुल्डोजर की राजनीति पर विज ने कहा कि अवैध निर्माण को नोटिस के बाद गिरवाया जा सकता है।
सुरजेवाला रिजेक्टेड आदमी
मीडिया से बातचीत में गृहमंत्री अनिल विज ने कहा कि कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला रिजेक्टेड आदमी हैं। उन्हें जींद से हराया गया। इसके बाद वे कैथल से हार गए। अब राजस्थान चले गए। यदि वे हरियाणा से राज्यसभा का चुनाव लड़ते तो न जाने कितने विधायकों के वोट खराब होते। अब तो एक ही वोट खराब हुआ है। विज ने व्यंग्य कसते हुए कहा कि सुरजेवाला डिप्रेशन में हैं इसीलिए वे निगेटिव बातें करते हैं।

कैथल। हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज ने कहा कि सूबे में अक्सर सरकारी योजनाओं में देरी से लागू किए जाने की बात सामने आती है। योजनाएं बन जाती हैं, टेंडर लग जाता है मगर काम में फिर भी देरी हो जाती है। अब इस बात का पता चला है कि विभागों में जो सिफारिशी स्टाफ है, उनकी वजह से ही योजनाओं के लागू होने में देरी होती है। उन्होंने छह सरकारें देखी हैं। छह सरकारों में वह विधायक रहे हैं। केवल इस समय की भाजपा सरकार ऐसी है, जिसमें नौकरियों में पर्ची व खर्ची नहीं चलती। अब इस सरकार में जो भर्ती हो रही हैं, उसमें प्रतिभावान लोग सामने आ रहे हैं।

हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज बार रूम में आयोजित कार्यक्रम में भाग लेने आए हुए थे। उन्होंने यहां निकाय चुनाव में प्रधान पद के लिए भाजपा प्रत्याशी सुरभि गर्ग के समर्थन में वोट की अपील भी की। उन्होंने कहा कि उन्हें सच बोलने की बीमारी है। पिछली सरकारों में भर्ती स्टाफ में कई सिफारिशी तो ऐसे हैं, जो फाइल पर ठीक से अपने साइन तक नहीं कर सकते। उनकी इस बात से किसी को दुख हो तो होता रहे। लेकिन वास्तविकता यही है और उन्हें भी सच बोलने की बीमारी है। उनके अनुसार भाजपा सरकार ने सिफारिश की रीत को बदला है।

विज ने कहा कि आज तबादलों को ऑनलाइन किया जा रहा है। पहले तबादलों की दुकानें चलतीं थीं। जो अब बंद कर दी गई हैं। सरकार पारदर्शी तरीके से इन सभी तरह के झमेलों से बचकर केवल और केवल विकास पर काम कर रही है। प्रदेश में सड़कों का जाल बिछ रहा है। डॉक्टरों की कमी पूरी करने के लिए 1252 डाक्टरों की भर्ती की जा रही है। यूपी में बुल्डोजर की राजनीति पर विज ने कहा कि अवैध निर्माण को नोटिस के बाद गिरवाया जा सकता है।

सुरजेवाला रिजेक्टेड आदमी

मीडिया से बातचीत में गृहमंत्री अनिल विज ने कहा कि कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला रिजेक्टेड आदमी हैं। उन्हें जींद से हराया गया। इसके बाद वे कैथल से हार गए। अब राजस्थान चले गए। यदि वे हरियाणा से राज्यसभा का चुनाव लड़ते तो न जाने कितने विधायकों के वोट खराब होते। अब तो एक ही वोट खराब हुआ है। विज ने व्यंग्य कसते हुए कहा कि सुरजेवाला डिप्रेशन में हैं इसीलिए वे निगेटिव बातें करते हैं।

.


What do you think?

Written by Haryanacircle

ट्रिपल इंजन सरकार की अहमियत बताई

नया शेड्यूल : खेतों को अब सात घंटे बिजली