in

निजीकरण के विरोध में कर्मचारियों ने निकाला जुलूस, लघु सचिवालय पर सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा की जिला इकाई ने किया प्रदर्शन


जुलूस निकालकर लघु सचिवालय पहुंचते कर्मचारी।

जुलूस निकालकर लघु सचिवालय पहुंचते कर्मचारी।
– फोटो : Palwal

ख़बर सुनें

पलवल। सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा की जिला इकाई ने शुक्रवार को लघु सचिवालय पर प्रदर्शन किया। कर्मचारियों ने गांव कुसलीपुर स्थित गुर्जर धर्मशाला से उपायुक्त कार्यालय तक जुलूस निकाला। इसके बाद तहसीलदार संजीव नागर के माध्यम से मुख्यमंत्री के नाम स्वास्थ्य विभाग में नौकरी से हटाए गए कोविड कर्मचारियों की सेवाएं बहाल करने और हरियाणा कौशल रोजगार निगम भंग करने, प्रदेश के नियमित, अनियमित कर्मचारियों, पेंशनर्स व बेरोजगार युवाओं की मांगों के संबंध में ज्ञापन सौंपा। प्रदर्शन की अध्यक्षता जिला अध्यक्ष राजेश शर्मा ने की, जबकि संचालन जिला सचिव योगेश शर्मा ने किया।
सीटू के जिला प्रधान श्रीपाल सिंह भाटी, रिटायर कर्मचारी संघ के जिलाध्यक्ष बीधू सिंह ने कहा कि सरकार की कर्मचारी और मजदूर विरोधी नीतियों तथा कर्मचारियों की मांगों का समाधान करने की बजाय निजीकरण की मुहीम को आक्रामक तरीके से लागू करने के खिलाफ प्रदर्शन किए जा रहे हैं। आंदोलन की अगली कड़ी में जून महीने में खंड स्तर पर कर्मचारी सम्मेलन आयोजित किए जाएंगे, जिसमें कर्मचारियों को निर्णायक आंदोलन के लिए तैयार किया जाएगा। उन्होंने दो टूक कहा कि कौशल रोजगार निगम भंग होने और कर्मचारियों की लंबित मांगों के समाधान होने तक आंदोलन जारी रहेगा। स्वास्थ्य विभाग में नौकरी से हटाए कोविड कर्मचारियों की सेवाएं बहाल करने मांग की गई।
इस अवसर पर पब्लिक हेल्थ, सिंचाई विभाग, भवन एवं निर्माण विभाग, नगरपालिका, टूरिज्म, रिटायर कर्मचारी संघ हरियाणा, हरियाणा विद्यालय अध्यापक संघ, स्वास्थ्य विभाग, पशुपालन विभाग, वन विभाग, रोडवेज वर्कर यूनियन, हुड्डा विभाग, टूरिज्म, हेमसा, राजकीय प्राथमिक विद्यालय शिक्षक संघ, पंचायती राज विभाग, कृषि विभाग से जितेंद्र तेवतिया, मैकेनिकल वर्कर यूनियन के उपाध्यक्ष राकेश तंवर, खंड प्रधान राजकुमार डागर, सचिव हरकेश सौरोत, देवेंद्र नम्बरदार, धर्मेंद्र शर्मा, बिजेंद्र सिंह मौजूद थे।

पलवल। सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा की जिला इकाई ने शुक्रवार को लघु सचिवालय पर प्रदर्शन किया। कर्मचारियों ने गांव कुसलीपुर स्थित गुर्जर धर्मशाला से उपायुक्त कार्यालय तक जुलूस निकाला। इसके बाद तहसीलदार संजीव नागर के माध्यम से मुख्यमंत्री के नाम स्वास्थ्य विभाग में नौकरी से हटाए गए कोविड कर्मचारियों की सेवाएं बहाल करने और हरियाणा कौशल रोजगार निगम भंग करने, प्रदेश के नियमित, अनियमित कर्मचारियों, पेंशनर्स व बेरोजगार युवाओं की मांगों के संबंध में ज्ञापन सौंपा। प्रदर्शन की अध्यक्षता जिला अध्यक्ष राजेश शर्मा ने की, जबकि संचालन जिला सचिव योगेश शर्मा ने किया।

सीटू के जिला प्रधान श्रीपाल सिंह भाटी, रिटायर कर्मचारी संघ के जिलाध्यक्ष बीधू सिंह ने कहा कि सरकार की कर्मचारी और मजदूर विरोधी नीतियों तथा कर्मचारियों की मांगों का समाधान करने की बजाय निजीकरण की मुहीम को आक्रामक तरीके से लागू करने के खिलाफ प्रदर्शन किए जा रहे हैं। आंदोलन की अगली कड़ी में जून महीने में खंड स्तर पर कर्मचारी सम्मेलन आयोजित किए जाएंगे, जिसमें कर्मचारियों को निर्णायक आंदोलन के लिए तैयार किया जाएगा। उन्होंने दो टूक कहा कि कौशल रोजगार निगम भंग होने और कर्मचारियों की लंबित मांगों के समाधान होने तक आंदोलन जारी रहेगा। स्वास्थ्य विभाग में नौकरी से हटाए कोविड कर्मचारियों की सेवाएं बहाल करने मांग की गई।

इस अवसर पर पब्लिक हेल्थ, सिंचाई विभाग, भवन एवं निर्माण विभाग, नगरपालिका, टूरिज्म, रिटायर कर्मचारी संघ हरियाणा, हरियाणा विद्यालय अध्यापक संघ, स्वास्थ्य विभाग, पशुपालन विभाग, वन विभाग, रोडवेज वर्कर यूनियन, हुड्डा विभाग, टूरिज्म, हेमसा, राजकीय प्राथमिक विद्यालय शिक्षक संघ, पंचायती राज विभाग, कृषि विभाग से जितेंद्र तेवतिया, मैकेनिकल वर्कर यूनियन के उपाध्यक्ष राकेश तंवर, खंड प्रधान राजकुमार डागर, सचिव हरकेश सौरोत, देवेंद्र नम्बरदार, धर्मेंद्र शर्मा, बिजेंद्र सिंह मौजूद थे।

.


तमंचे दिखा दो भाइयों का अपहरण, एक को हथौड़े और रॉड से पीट-पीटकर मार डाला

दिव्या इंदौरा हत्याकांड : मर्डर के बाद सबूत मिटाने को शव जलाना चाहते थे आरोपी, नग्न हालत में मिली थी लाश