नशीला पदार्थ नष्ट किया


narcotics destroyed

ख़बर सुनें

करनाल। पुलिस ने एनडीपीएस एक्ट के तहत पकड़े गए नशीले पदार्थों को अदालत के फैसले के बाद बजीदा कलां स्थित कंपनी में नष्ट किया। इसके लिए करनाल रेंज आईजी सतेंद्र कुमार की निगरानी में चार सदस्यों की कमेटी का गठन किया गया था। कमेटी में करनाल पुलिस अधीक्षक गंगाराम पूनिया, पानीपत अधीक्षक शशांक कुमार सावन, कैथल अधीक्षक मकसूद अहमद शामिल थे। इस कमेटी की देखरेख में ही करनाल, पानीपत व कैथल के विभिन्न मामलों में जब्त नशीले पदार्थों को नष्ट किया गया।
करनाल जिले में 56 मुकदमों में कुल 63 किलोग्राम नशीले पदार्थों को नष्ट किया गया। जिसमें कैंफर के एक मामले में तीन किलो 69 ग्राम कैंफर, स्मैक के आठ मामलों में 70.269 ग्राम स्मैक, गांजा पत्ती के 27 मामलों में 21 किलो 797 ग्राम व 990 मिलीग्राम गांजा पत्ती, अफीम के एक मामले में 3.020 किलोग्राम वजनी अफीम के पौधे, चूरा पोस्त के आठ मामलों में 26.701 किलोग्राम चूरा पोस्त, सुल्फा के चार मामलों में 1.183 किलोग्राम सुल्फा, नशीले पाउडर के एक मामले में 7.100 ग्राम नशीला पाउडर, नशीली दवाइयों के पांच मामलों में 2255 नशीली गोलियां व 515 नशीले कैप्सूल, हेरोइन के एक मामले में 40.40 ग्राम हेरोइन नष्ट की गई।
इसके अलावा जिला कैथल के एनडीपीएस एक्ट के कुल चार मुकदमों में 4925.52 किलोग्राम चूरा पोस्त व जिला पानीपत के 52 मामलों में कुल 344.515 किलोग्राम नशीले पदार्थ नष्ट किए गए। जिला पानीपत के मामलों में नष्ट किए गए नशीले पदार्थों में गांजा पत्ती, स्मैक, चरस, चूरा पोस्त, नशीले इंजेक्शन, हेरोइन व अफीम के पौधे शामिल थे। इस दौरान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक करनाल पुष्पा खत्री, डीएसपी पानीपत विरेंद्र सैनी व डीएसपी कैथल जसवंत सिंह मौजूद रहे।

करनाल। पुलिस ने एनडीपीएस एक्ट के तहत पकड़े गए नशीले पदार्थों को अदालत के फैसले के बाद बजीदा कलां स्थित कंपनी में नष्ट किया। इसके लिए करनाल रेंज आईजी सतेंद्र कुमार की निगरानी में चार सदस्यों की कमेटी का गठन किया गया था। कमेटी में करनाल पुलिस अधीक्षक गंगाराम पूनिया, पानीपत अधीक्षक शशांक कुमार सावन, कैथल अधीक्षक मकसूद अहमद शामिल थे। इस कमेटी की देखरेख में ही करनाल, पानीपत व कैथल के विभिन्न मामलों में जब्त नशीले पदार्थों को नष्ट किया गया।

करनाल जिले में 56 मुकदमों में कुल 63 किलोग्राम नशीले पदार्थों को नष्ट किया गया। जिसमें कैंफर के एक मामले में तीन किलो 69 ग्राम कैंफर, स्मैक के आठ मामलों में 70.269 ग्राम स्मैक, गांजा पत्ती के 27 मामलों में 21 किलो 797 ग्राम व 990 मिलीग्राम गांजा पत्ती, अफीम के एक मामले में 3.020 किलोग्राम वजनी अफीम के पौधे, चूरा पोस्त के आठ मामलों में 26.701 किलोग्राम चूरा पोस्त, सुल्फा के चार मामलों में 1.183 किलोग्राम सुल्फा, नशीले पाउडर के एक मामले में 7.100 ग्राम नशीला पाउडर, नशीली दवाइयों के पांच मामलों में 2255 नशीली गोलियां व 515 नशीले कैप्सूल, हेरोइन के एक मामले में 40.40 ग्राम हेरोइन नष्ट की गई।

इसके अलावा जिला कैथल के एनडीपीएस एक्ट के कुल चार मुकदमों में 4925.52 किलोग्राम चूरा पोस्त व जिला पानीपत के 52 मामलों में कुल 344.515 किलोग्राम नशीले पदार्थ नष्ट किए गए। जिला पानीपत के मामलों में नष्ट किए गए नशीले पदार्थों में गांजा पत्ती, स्मैक, चरस, चूरा पोस्त, नशीले इंजेक्शन, हेरोइन व अफीम के पौधे शामिल थे। इस दौरान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक करनाल पुष्पा खत्री, डीएसपी पानीपत विरेंद्र सैनी व डीएसपी कैथल जसवंत सिंह मौजूद रहे।

.


What do you think?

Written by Haryanacircle

सिरे नहीं चढ़ पाई सीसीटीवी लगाने की योजना, फाइलों में कैद

अग्निपथ योजना के खिलाफ सड़कों पर उतरे किसान