पंचायत में दो पक्षों के बीच जमकर चली गंडासियां व रॉडे, आठ लोग घायल


ख़बर सुनें

छछरौली। कॉलेज जाते समय कुछ युवकों में बस में हुई कहासुनी के विवाद को निपटाने के लिए क्षेत्र के गांव कोट बसावा में पंचायत बुलाई गई। पंचायत में विवाद निपटने । भरी पंचायत में दोनों पक्षों के बीच जमकर गंडासियां, रॉड व डंडे चले। झगड़े में दोनों पक्षों के तीन-चार लोग घायल हो गए। दोनों पक्षों ने इसकी शिकायत पुलिस को दी। छछरौली थाना पुलिस ने दोनों पक्षों की शिकायतों पर कार्रवाई करते हुए दोनों पक्षों के 13 लोगों पर केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।
कोट बसावा निवासी मांगा राम ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि उनके यहां के युवक और गांव डारपुर के युवक एक साथ बस से कॉलेज में जाते हैं। चार दिन पहले बस में कॉलेज जाते हुए उनकी आपस में कहासुनी हो गई थी। इस बात का पता लगने पर गांव डारपुर के राहुल व उसके परिवार वालों से बातचीत कर यह विवाद सुलझाने के लिए गांव में बुलाया था। जहां दोनों पक्षों की पंचायत हुई। जिसमें राहुल की गलती निकली। उसने पंचायत से माफी मांगी। इसके बाद उसके पिता सुभाष चंद ने राहुल को दो थप्पड़ मार दिए थे।
इस पंचायत में कोट बसावा निवासी राजबीर, बंटी, भूपेंद्र सिंह, सूखा, काला और अवतार सिंह भी शामिल थे। पंचायत में दोनों पक्षों का गिला शिकवा दूर हो गया और दोनों पक्ष अपने घर चले गए। पंचायत के बाद शाम करीब साढ़े पांचे बजे वह आंबेडकर भवन के बाहर सड़क पर था। आरोप है कि तभी राजबीर, बंटी, भूपेंद्र, सूखा, काला व अवतार हाथों में डंडे लेकर आए और गालियां देने लगे। आरोपी अपने दोस्त राहुल की पंचायत में बेइज्जती करने पर बदला लेने की बात कहकर हाथों में डंडे, गंडासियां व रॉड लेकर आए। आते ही आरोपियों ने उनपर हमला कर दिया। इसमें वह, उसका बेटा सौरभ, अभिषेक व राजकुमार घायल हो गए। आसपास के लोगों ने उन्हें अस्पताल पहुंचाया। पुलिस ने मामले में सभी छह आरोपियों पर केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।
दूसरा पक्ष
उधर, कोट बसावा निवासी परमिद्र सिंह ने बताया कि आंबेडकर भवन में हुई पंचायत के दौरान राहुल ने अपनी गलती मान ली थी। उसके पिता ने भी उसे दो थप्पड़ मारे थे। लेकिन इसके बावजूद कोट बसावा निवासी प्रिंस ने राहुल के बाल पकड़ लिए। जब हमने उसे छुड़वाया तो प्रिंस, सुरजा राम, अभिषेक, शुभम, बबलू, मांगा राम व अंकित ने उनपर हमला बोल दिया। आरोपियों ने रॉड, बिंडे, गंडासी से हमला किया। जिसमें वह, उसके पिता राजबीर, सुखदेव सिंह, दलीप घायल हो गए। इसकी शिकायत पुलिस को दी गई। पुलिस ने सातों आरोपियों पर केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।
छछरौली थाना प्रभारी संदीप का कहना है कि कोट बसावा में हुए झगड़े में दो पक्षों की शिकायतें आई थी। दोनों मामलों में कार्रवाई करते हुए एक दूसरे के खिलाफ केस दर्ज कर लिए है। मामले की जांच कर रहे हैं।

छछरौली। कॉलेज जाते समय कुछ युवकों में बस में हुई कहासुनी के विवाद को निपटाने के लिए क्षेत्र के गांव कोट बसावा में पंचायत बुलाई गई। पंचायत में विवाद निपटने । भरी पंचायत में दोनों पक्षों के बीच जमकर गंडासियां, रॉड व डंडे चले। झगड़े में दोनों पक्षों के तीन-चार लोग घायल हो गए। दोनों पक्षों ने इसकी शिकायत पुलिस को दी। छछरौली थाना पुलिस ने दोनों पक्षों की शिकायतों पर कार्रवाई करते हुए दोनों पक्षों के 13 लोगों पर केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

कोट बसावा निवासी मांगा राम ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि उनके यहां के युवक और गांव डारपुर के युवक एक साथ बस से कॉलेज में जाते हैं। चार दिन पहले बस में कॉलेज जाते हुए उनकी आपस में कहासुनी हो गई थी। इस बात का पता लगने पर गांव डारपुर के राहुल व उसके परिवार वालों से बातचीत कर यह विवाद सुलझाने के लिए गांव में बुलाया था। जहां दोनों पक्षों की पंचायत हुई। जिसमें राहुल की गलती निकली। उसने पंचायत से माफी मांगी। इसके बाद उसके पिता सुभाष चंद ने राहुल को दो थप्पड़ मार दिए थे।

इस पंचायत में कोट बसावा निवासी राजबीर, बंटी, भूपेंद्र सिंह, सूखा, काला और अवतार सिंह भी शामिल थे। पंचायत में दोनों पक्षों का गिला शिकवा दूर हो गया और दोनों पक्ष अपने घर चले गए। पंचायत के बाद शाम करीब साढ़े पांचे बजे वह आंबेडकर भवन के बाहर सड़क पर था। आरोप है कि तभी राजबीर, बंटी, भूपेंद्र, सूखा, काला व अवतार हाथों में डंडे लेकर आए और गालियां देने लगे। आरोपी अपने दोस्त राहुल की पंचायत में बेइज्जती करने पर बदला लेने की बात कहकर हाथों में डंडे, गंडासियां व रॉड लेकर आए। आते ही आरोपियों ने उनपर हमला कर दिया। इसमें वह, उसका बेटा सौरभ, अभिषेक व राजकुमार घायल हो गए। आसपास के लोगों ने उन्हें अस्पताल पहुंचाया। पुलिस ने मामले में सभी छह आरोपियों पर केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

दूसरा पक्ष

उधर, कोट बसावा निवासी परमिद्र सिंह ने बताया कि आंबेडकर भवन में हुई पंचायत के दौरान राहुल ने अपनी गलती मान ली थी। उसके पिता ने भी उसे दो थप्पड़ मारे थे। लेकिन इसके बावजूद कोट बसावा निवासी प्रिंस ने राहुल के बाल पकड़ लिए। जब हमने उसे छुड़वाया तो प्रिंस, सुरजा राम, अभिषेक, शुभम, बबलू, मांगा राम व अंकित ने उनपर हमला बोल दिया। आरोपियों ने रॉड, बिंडे, गंडासी से हमला किया। जिसमें वह, उसके पिता राजबीर, सुखदेव सिंह, दलीप घायल हो गए। इसकी शिकायत पुलिस को दी गई। पुलिस ने सातों आरोपियों पर केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

छछरौली थाना प्रभारी संदीप का कहना है कि कोट बसावा में हुए झगड़े में दो पक्षों की शिकायतें आई थी। दोनों मामलों में कार्रवाई करते हुए एक दूसरे के खिलाफ केस दर्ज कर लिए है। मामले की जांच कर रहे हैं।

.


What do you think?

Written by Haryanacircle

हिसार : रास्ता जाम कर युवा बोले-अग्निपथ पर नहीं चलेंगे, सड़क पर उतरे 13 गांवों के नौजवान

अग्निवीरों को पुलिस की भर्ती में भी मिलेगी प्राथमिकता : मुख्यमंत्री