in

पहलवान सतेंदर के मामले में UWW ने रेफरी जगबीर के फैसले को सही माना


नई दिल्ली. यूनाइटेड वर्ल्ड रेसलिंग (यूडब्ल्यूडब्ल्यू) ने  राष्ट्रमंडल खेलों के चयन ट्रायल में 125 क्रिग्रा वर्ग में भारतीय पहलवान सतेंदर मलिक के बाउट (मुकाबले) की समीक्षा करने के बाद कहा कि रेफरी जगबिर सिंह का प्रतिद्वंद्वी पहलवान मोहित को दो अंक देने का फैसला सही था. सतेंदर ने सोशल मीडिया पर इस मामले में भारतीय कुश्ती महासंघ (डब्ल्यूएफआई) पर पक्षपात करने का आरोप लगाया था. इसके बाद डब्ल्यूएफआई ने खेल की वैश्विक संस्था यूडब्ल्यूडब्ल्यू के रेफरी आयोग को इस विवादित बाउट का वीडियो भेज कर उनकी राय मांगी थी.

यूडब्ल्यूडब्ल्यू के रेफरी आयोग के सदस्य एंटोनियो सिलवेस्त्री और इब्राहिम सिसिओग्लू वीडियो की समीक्षा करने के बाद इस नतीजे पर पहुंचे कि इस बाउट में रेफरी ने अच्छा काम किया और सही पहलवान को विजेता घोषित किया. डब्ल्यूएफआई को यूडब्ल्यूडब्ल्यू से 29 मई को जबाब मिला है.इस मामले सतेंदर ने उनके खिलाफ फैसला देने के बाद रेफरी जगबीर को चांटा मार दिया था. इस घटना के बाद डब्ल्यूएफआई ने सतेंदर पर आजीवन प्रतिबंध लगा दिया था.

इसे भी देखें, मुक्केबाज लवलीना को मिली बड़ी जिम्मेदारी, AIBA खिलाड़ी समिति की अध्यक्ष बनीं

जगबीर ने कहा, ‘मुझे उसी दिन से पता था कि मेरा फैसला सही है. मैंने अपना पूरा जीवन कुश्ती देखने और बाउट का फैसला करने पर बिता दिया. मैं 32 साल से यह काम कर रहा हूं और 2007 से यूडब्ल्यूडब्ल्यू से मान्याता प्राप्त रेफरी हूं. मैंने 15 विश्व चैम्पियनयशिप में रेफरी की भूमिका निभाई है.’ डब्ल्यूएफआई ने अब मैट चेयरमैन संजय कुमार और जज जितेंदर मान को अपना काम सही से नहीं करने के आरोप में एक साल के लिए प्रतिबंधित कर दिया.

Tags: Commonwealth Games, Sports news, Wrestling

.


मोबाइल प्रीमियर लीग ने 100 कर्मचारियों की छंटनी की, इंडोनेशिया से बाहर निकला

सीतापुर में डैंबॉन्स की मृत्यु होने की स्थिति में, डॉस्क के तापमान में दर्ज