नाममात्र पर नोटिस व सीलिंग कार्रवाई, कई अवैध निर्माणों की शिकायतें दबी रह गईं-


ख़बर सुनें

नहीं रुक रहा अवैध निर्माण, नाममात्र पर नोटिस और सीलिंग कार्रवाई
-निगम क्षेत्र में बिना नक्शे या रिहायशी नक्शे पर व्यावसायिक निर्माण का आरोप, शिकायतकर्ता बोले, बिना मानक बन रही दुकानों और मॉल पर कार्रवाई शून्य
संवाद न्यूज एजेंसी
यमुनानगर। रिहायशी नक्शे पर व्यावसायिक भवन या बिना नक्शे और अन्य मानक पूरे किए बगैर हुए निर्माणों पर नगर निगम की कार्रवाई ठंडे बस्ते में है। हालांकि दिसंबर-2021 से फरवरी-2022 के बीच कई निर्माण मानकों पर खरे न मिलने पर भवन मालिकों नोटिस भेजने सहित भवन सील करने की कार्रवाई हुई, लेकिन दोनों कमिश्नर के तबादले के बाद कार्रवाई थम गई। शिकायतकर्ताओं का आरोप है कि बिना नक्शे व अन्य मानकों के हो रहे दुकानों, मॉल व मार्केट के निर्माण की शिकायतें संबंधित अफसरों व सीएम विंडो पर करने पर भी कार्रवाई शून्य है।
वार्ड-20 से पार्षद प्रतिनिधि नीरज राणा ने बताया कि सीएम विंडो पर करीब सात शिकायतें दे चुके हैं, जिसमें सुंदरनगर, सुभाषनगर, मॉडल टाउन में बिना नक्शे और अन्य मानक पूरे किए या रिहायशी नक्शे पर व्यावसायिक भवन बनने के आरोप हैं। कहा कि उनकी शिकायतों पर न तो सही से जांच हो रही है न कार्रवाई। ईक्का-दुक्का जगह फर्स्ट नोटिस देकर अफसर खानापूर्ति तक सिमट गए।
बाक्स
सात भवन पांच महीने पहले हुए थे सील, नोटिस पर अटकी कार्रवाई
बिना नक्शे व अन्य मानक पूरे किए या रिहायशी नक्शे पर बने व्यावसायिक भवनों के खिलाफ दिसंबर-2021 में नोटिस भेजने की कार्रवाई हुई। इसमें 17 दिसंबर को फाइनल नोटिस दिए गए। ऐसे ही छोटी लाइन और मॉडल टाउन क्षेत्र में करीब 12 निर्माणों को भी नोटिस गए। इनमें दिए समय में भवन मालिकों ने नक्शे पास कराने सहित अन्य मानक पूरे नहीं किए। तब नगर निगम अधिनियम 1994 की धारा 263 ए के तहत जनवरी-फरवरी में छोटी लाइन पर दो व मॉडल टाउन में पांच भवन सील किए। इसके बाद कुछक जगह नोटिस भेजने से आगे कार्रवाई नहीं हो पाई।
———
कोट
एटीपी का चार्ज उनके पास था, तब ऐसे अवैध निर्माणों पर नोटिस और सीलिंग कार्रवाई की। अब उनके पास एटीपी का चार्ज नहीं है। रवि ओबरॉय को एटीपी का चार्ज दिया गया है, जो आगे की कार्रवाई के बारे में बता सकते हैं।- एलसी चौहान, एक्सईएन, नगर निगम।
कोट
एटीपी का चार्ज अभी आया है। जो भी अवैध निर्माणों की शिकायतें लंबित होंगी, उनकी जांच कर नियमानुसार कार्रवाई अमल में लाएंगे।- रवि ओबराय, एक्सईएन, नगर निगम।

नहीं रुक रहा अवैध निर्माण, नाममात्र पर नोटिस और सीलिंग कार्रवाई

-निगम क्षेत्र में बिना नक्शे या रिहायशी नक्शे पर व्यावसायिक निर्माण का आरोप, शिकायतकर्ता बोले, बिना मानक बन रही दुकानों और मॉल पर कार्रवाई शून्य

संवाद न्यूज एजेंसी

यमुनानगर। रिहायशी नक्शे पर व्यावसायिक भवन या बिना नक्शे और अन्य मानक पूरे किए बगैर हुए निर्माणों पर नगर निगम की कार्रवाई ठंडे बस्ते में है। हालांकि दिसंबर-2021 से फरवरी-2022 के बीच कई निर्माण मानकों पर खरे न मिलने पर भवन मालिकों नोटिस भेजने सहित भवन सील करने की कार्रवाई हुई, लेकिन दोनों कमिश्नर के तबादले के बाद कार्रवाई थम गई। शिकायतकर्ताओं का आरोप है कि बिना नक्शे व अन्य मानकों के हो रहे दुकानों, मॉल व मार्केट के निर्माण की शिकायतें संबंधित अफसरों व सीएम विंडो पर करने पर भी कार्रवाई शून्य है।

वार्ड-20 से पार्षद प्रतिनिधि नीरज राणा ने बताया कि सीएम विंडो पर करीब सात शिकायतें दे चुके हैं, जिसमें सुंदरनगर, सुभाषनगर, मॉडल टाउन में बिना नक्शे और अन्य मानक पूरे किए या रिहायशी नक्शे पर व्यावसायिक भवन बनने के आरोप हैं। कहा कि उनकी शिकायतों पर न तो सही से जांच हो रही है न कार्रवाई। ईक्का-दुक्का जगह फर्स्ट नोटिस देकर अफसर खानापूर्ति तक सिमट गए।

बाक्स

सात भवन पांच महीने पहले हुए थे सील, नोटिस पर अटकी कार्रवाई

बिना नक्शे व अन्य मानक पूरे किए या रिहायशी नक्शे पर बने व्यावसायिक भवनों के खिलाफ दिसंबर-2021 में नोटिस भेजने की कार्रवाई हुई। इसमें 17 दिसंबर को फाइनल नोटिस दिए गए। ऐसे ही छोटी लाइन और मॉडल टाउन क्षेत्र में करीब 12 निर्माणों को भी नोटिस गए। इनमें दिए समय में भवन मालिकों ने नक्शे पास कराने सहित अन्य मानक पूरे नहीं किए। तब नगर निगम अधिनियम 1994 की धारा 263 ए के तहत जनवरी-फरवरी में छोटी लाइन पर दो व मॉडल टाउन में पांच भवन सील किए। इसके बाद कुछक जगह नोटिस भेजने से आगे कार्रवाई नहीं हो पाई।

———

कोट

एटीपी का चार्ज उनके पास था, तब ऐसे अवैध निर्माणों पर नोटिस और सीलिंग कार्रवाई की। अब उनके पास एटीपी का चार्ज नहीं है। रवि ओबरॉय को एटीपी का चार्ज दिया गया है, जो आगे की कार्रवाई के बारे में बता सकते हैं।- एलसी चौहान, एक्सईएन, नगर निगम।

कोट

एटीपी का चार्ज अभी आया है। जो भी अवैध निर्माणों की शिकायतें लंबित होंगी, उनकी जांच कर नियमानुसार कार्रवाई अमल में लाएंगे।- रवि ओबराय, एक्सईएन, नगर निगम।

.


What do you think?

Written by Haryanacircle

निकाय चुनाव के 96 बुथों पर रहेगा पुलिस का कड़ा पहरा

पिता ने दफनि रात रेहड़ी खींच बेटे के तन पर सजाई खाकी