in

नगर निगम में नौकरी लगवाने के नाम पर छात्र से सवा दो लाख ठगा


ख़बर सुनें

दिल्ली रोड निवासी एक व्यक्ति ने गुरुग्राम नगर निगम में नौकरी लगवाने का झांसा देकर अजय नगर निवासी एक छात्र से 2.25 लाख रुपये ठग लिए। उसने न तो नौकरी लगवाई और न ही अब उसके रुपये वापस कर रहा है। छात्र रवि ने ठगी करने व जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगाते हुए शहर थाने में शिकायत दर्ज कराई है। शिकायत में एक बाइक फाइनेंस कराने व नौकरी के लिए फर्जी ज्वाइनिंग लेटर व पहचानपत्र देने का भी आरोप लगाया है।
पुलिस को दी शिकायत में अजय नगर निवासी रवि ने कहा है कि वह बीए का छात्र है। उसके दोस्त इंद्रा कॉलोनी निवासी सोनू ने उसकी मुलाकात दिल्ली रोड पर केएलपी कॉलेज के निकट रहने वाले अमन चावरिया से कराई थी। अमन ने खुद को राष्ट्रीय राजनीतिक दल का महामंत्री बताया था। अमन ने उसे गुरुग्राम में नौकरी लगवाने का भरोसा दिया और दो लाख रुपये की मांग की। 28 सितंबर 2020 को अमन चावरिया उससे 50 हजार रुपये नकद ले गया। अगले दिन वह उसे अपनी गाड़ी में बैठाकर गुरुग्राम ले गया ओर सरकारी अस्पताल में मेडिकल सर्टिफिकेट बनवाया। अमन ने उसे गुरुग्राम नगर निगम में नौकरी लगाने का आश्वासन दिया। इसके बाद दो बार में 95 हजार रुपये और ले लिए और उसे कभी गुरुग्राम तो कभी मानेसर स्थित निगम कार्यालय में घुमाता रहा। चार-पांच माह तक जब नौकरी नहीं मिली तो उन्होंने अमन से अपने रुपये वापस मांगे। दो मार्च 2021 को अमन ने नौकरी के लिए 50 हजार रुपये और मांगे। 50 हजार रुपये लेने के बाद एक लैटर व पहचान पत्र देकर नौकरी ज्वाइन करने के लिए कहा। वह लैटर और पहचान पत्र लेकर गुरुग्राम नगर निगम कार्यालय में गए तो पता लगा कि दोनों ही कागजात फर्जी हैं। उन्होंने आरोपी से बात की तो उसने मोटरसाइकिल फाइनेंस कराने पर नौकरी लगाने का आश्वासन दिया। आरोपी ने उससे 30 हजार रुपये मंगाए और कागजात पर हस्ताक्षर करा कर एजेंसी से मोटरसाइकिल फाइनेंस करा दी और मोटरसाइकिल भी अपने पास ही रख ली। न तो उनसे लिए रुपये लौटाए और न ही नौकरी मिली। रवि ने मामले की शिकायत पुलिस अधीक्षक को दी। एसपी के निर्देश के बाद शहर थाना पुलिस ने आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू की है।

दिल्ली रोड निवासी एक व्यक्ति ने गुरुग्राम नगर निगम में नौकरी लगवाने का झांसा देकर अजय नगर निवासी एक छात्र से 2.25 लाख रुपये ठग लिए। उसने न तो नौकरी लगवाई और न ही अब उसके रुपये वापस कर रहा है। छात्र रवि ने ठगी करने व जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगाते हुए शहर थाने में शिकायत दर्ज कराई है। शिकायत में एक बाइक फाइनेंस कराने व नौकरी के लिए फर्जी ज्वाइनिंग लेटर व पहचानपत्र देने का भी आरोप लगाया है।

पुलिस को दी शिकायत में अजय नगर निवासी रवि ने कहा है कि वह बीए का छात्र है। उसके दोस्त इंद्रा कॉलोनी निवासी सोनू ने उसकी मुलाकात दिल्ली रोड पर केएलपी कॉलेज के निकट रहने वाले अमन चावरिया से कराई थी। अमन ने खुद को राष्ट्रीय राजनीतिक दल का महामंत्री बताया था। अमन ने उसे गुरुग्राम में नौकरी लगवाने का भरोसा दिया और दो लाख रुपये की मांग की। 28 सितंबर 2020 को अमन चावरिया उससे 50 हजार रुपये नकद ले गया। अगले दिन वह उसे अपनी गाड़ी में बैठाकर गुरुग्राम ले गया ओर सरकारी अस्पताल में मेडिकल सर्टिफिकेट बनवाया। अमन ने उसे गुरुग्राम नगर निगम में नौकरी लगाने का आश्वासन दिया। इसके बाद दो बार में 95 हजार रुपये और ले लिए और उसे कभी गुरुग्राम तो कभी मानेसर स्थित निगम कार्यालय में घुमाता रहा। चार-पांच माह तक जब नौकरी नहीं मिली तो उन्होंने अमन से अपने रुपये वापस मांगे। दो मार्च 2021 को अमन ने नौकरी के लिए 50 हजार रुपये और मांगे। 50 हजार रुपये लेने के बाद एक लैटर व पहचान पत्र देकर नौकरी ज्वाइन करने के लिए कहा। वह लैटर और पहचान पत्र लेकर गुरुग्राम नगर निगम कार्यालय में गए तो पता लगा कि दोनों ही कागजात फर्जी हैं। उन्होंने आरोपी से बात की तो उसने मोटरसाइकिल फाइनेंस कराने पर नौकरी लगाने का आश्वासन दिया। आरोपी ने उससे 30 हजार रुपये मंगाए और कागजात पर हस्ताक्षर करा कर एजेंसी से मोटरसाइकिल फाइनेंस करा दी और मोटरसाइकिल भी अपने पास ही रख ली। न तो उनसे लिए रुपये लौटाए और न ही नौकरी मिली। रवि ने मामले की शिकायत पुलिस अधीक्षक को दी। एसपी के निर्देश के बाद शहर थाना पुलिस ने आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू की है।

.


निकाय चुनाव : हांसी-बरवाला में 18 प्रत्याशी प्रधान और 200 पार्षद के लिए मैदान में डटे

9वीं व 11वीं कक्षा के अंक अपलोड करने का दिया मौका: बोर्ड अध्यक्ष