निगम ने 14 बिजली चोरी के मामले पकड़े, 9 लाख लगाया जुर्माना


ख़बर सुनें

रोहतक। बिजली निगम की टीमों ने शहर में बिजली चोरी रोकने के लिए रात में वीडियोग्राफी की और दिन में बिजली चोरी में कार्रवाई की। जिन घरों में चोरी पकड़ी, वहां कनेक्शन एक किलोवाट का था और बिजली चोरी पांच से सात किलोवाट तक हो रही थी। गढ़ी बोहर में बेधड़क एयरकंडीशनर, कूलर, पंखे आदि चलते मिले। शहर में पकड़े 14 बिजली चोरी पर नौ लाख रुपये का जुर्माना लगाया है।
तमाम कोशिशों के बावजूद देहात ही नहीं शहर में भी बिजली चोरी रुकने का नाम नहीं ले रही है। बिजली चोरी पकड़ने के दौरान विवाद, मारपीट और बंधक बनाने की घटना की वजह से बिजली निगम की टीमें सहम हुई हैं। इस वजह से बिजली निगम के अधिकारियों ने बिजली चोरी पकड़ने की योजना ही बदल दी है। जिसके तहत शनिवार को बिजली निगम की टीम ने शहर में 14 बिजली चोर पकड़े जिन पर करीब नौ लाख रुपये जुर्माना लगाया गया है। बिजली निगम की टीमों ने रात को घरों के बाहर सघन चेकिंग करते हुए वीडियोग्राफी बनाई। देव कॉलोनी के एक पीजी हॉस्टल में घरेलू कनेक्शन लगा हुआ था, जिसका मीटर बंद था और हॉस्टल में कटिया डालकर सात किलोवाट की बिजली चोरी हो रही थी। इसके बाद टीम ने गढ़ी बोहर में चेकिंग की। एक घर के अंदर एयरकंडीशनर और कूलर बेधड़क चल रहे थे। इससे छह किलोवाट बिजली की खपत हो रही थी। घर के अंदर बिजली के पोल से कटिया डालकर चोरी हो रही थी और मीटर पूरी तरह से बंद था। वहीं, गढ़ी बोहर के ही एक घर में छह किलोवाट की बिजली चोरी हो रही थी और यहीं भी मीटर बंद था। वहीं, दूसरी टीम ने जनता कॉलोनी के दो घरों में बिजली पांच से छह किलोवाट की बिजली चोरी पकड़ी।
कार्यकारी अभियंता मेहताब सिंह का कहना है कि बिजली चोरी पकड़ने के लिए लगाई गई टीमों ने शहर में 14 स्थानों पर बिजली चोरी पकड़ी, जिन पर जुर्माना लगाने की कार्रवाई की गई। टीम ने रात में बिजली चोरी करने वालों की वीडियोग्राफी करके जुर्माना लगाया है। अधीक्षण अभियंता एके यादव ने बताया कि शहर में बिजली चोरी करने वालों के खिलाफ लगातार अभियान चलता रहेगा। इसके लिए एसडीओ के स्तर से कई टीमों लगाई गई हैं।

रोहतक। बिजली निगम की टीमों ने शहर में बिजली चोरी रोकने के लिए रात में वीडियोग्राफी की और दिन में बिजली चोरी में कार्रवाई की। जिन घरों में चोरी पकड़ी, वहां कनेक्शन एक किलोवाट का था और बिजली चोरी पांच से सात किलोवाट तक हो रही थी। गढ़ी बोहर में बेधड़क एयरकंडीशनर, कूलर, पंखे आदि चलते मिले। शहर में पकड़े 14 बिजली चोरी पर नौ लाख रुपये का जुर्माना लगाया है।

तमाम कोशिशों के बावजूद देहात ही नहीं शहर में भी बिजली चोरी रुकने का नाम नहीं ले रही है। बिजली चोरी पकड़ने के दौरान विवाद, मारपीट और बंधक बनाने की घटना की वजह से बिजली निगम की टीमें सहम हुई हैं। इस वजह से बिजली निगम के अधिकारियों ने बिजली चोरी पकड़ने की योजना ही बदल दी है। जिसके तहत शनिवार को बिजली निगम की टीम ने शहर में 14 बिजली चोर पकड़े जिन पर करीब नौ लाख रुपये जुर्माना लगाया गया है। बिजली निगम की टीमों ने रात को घरों के बाहर सघन चेकिंग करते हुए वीडियोग्राफी बनाई। देव कॉलोनी के एक पीजी हॉस्टल में घरेलू कनेक्शन लगा हुआ था, जिसका मीटर बंद था और हॉस्टल में कटिया डालकर सात किलोवाट की बिजली चोरी हो रही थी। इसके बाद टीम ने गढ़ी बोहर में चेकिंग की। एक घर के अंदर एयरकंडीशनर और कूलर बेधड़क चल रहे थे। इससे छह किलोवाट बिजली की खपत हो रही थी। घर के अंदर बिजली के पोल से कटिया डालकर चोरी हो रही थी और मीटर पूरी तरह से बंद था। वहीं, गढ़ी बोहर के ही एक घर में छह किलोवाट की बिजली चोरी हो रही थी और यहीं भी मीटर बंद था। वहीं, दूसरी टीम ने जनता कॉलोनी के दो घरों में बिजली पांच से छह किलोवाट की बिजली चोरी पकड़ी।

कार्यकारी अभियंता मेहताब सिंह का कहना है कि बिजली चोरी पकड़ने के लिए लगाई गई टीमों ने शहर में 14 स्थानों पर बिजली चोरी पकड़ी, जिन पर जुर्माना लगाने की कार्रवाई की गई। टीम ने रात में बिजली चोरी करने वालों की वीडियोग्राफी करके जुर्माना लगाया है। अधीक्षण अभियंता एके यादव ने बताया कि शहर में बिजली चोरी करने वालों के खिलाफ लगातार अभियान चलता रहेगा। इसके लिए एसडीओ के स्तर से कई टीमों लगाई गई हैं।

.


What do you think?

Written by Haryanacircle

NED vs ENG: इंग्लैंड ने बटलर के बैट पकड़े बिना ही जीता दूसरा वनडे मैच, नीदरलैंड के खिलाफ दर्ज की अजेय बढ़त

कार सवार युवकों ने बाइक को टक्कर मारी