दो गोल्ड झटके, इवेंट छोड़ क्रोएशिया के लिए रवाना


ख़बर सुनें

अंशु शर्मा
अंबाला। खेलो इंडिया के तहत जिम्नास्टिक प्रतियोगिता में त्रिपुरा की जिम्नास्ट प्रोतिष्ठा सामंत ने सोमवार को दो स्वर्ण पदकों पर कब्जा जमाया। प्रोतिष्ठा उस समय पूरे मैदान में चर्चा का विषय बन गई जब वो क्रोएशिया में आयोजित होने वाली वर्ल्ड चैलेंज कप के लिए अपने दूसरे इवेंट छोड़कर रवाना हो गई।
दरअसल, नौ जून को क्रोएशिया में प्रतियोगिता होनी है। इससे पहले प्रोतिष्ठा दिल्ली में आयोजित नेशनल कैंप में हिस्सा ले रही थी। खेलो इंडिया के लिए वह कैंप छोड़कर आई थी। इस दौरान प्रोतिष्ठा ने अपने बेहतरीन प्रदर्शन की बदौलत वॉलटिंग टेबल, ऑल राउंड इंडिविजुअल में गोल्ड मैडल झटके। प्रोतिष्ठा का फ्लोर इवेंट के लिए सात जून को मुकाबला होना था, लेकिन वर्ल्ड चैलेंज कप के लिए देरी होने के कारण उसे जाना पड़ा। यहां तक कि ट्रेन का समय होने के कारण वह एक मेडल की अवार्ड सेरेमनी का भी हिस्सा नहीं बन सकी। यह नजारा जिसने भी देखा, उसने प्रोतिष्ठा को गले लगाकर क्रोएशिया जाने के लिए बधाई दी और मिठाई खिलाकर मुंह मिठा करवाया। यहां तक कि प्रोतिष्ठा को लेने के लिए उनके नेशनल कोच सहित माता-पिता भी अंबाला पहुंच गए थे। संवाद
खेलो इंडिया में झटके थे चार गोल्ड, नौ बार नेशनल चैंपियन
प्रोतिष्ठा के पिता सुमन सामंत ने बताया कि वह प्राइवेट कंपनी में नौकरी करते हैं और उनकी केवल एक ही बेटी है। चार साल की उम्र से ही प्रोतिष्ठा जिम्नास्टिक कर रही हैं। 2019 में पुणे में आयोजित खेलो इंडिया में भी चार गोल्ड मेडल झटके थे। उससे पहले वह नौ बार नेशनल चैंपियन रह चुकी हैं। पहले भी इंटरनेशनल लेवल पर अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन कर चुकी हैं। इन्हीं उपलब्धियों की बदौलत अब क्रोएशिया में होने वाली वर्ल्ड चैलेंज कप में उनका चयन हुआ है।

अंशु शर्मा

अंबाला। खेलो इंडिया के तहत जिम्नास्टिक प्रतियोगिता में त्रिपुरा की जिम्नास्ट प्रोतिष्ठा सामंत ने सोमवार को दो स्वर्ण पदकों पर कब्जा जमाया। प्रोतिष्ठा उस समय पूरे मैदान में चर्चा का विषय बन गई जब वो क्रोएशिया में आयोजित होने वाली वर्ल्ड चैलेंज कप के लिए अपने दूसरे इवेंट छोड़कर रवाना हो गई।

दरअसल, नौ जून को क्रोएशिया में प्रतियोगिता होनी है। इससे पहले प्रोतिष्ठा दिल्ली में आयोजित नेशनल कैंप में हिस्सा ले रही थी। खेलो इंडिया के लिए वह कैंप छोड़कर आई थी। इस दौरान प्रोतिष्ठा ने अपने बेहतरीन प्रदर्शन की बदौलत वॉलटिंग टेबल, ऑल राउंड इंडिविजुअल में गोल्ड मैडल झटके। प्रोतिष्ठा का फ्लोर इवेंट के लिए सात जून को मुकाबला होना था, लेकिन वर्ल्ड चैलेंज कप के लिए देरी होने के कारण उसे जाना पड़ा। यहां तक कि ट्रेन का समय होने के कारण वह एक मेडल की अवार्ड सेरेमनी का भी हिस्सा नहीं बन सकी। यह नजारा जिसने भी देखा, उसने प्रोतिष्ठा को गले लगाकर क्रोएशिया जाने के लिए बधाई दी और मिठाई खिलाकर मुंह मिठा करवाया। यहां तक कि प्रोतिष्ठा को लेने के लिए उनके नेशनल कोच सहित माता-पिता भी अंबाला पहुंच गए थे। संवाद

खेलो इंडिया में झटके थे चार गोल्ड, नौ बार नेशनल चैंपियन

प्रोतिष्ठा के पिता सुमन सामंत ने बताया कि वह प्राइवेट कंपनी में नौकरी करते हैं और उनकी केवल एक ही बेटी है। चार साल की उम्र से ही प्रोतिष्ठा जिम्नास्टिक कर रही हैं। 2019 में पुणे में आयोजित खेलो इंडिया में भी चार गोल्ड मेडल झटके थे। उससे पहले वह नौ बार नेशनल चैंपियन रह चुकी हैं। पहले भी इंटरनेशनल लेवल पर अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन कर चुकी हैं। इन्हीं उपलब्धियों की बदौलत अब क्रोएशिया में होने वाली वर्ल्ड चैलेंज कप में उनका चयन हुआ है।

.


What do you think?

Written by Haryanacircle

Haryana: कांग्रेस MLA कुलदीप बिश्नोई को जान से मारने की धमकी, कहा- सुधर जा वरना मुसेवाला जैसा हाल होगा

Punjab: भ्रष्टाचार मामले में पूर्व कांग्रेसी मंत्री साधु सिंह धर्मसोत गिरफ्तार, संगत गिलजियां पर भी एफआईआर