in

निरीक्षण में पाया, सुरक्षा नियमों की अनदेखी कर कराया जा रहा था श्रमिकों से काम


ख़बर सुनें

चार दिन पूर्व क्षेत्र के गांव खुर्शीदनगर में स्थित के2 पावर प्लांट में हुए हादसे के बाद लेबर इंस्पेक्टर राजकुमार के नेतृत्व में टीम ने पांच गांवों के मौजिज लोगों की मौजूदगी में बनाई कमेटी को साथ लेकर प्लांट का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान बिना परमिशन के चल रहे प्लांट में भारी खामियां देखने में आई। सामने आया कि के2 पावर प्लांट में जो कार्य श्रमिकों से करवाया जा रहा था वह सुरक्षा नियमों की अनदेखी करके करवाया जा रहा था।
निरीक्षण के दौरान यह भी सामने आया की प्लांट में कार्य शुरू करने से पहले शुरूआती ट्रेनिंग दी जानी थी वह नहीं दी गई। इसके साथ ही प्लांट में श्रमिकों की सुरक्षा के कोई भी उपकरण कर्मचारियों को उपलब्ध नहीं करवाए गए थे। न ही प्लांट में आग बुझाने से संबंधित कोई भी उचित उपकरण पाया गया। कुछ युवकों को काम करने के बाद भी वेतन नहीं मिला। वेतन मांगने पर बाहर का रास्ता दिखा दिया गया। इन लोगों ने लिखित शिकायत लेबर इंस्पेक्टर टीम को दी है। इसके अलावा मौके पर प्रबंधक की तरफ से कोई रिकॉर्ड भी नहीं मिला। न ही मौके पर मालिक मिला।
खामियों के कारण गई युवकों की जान
कमेटी के सदस्य सुरेंद्र पंच भड़ंगी व रामफल पूर्व सरपंच ने बताया कि प्लांट में लेबर इंस्पेक्टर के नेतृत्व में आई टीम ने निरीक्षण के दौरान प्लांट में जो खामी मिली और जिसके कारण युवकों की जान गई है उसकी रिपोर्ट हमने ले ली है। लेबर इंस्पेक्टर राजकुमार ने जो बताया है उसके हिसाब से यह हादसा प्लांट मालिक की लापरवाही से हुआ है और अब आगे की कार्रवाई की जाएगी। साथ ही कमेटी के सदस्यों ने यह भी कहा कि प्लांट मालिक के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है। अगर पुलिस ने जल्द प्लांट मालिक को गिरफ्तार नहीं किया और सरकार की तरफ से मृतकों के परिजनों को आर्थिक सहायता जल्द नहीं दी गई तो वह इलाके के लोगों को साथ लेकर सड़कों पर आने को बाध्य होंगे।
यह रहे कमेटी में शामिल
दस सदस्यों की बनाई कमेटी में रामफल पूर्व सरपंच मुमताज पुर, यशवंत शास्त्री बिसोहा, राजेंद्र मुमताज पुर, सुरेन्द्र पूर्व पंच भडंगी, अभेसिंह पूर्व सरपंच भडंगी, ईश्वर पूर्व सरपंच बव्वा, विनोद लिलोढ़, रामकिशन मुमताज पुर, राजेंद्र भडंगी शामिल रहे।
यह है मामला
गांव खुर्शीद नगर में के2 पावर प्लांट में लगे बॉयलर से निकली आग से झुलसे पांच लोगों में से चार युवकों की उपचार के दौरान मौत होने के बाद में भड़के लोगों ने प्लांट के सामने शव रख कर चार घंटे शांति पूर्वक धरना दिया था। जहां भारी पुलिस के साथ पहुंचे कोसली एसडीएम होशियार सिंह की मौजूदगी में सहमति बनी कि प्लांट को सील किया जाए तथा इसकी जांच करवाई जाए। एसडीएम ने ग्रामीणों की मांग पर जांच लेबर डिपार्टमेंट से करवाने व सील करने की बात कही थी। उसके बाद देर सायं सोमवार को पहुंची टीम ने दस सदस्यों की कमेटी के साथ में जांच के बाद प्लांट के गेट पर ताला लगा दिया था। उधर मुमताज पुर निवासी मृतक नरेंद्र के पिता नरेश की शिकायत पर नाहड़ पुलिस चौकी ने प्लांट मालिक राजपाल के खिलाफ धारा 304 के तहत मामला दर्ज कराया है। बता दें, पावर प्लांट में गैस पाइप लाइन में अचानक प्रेशर बन गया। जिससे वहां लगे बॉयलर के बैक मारने की वजह से उसमें से आग निकली और बिना सुरक्षा उपकरणों के काम कर रहे पांच युवक झुलस गए थे। इसमें क्षेत्र के गांव भड़ंगी निवासी संजय, मुमताजपुर निवासी नरेंद्र, गुजरात निवासी छोटेलाल, केशव व योगेंद्र झुलस गए थे। कुछ गुरुग्राम तो कुछ को दिल्ली के अस्पताल में भर्ती कराया गया था।
हमने मुमताज पुर निवासी नरेश पुत्र मेहरचंद की शिकायत पर मामला दर्ज करके प्लांट में लगे सीसीटीवी कैमरे की डीवीआर को कब्जे में ले लिया है। उसकी फुटेज देखी जा रही है और राजपाल नाम के युवक के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। नामजद व्यक्ति को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।
-मुकेश कुमार, डीएसपी।

चार दिन पूर्व क्षेत्र के गांव खुर्शीदनगर में स्थित के2 पावर प्लांट में हुए हादसे के बाद लेबर इंस्पेक्टर राजकुमार के नेतृत्व में टीम ने पांच गांवों के मौजिज लोगों की मौजूदगी में बनाई कमेटी को साथ लेकर प्लांट का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान बिना परमिशन के चल रहे प्लांट में भारी खामियां देखने में आई। सामने आया कि के2 पावर प्लांट में जो कार्य श्रमिकों से करवाया जा रहा था वह सुरक्षा नियमों की अनदेखी करके करवाया जा रहा था।

निरीक्षण के दौरान यह भी सामने आया की प्लांट में कार्य शुरू करने से पहले शुरूआती ट्रेनिंग दी जानी थी वह नहीं दी गई। इसके साथ ही प्लांट में श्रमिकों की सुरक्षा के कोई भी उपकरण कर्मचारियों को उपलब्ध नहीं करवाए गए थे। न ही प्लांट में आग बुझाने से संबंधित कोई भी उचित उपकरण पाया गया। कुछ युवकों को काम करने के बाद भी वेतन नहीं मिला। वेतन मांगने पर बाहर का रास्ता दिखा दिया गया। इन लोगों ने लिखित शिकायत लेबर इंस्पेक्टर टीम को दी है। इसके अलावा मौके पर प्रबंधक की तरफ से कोई रिकॉर्ड भी नहीं मिला। न ही मौके पर मालिक मिला।

खामियों के कारण गई युवकों की जान

कमेटी के सदस्य सुरेंद्र पंच भड़ंगी व रामफल पूर्व सरपंच ने बताया कि प्लांट में लेबर इंस्पेक्टर के नेतृत्व में आई टीम ने निरीक्षण के दौरान प्लांट में जो खामी मिली और जिसके कारण युवकों की जान गई है उसकी रिपोर्ट हमने ले ली है। लेबर इंस्पेक्टर राजकुमार ने जो बताया है उसके हिसाब से यह हादसा प्लांट मालिक की लापरवाही से हुआ है और अब आगे की कार्रवाई की जाएगी। साथ ही कमेटी के सदस्यों ने यह भी कहा कि प्लांट मालिक के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है। अगर पुलिस ने जल्द प्लांट मालिक को गिरफ्तार नहीं किया और सरकार की तरफ से मृतकों के परिजनों को आर्थिक सहायता जल्द नहीं दी गई तो वह इलाके के लोगों को साथ लेकर सड़कों पर आने को बाध्य होंगे।

यह रहे कमेटी में शामिल

दस सदस्यों की बनाई कमेटी में रामफल पूर्व सरपंच मुमताज पुर, यशवंत शास्त्री बिसोहा, राजेंद्र मुमताज पुर, सुरेन्द्र पूर्व पंच भडंगी, अभेसिंह पूर्व सरपंच भडंगी, ईश्वर पूर्व सरपंच बव्वा, विनोद लिलोढ़, रामकिशन मुमताज पुर, राजेंद्र भडंगी शामिल रहे।

यह है मामला

गांव खुर्शीद नगर में के2 पावर प्लांट में लगे बॉयलर से निकली आग से झुलसे पांच लोगों में से चार युवकों की उपचार के दौरान मौत होने के बाद में भड़के लोगों ने प्लांट के सामने शव रख कर चार घंटे शांति पूर्वक धरना दिया था। जहां भारी पुलिस के साथ पहुंचे कोसली एसडीएम होशियार सिंह की मौजूदगी में सहमति बनी कि प्लांट को सील किया जाए तथा इसकी जांच करवाई जाए। एसडीएम ने ग्रामीणों की मांग पर जांच लेबर डिपार्टमेंट से करवाने व सील करने की बात कही थी। उसके बाद देर सायं सोमवार को पहुंची टीम ने दस सदस्यों की कमेटी के साथ में जांच के बाद प्लांट के गेट पर ताला लगा दिया था। उधर मुमताज पुर निवासी मृतक नरेंद्र के पिता नरेश की शिकायत पर नाहड़ पुलिस चौकी ने प्लांट मालिक राजपाल के खिलाफ धारा 304 के तहत मामला दर्ज कराया है। बता दें, पावर प्लांट में गैस पाइप लाइन में अचानक प्रेशर बन गया। जिससे वहां लगे बॉयलर के बैक मारने की वजह से उसमें से आग निकली और बिना सुरक्षा उपकरणों के काम कर रहे पांच युवक झुलस गए थे। इसमें क्षेत्र के गांव भड़ंगी निवासी संजय, मुमताजपुर निवासी नरेंद्र, गुजरात निवासी छोटेलाल, केशव व योगेंद्र झुलस गए थे। कुछ गुरुग्राम तो कुछ को दिल्ली के अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

हमने मुमताज पुर निवासी नरेश पुत्र मेहरचंद की शिकायत पर मामला दर्ज करके प्लांट में लगे सीसीटीवी कैमरे की डीवीआर को कब्जे में ले लिया है। उसकी फुटेज देखी जा रही है और राजपाल नाम के युवक के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। नामजद व्यक्ति को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

-मुकेश कुमार, डीएसपी।

.


‘कांग्रेस के 8 MLA करेंगे क्राॅस वोटिंग’ के बयान पर पायलट का सुभाष चंद्रा पर पलटवार: सचिन पायलट बोले- राजनीति कोई टीवी सीरियल नहीं है

RBI मौद्रिक नीति: क्या कर्ज लेने वालों को मिलेगी राहत? फैसला आज आ रहा है