दो बार की ओलंपिक चैंपियन एथलीट ने समलैंगिक होने की बात क्यों छुपाई? बताई वजह


लंदन. ब्रिटेन की दो बार की ओलंपिक चैंपियन महिला एथलीट डेम कैली होम्स (Dame Kelly Holmes) का कहना है कि वर्षों तक छिपाने के बाद सैमलैंगिक होने का खुलासा करके वह राहत महसूस कर रही हैं. डेम कैली होम्स ने 2004 एथेंस ग्रीष्मकालीन ओलंपिक में 1500 और 800 मीटर स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीता था. दो बार की ओलंपिक स्वर्ण पदक विजेता 52 साल की होम्स ने साथ ही खुलासा किया कि उन्हें मानसिक स्वास्थ्य को लेकर जूझना पड़ा क्योंकि महिलाओं के रॉयल आर्मी कोर (Women’s Royal Army Corps secret) का हिस्सा होने के दौरान उन्हें समलैंगिक होने की बात छिपानी पड़ी. होम्स ने कहा कि कोर्ट मार्शल के डर के कारण उन्होंने समलैंगिक होने की बात छिपाई.

वर्ष 2000 तक सैमलैंगिक लोगों का ब्रिटिश आर्मी, रॉयल नेवी और रॉयल एयरफोर्स का हिस्सा होना गैरकानूनी था लेकिन अब कानून बदल चुका है. होम्स ने ‘संडे मिरर’ समाचार पत्र से कहा, ‘मुझे अब अपने लिए यह करना था. यह मेरा फैसला था. इस बारे में बात करने को लेकर मैं नर्वस थी. अब महसूस हो रहा है कि मेरे रोमांच का कोई ठिकाना नहीं है. कभी कभी राहत महसूस करने के कारण मैं रोने लगती हूं. इसका खुलासा करने के साथ ही मेरे अंदर से डर खत्म हो गया.’

यह भी पढ़ें:Chess Olympiad Torch: पीएम मोदी ने रंगारंग कार्यक्रम में लॉन्च की शतरंज ओलंपियाड की मशाल

नीरज चोपड़ा ने कुओर्तान गेम्स में चैंपियन बनने के बाद बताया अपना अगला प्लान

साल 2005 में डेम कैली होम्स ने एथलेटिक्स से संन्यास की घोषणा की थी . होम्स के इस इंटरव्यू के बाद सोशल मीडिया पर उनके सपोर्ट में लोगों को तांता लगा हुआ है. कई लोग उनकी हिम्मत की सराहना कर रहे हैं. लोगों का कहना है कि इससे युवा एथलीटों का अपनी सैक्सुआलिटी को लेकर आत्मविश्वास बढ़ेगा.

(इनपुट-भाषा)

Tags: Athletics, Sports news

.


What do you think?

Written by Haryanacircle

ईएसआईसी वर्ष के अंत तक पूरे भारत को ईएसआई योजना के तहत कवर करेगा

Team India: भारत ने प्लेइंग XI में बदलाव किए बिना खेले लगातार 5 टी20 मैच, जानिए बाकी टीमों की स्थिति