in

नरू बाबा की समाधि पर उमड़ी श्रद्धा


ख़बर सुनें

करनाल। नरूखेड़ी गांव में नरू बाबा मेमोरियल वेलफेयर सोसायटी की ओर से रविवार को नरू बाबा की समाधि पर हवन और वार्षिक भंडारे का आयोजन किया गया। सुबह से ही समाधि स्थल पर काफी संख्या में श्रद्धालु पहुंचे। मुख्य अतिथि के रूप में पहुंचे नरवाल खाप के प्रधान भले राम नरवाल ने ग्रामीणों के साथ हवन में आहुति डालकर सभी के सुख-समृद्धि की कामना की। इस धार्मिक स्थल के प्रति इलाके के ग्रामीणों की गहरी आस्था है। आसपास के कई गांवों के ग्रामीणों ने समाधि पर माथा टेका और भंडारे में प्रसाद ग्रहण किया।
भले राम ने नरू बाबा की शिक्षाओं को आत्मसात करने का संदेश दिया। पूर्व सरपंच सुरजीत नरवाल ने कहा कि गांव में हर रविवार को नरू बाबा की पूजा की जाती है और उनकी समाधि पर दूध चढ़ाया जाता है। पिछले दो वर्ष से कोरोना के चलते कार्यक्रम स्थगित रहे। अब गांव की सुख-शांति के लिए ज्येष्ठ माह की अमावस्या के बाद पहले रविवार को विशाल भंडारे व हवन का आयोजन किया गया। ग्रामीणों ने मुख्य अतिथि को स्मृति चिह्न प्रदान कर सम्मानित किया। इस मौके पर पूर्व सरपंच नरेंद्र नरवाल, सतपाल नरवाल, प्रधान चंद्रभान नरवाल, पूर्व कांग्रेस जिलाध्यक्ष सुरेंद्र नरवाल, पूर्व सरपंच संदीप नरवाल, महा सिंह मौजूद रहे।

करनाल। नरूखेड़ी गांव में नरू बाबा मेमोरियल वेलफेयर सोसायटी की ओर से रविवार को नरू बाबा की समाधि पर हवन और वार्षिक भंडारे का आयोजन किया गया। सुबह से ही समाधि स्थल पर काफी संख्या में श्रद्धालु पहुंचे। मुख्य अतिथि के रूप में पहुंचे नरवाल खाप के प्रधान भले राम नरवाल ने ग्रामीणों के साथ हवन में आहुति डालकर सभी के सुख-समृद्धि की कामना की। इस धार्मिक स्थल के प्रति इलाके के ग्रामीणों की गहरी आस्था है। आसपास के कई गांवों के ग्रामीणों ने समाधि पर माथा टेका और भंडारे में प्रसाद ग्रहण किया।

भले राम ने नरू बाबा की शिक्षाओं को आत्मसात करने का संदेश दिया। पूर्व सरपंच सुरजीत नरवाल ने कहा कि गांव में हर रविवार को नरू बाबा की पूजा की जाती है और उनकी समाधि पर दूध चढ़ाया जाता है। पिछले दो वर्ष से कोरोना के चलते कार्यक्रम स्थगित रहे। अब गांव की सुख-शांति के लिए ज्येष्ठ माह की अमावस्या के बाद पहले रविवार को विशाल भंडारे व हवन का आयोजन किया गया। ग्रामीणों ने मुख्य अतिथि को स्मृति चिह्न प्रदान कर सम्मानित किया। इस मौके पर पूर्व सरपंच नरेंद्र नरवाल, सतपाल नरवाल, प्रधान चंद्रभान नरवाल, पूर्व कांग्रेस जिलाध्यक्ष सुरेंद्र नरवाल, पूर्व सरपंच संदीप नरवाल, महा सिंह मौजूद रहे।

.


पशुओं से भरी पिकअप गाड़ी टास्क फोर्स ने पकड़ी

दमखम दिखा रहे 8500 खिलाड़ी