in

दो वाहनों के बीच में बुरी तरह क्षतिग्रस्त कार में दो घंटे फंसे रे ससुर व पुत्रवधू


ख़बर सुनें

दो वाहनों के बीच फंस कर बुरी तरह क्षतिग्रस्त कार में ससुर व पुत्रवधू दो घंटे तक फंसे रहे। पुलिस ने कड़ी मशक्कत के बाद दोनों को बाहर निकालकर अस्पताल पहुंचाया। इलाज के बाद दोनों खतरे से बाहर बताए गए हैं। हादसा दिल्ली-जयपुर हाईवे नंबर-48 पर जयसिंहपुर खेड़ा बॉर्डर के निकट सोमवार तड़के हुआ।
बताया जाता है कि दिल्ली-जयपुर हाईवे नंबर-48 पर जयसिंहपुर खेड़ा बॉर्डर के निकट सोमवार को भोर में एक कार दो वाहनों के बीच में आ गई और बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई। कार में सवार एक व्यक्ति व उनकी पुत्रवधू फंस गए। पुलिस ने करीब दो घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद दोनों को बाहर निकाल कर अस्पताल पहुंचाया।
पुलिस के अनुसार राजस्थान के नीमराणा निवासी विनोद कुमार सोमवार की तड़के अपनी कार में पुत्रवधू सुमित्रा के साथ भिवाड़ी से नीमराणा जा रहे थे। जयसिंहपुर खेड़ा बॉर्डर के निकट पहुंचे तो उनकी कार आगे चल रहे वाहन से टकरा गई। इसी दौरान पीछे से एक अन्य वाहन ने भी उनकी कार को टक्कर मार दी। दोनों ओर से टक्कर लगने से कार पिचक गई और विनोद कुमार व सुमित्रा फंस गए। दोनों वाहन चालक मौके से फरार हो गए। सूचना के बाद पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने क्रेन की मदद से दोनों वाहनों को अलग कर बीच में फंसी कार को बाहर निकाला। पुलिस ने दो घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद ससुर व पुत्रवधू को कार से बाहर निकाला और यहां के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया। हादसे में विनोद कुमार के दोनों पैरों में फ्रैक्चर हो गया।

दो वाहनों के बीच फंस कर बुरी तरह क्षतिग्रस्त कार में ससुर व पुत्रवधू दो घंटे तक फंसे रहे। पुलिस ने कड़ी मशक्कत के बाद दोनों को बाहर निकालकर अस्पताल पहुंचाया। इलाज के बाद दोनों खतरे से बाहर बताए गए हैं। हादसा दिल्ली-जयपुर हाईवे नंबर-48 पर जयसिंहपुर खेड़ा बॉर्डर के निकट सोमवार तड़के हुआ।

बताया जाता है कि दिल्ली-जयपुर हाईवे नंबर-48 पर जयसिंहपुर खेड़ा बॉर्डर के निकट सोमवार को भोर में एक कार दो वाहनों के बीच में आ गई और बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई। कार में सवार एक व्यक्ति व उनकी पुत्रवधू फंस गए। पुलिस ने करीब दो घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद दोनों को बाहर निकाल कर अस्पताल पहुंचाया।

पुलिस के अनुसार राजस्थान के नीमराणा निवासी विनोद कुमार सोमवार की तड़के अपनी कार में पुत्रवधू सुमित्रा के साथ भिवाड़ी से नीमराणा जा रहे थे। जयसिंहपुर खेड़ा बॉर्डर के निकट पहुंचे तो उनकी कार आगे चल रहे वाहन से टकरा गई। इसी दौरान पीछे से एक अन्य वाहन ने भी उनकी कार को टक्कर मार दी। दोनों ओर से टक्कर लगने से कार पिचक गई और विनोद कुमार व सुमित्रा फंस गए। दोनों वाहन चालक मौके से फरार हो गए। सूचना के बाद पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने क्रेन की मदद से दोनों वाहनों को अलग कर बीच में फंसी कार को बाहर निकाला। पुलिस ने दो घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद ससुर व पुत्रवधू को कार से बाहर निकाला और यहां के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया। हादसे में विनोद कुमार के दोनों पैरों में फ्रैक्चर हो गया।

.


नहीं पहना हेलमेट, बांधा दुपट्टा तो कटवाने पड़े चालान

Sidhu Moosewala: सिद्धू मूसेवाला को श्रद्धांजलि देने मूसा पहुंचे राहुल गांधी, परिवार को दी सांत्वना