in

नरवाल खाप के राष्ट्रीय अध्यक्ष के क्रेडिट कार्ड से 9237 रुपये निकले


ख़बर सुनें

गांव कथूरा के रहने वाले नरवाल खाप के राष्ट्रीय अध्यक्ष भलेराम नरवाल के क्रेडिट कार्ड से 9237 रुपये निकालने का मामला सामने आया है। साइबर ठगों ने ऑनलाइन धोखाधड़ी कर उनके खाते से नकदी निकाली ली। ठगी का पता लगने पर उन्होंने अपना कार्ड बंद करवा कर नया कार्ड लिया तो एक व्यक्ति ने उनके मोबाइल पर कॉल कर धमकी दी कि इसे भी चालू करते ही खाली कर दिया जाएगा। पीड़ित की शिकायत पर बरोदा थाना पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है।
गांव कथूरा निवासी भलेराम नरवाल ने पुलिस को बताया कि 24 जून की सुबह डेढ़ घंटे में उनके क्रेडिट कार्ड से तीन बार ट्रांजेक्शन की गई। पहली बार में 3,000, दूसरी बार में 4,158 और तीसरी बार 2,079 रुपये खाते से कट गए। उनके मोबाइल पर मैसेज आए तो उन्हें पता लगा। उनका क्रेडिट कार्ड उनके पास था और उन्होंने किसी से ओटीपी नंबर या किसी तरह का लिंक साझा नहीं किया था। उन्होंने धोखाधड़ी का पता चलने पर अपना क्रेडिट कार्ड उसी दिन बंद करवा दिया। इसके बाद नए क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन किया। उनके पास 29 जून को नया कार्ड घर पर पहुंचा जिसे अब तक चालू नहीं किया गया है। तीन जुलाई को उनके मोबाइल नंबर पर एक व्यक्ति ने कॉल कर धमकी दी कि जैसे ही तुम नया क्रेडिट कार्ड चालू करवाओगे उसे खाली कर दिया जाएगा। किसी को कुछ बताने या ज्यादा बोलने पर जान से मार दिया जाएगा। भलेराम नरवाल का कहना है कि जब वह बाहर जाते थे तो कार्ड से गाड़ी में पेट्रोल डलवाते थे। उन्हें संदेह है कि किसी पेट्रोल पंप पर उनके कार्ड का डाटा चुराया गया है जिसके बाद धोखाधड़ी की गई। शिकायत पर पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।

गांव कथूरा के रहने वाले नरवाल खाप के राष्ट्रीय अध्यक्ष भलेराम नरवाल के क्रेडिट कार्ड से 9237 रुपये निकालने का मामला सामने आया है। साइबर ठगों ने ऑनलाइन धोखाधड़ी कर उनके खाते से नकदी निकाली ली। ठगी का पता लगने पर उन्होंने अपना कार्ड बंद करवा कर नया कार्ड लिया तो एक व्यक्ति ने उनके मोबाइल पर कॉल कर धमकी दी कि इसे भी चालू करते ही खाली कर दिया जाएगा। पीड़ित की शिकायत पर बरोदा थाना पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है।

गांव कथूरा निवासी भलेराम नरवाल ने पुलिस को बताया कि 24 जून की सुबह डेढ़ घंटे में उनके क्रेडिट कार्ड से तीन बार ट्रांजेक्शन की गई। पहली बार में 3,000, दूसरी बार में 4,158 और तीसरी बार 2,079 रुपये खाते से कट गए। उनके मोबाइल पर मैसेज आए तो उन्हें पता लगा। उनका क्रेडिट कार्ड उनके पास था और उन्होंने किसी से ओटीपी नंबर या किसी तरह का लिंक साझा नहीं किया था। उन्होंने धोखाधड़ी का पता चलने पर अपना क्रेडिट कार्ड उसी दिन बंद करवा दिया। इसके बाद नए क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन किया। उनके पास 29 जून को नया कार्ड घर पर पहुंचा जिसे अब तक चालू नहीं किया गया है। तीन जुलाई को उनके मोबाइल नंबर पर एक व्यक्ति ने कॉल कर धमकी दी कि जैसे ही तुम नया क्रेडिट कार्ड चालू करवाओगे उसे खाली कर दिया जाएगा। किसी को कुछ बताने या ज्यादा बोलने पर जान से मार दिया जाएगा। भलेराम नरवाल का कहना है कि जब वह बाहर जाते थे तो कार्ड से गाड़ी में पेट्रोल डलवाते थे। उन्हें संदेह है कि किसी पेट्रोल पंप पर उनके कार्ड का डाटा चुराया गया है जिसके बाद धोखाधड़ी की गई। शिकायत पर पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।

.


कंपनी के कर्मी को दिल्ली से कुंडली बुलाकर कंप्यूटर का सामान ले उड़ा युवक

पहलवानों ने बजाया डंका : 15 दिन में देश की झोली में डाले चार एशियन खिताब