परीक्षा परिणाम की समीक्षा शुरू, विभाग ने मांगी रिपोर्ट


ख़बर सुनें

सिरसा। शिक्षा विभाग ने बोर्ड परीक्षा परिणाम पर समीक्षा शुरू कर दी है। अब कमजोर परिणाम देने वाले राजकीय विद्यालयों के शिक्षक नपेंगे और चार्जशीट के साथ-साथ कार्रवाई भी की जाएगी। विभाग ने सभी राजकीय विद्यालयों से परीक्षा परिणाम की समीक्षा रिपोर्ट तलब कर दी है। मंथन के बाद आगामी कार्रवाई की जाएगी।
हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड की ओर से 10वीं और 12वीं का परीक्षा परिणाम घोषित कर दिया गया है। हालांकि कई राजकीय स्कूलों के विद्यार्थियों ने बेहतरीन प्रदर्शन किया है, लेकिन कई विद्यालय ऐसे भी हैं जिसका परिणाम फिसड्डी रहा है। ऐसे में लापरवाही बरतने वाले स्कूल स्टाफ और शिक्षकों पर कार्रवाई की जानी है। शिक्षा विभाग ने सभी राजकीय विद्यालयों को पत्र भेज दिया है। इसमें कहा गया है कि विद्यालय 10वीं और 12वीं के विद्यार्थियों का परिणाम भेजें। इसमें पूछा गया है कि किस विद्यालय की किस कक्षा में कितने विद्यार्थी परीक्षा में बैठे। उनमें से कितने उत्तीर्ण हो गए, जबकि कितने विद्यार्थियों की कंपार्टमेंट आई है और कितने फेल हो गए। इतना ही नहीं विषय अनुसार भी परिणाम का ब्यौरा मांगा गया है।
जिले में 131 सीनियर सेकेंडरी, जबकि 62 हाई स्कूल
जिले भर में इस समय 131 राजकीय सीनियर सेकेंडरी स्कूल संचालित हैं, जिनमें 12वीं तक कक्षाएं लगाई जाती हैं। इसके अलावा 62 हाई स्कूल हैं जिनमें 10वीं तक की शिक्षा हासिल कर सकते हैं। इसलिए जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय ने इन सभी राजकीय विद्यालयों को पत्र भेजकर ब्योरा मांग लिया है। पत्र में निर्देश दिए हैं कि जल्द से जल्द रिपोर्ट भेजें। इसके बाद कार्यालय स्तर पर बोर्ड परीक्षा परिणाम की समीक्षा और मंथन किया जाएगा।
शिक्षकों पर यह हो सकती है कार्रवाई
बताया जा रहा है कि जिन शिक्षकों का परिणाम कमजोर रहा है। उन पर अलग-अलग तरह की कार्रवाई होगी। यदि किसी विद्यालय में किसी विषय का शिक्षक नहीं है और परीक्षा परिणाम कमजोर है तो विद्यालय स्टाफ पर अलग तरह की कार्रवाई होगी। यदि किसी विद्यालय में योग्य और समुचित शिक्षकों की संख्या होने के बावजूद परीक्षा परिणाम लचर रहा है तो उन शिक्षकों के खिलाफ पहले चरण में चार्जशीट की कार्रवाई होगी। शो-काज नोटिस भी जारी किया जाएगा और जरूरत पड़ी तो विभागीय कार्रवाई भी होगी।
रिपोर्ट मांगी है, ब्योरा आने के बाद करेंगे समीक्षा : संत कुमार बिश्नोई
10वीं और 12वीं का परीक्षा परिणाम आ चुका है। अब हम राजकीय विद्यालयों के परिणाम की समीक्षा करेंगे। इसके लिए रिपोर्ट मांग ली गई है। मंथन और समीक्षा के बाद आगामी कार्रवाई की जाएगी। – संत कुमार बिश्नोई, जिला शिक्षा अधिकारी, सिरसा।

सिरसा। शिक्षा विभाग ने बोर्ड परीक्षा परिणाम पर समीक्षा शुरू कर दी है। अब कमजोर परिणाम देने वाले राजकीय विद्यालयों के शिक्षक नपेंगे और चार्जशीट के साथ-साथ कार्रवाई भी की जाएगी। विभाग ने सभी राजकीय विद्यालयों से परीक्षा परिणाम की समीक्षा रिपोर्ट तलब कर दी है। मंथन के बाद आगामी कार्रवाई की जाएगी।

हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड की ओर से 10वीं और 12वीं का परीक्षा परिणाम घोषित कर दिया गया है। हालांकि कई राजकीय स्कूलों के विद्यार्थियों ने बेहतरीन प्रदर्शन किया है, लेकिन कई विद्यालय ऐसे भी हैं जिसका परिणाम फिसड्डी रहा है। ऐसे में लापरवाही बरतने वाले स्कूल स्टाफ और शिक्षकों पर कार्रवाई की जानी है। शिक्षा विभाग ने सभी राजकीय विद्यालयों को पत्र भेज दिया है। इसमें कहा गया है कि विद्यालय 10वीं और 12वीं के विद्यार्थियों का परिणाम भेजें। इसमें पूछा गया है कि किस विद्यालय की किस कक्षा में कितने विद्यार्थी परीक्षा में बैठे। उनमें से कितने उत्तीर्ण हो गए, जबकि कितने विद्यार्थियों की कंपार्टमेंट आई है और कितने फेल हो गए। इतना ही नहीं विषय अनुसार भी परिणाम का ब्यौरा मांगा गया है।

जिले में 131 सीनियर सेकेंडरी, जबकि 62 हाई स्कूल

जिले भर में इस समय 131 राजकीय सीनियर सेकेंडरी स्कूल संचालित हैं, जिनमें 12वीं तक कक्षाएं लगाई जाती हैं। इसके अलावा 62 हाई स्कूल हैं जिनमें 10वीं तक की शिक्षा हासिल कर सकते हैं। इसलिए जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय ने इन सभी राजकीय विद्यालयों को पत्र भेजकर ब्योरा मांग लिया है। पत्र में निर्देश दिए हैं कि जल्द से जल्द रिपोर्ट भेजें। इसके बाद कार्यालय स्तर पर बोर्ड परीक्षा परिणाम की समीक्षा और मंथन किया जाएगा।

शिक्षकों पर यह हो सकती है कार्रवाई

बताया जा रहा है कि जिन शिक्षकों का परिणाम कमजोर रहा है। उन पर अलग-अलग तरह की कार्रवाई होगी। यदि किसी विद्यालय में किसी विषय का शिक्षक नहीं है और परीक्षा परिणाम कमजोर है तो विद्यालय स्टाफ पर अलग तरह की कार्रवाई होगी। यदि किसी विद्यालय में योग्य और समुचित शिक्षकों की संख्या होने के बावजूद परीक्षा परिणाम लचर रहा है तो उन शिक्षकों के खिलाफ पहले चरण में चार्जशीट की कार्रवाई होगी। शो-काज नोटिस भी जारी किया जाएगा और जरूरत पड़ी तो विभागीय कार्रवाई भी होगी।

रिपोर्ट मांगी है, ब्योरा आने के बाद करेंगे समीक्षा : संत कुमार बिश्नोई

10वीं और 12वीं का परीक्षा परिणाम आ चुका है। अब हम राजकीय विद्यालयों के परिणाम की समीक्षा करेंगे। इसके लिए रिपोर्ट मांग ली गई है। मंथन और समीक्षा के बाद आगामी कार्रवाई की जाएगी। – संत कुमार बिश्नोई, जिला शिक्षा अधिकारी, सिरसा।

.


What do you think?

Written by Haryanacircle

घर से 1.70 लाख की नकदी व आभूषण चोरी

जातीय समीकरणों के बीच उलझा पालिका का किला, जीत के अपने-अपने दावे