in

दुकानदारों ने रेलवे रोड पर रखा खोखा, ढाई घंटे बाद उठा ले गई पुलिस, जल्द हो सकती है धरना समाप्ति की घोषणा


ख़बर सुनें

महेंद्रगढ़। शहर के रेलवे रोड पर दुकानदारों ने अनिश्चितकालीन धरने के 66वें तथा सांकेतिक भूख हड़ताल के 56वें दिन चुनाव कार्यालय खोलने के लिए रेलवे रोड पर एक खोखा रख दिया। इसके महज ढाई घंटे बाद पुलिस कर्मचारी आकर खोखे को उठाकर ले गए। धरने पर बैठे दुकानदारों की मानें तो अब चुनावों को लेकर जल्द ही धरने एवं सांकेतिक भूख हड़ताल को खत्म करने की घोषणा की जा सकती है। बुधवार को इंद्रजीत व महाबीर सांकेतिक भूख हड़ताल पर बैठे।
नगर पालिका एवं पुलिस की संयुक्त कार्रवाई में 31 मार्च को रेलवे रोड पर 29 खोखों को तोड़ दिया गया था। इसके बाद दुकानदारों ने खोखे रखने के लिए जगह उपलब्ध कराने की मांग को लेकर अनिश्चितकालीन धरना एवं भूख हड़ताल शुरू कर दी थी। अनेक राजनीति दलों व सामाजिक संगठनों के लोगों ने खोखा दुकानदारों के धरने को अपना समर्थन देते हुए सहयोग का आश्वासन देने का सिलसिला शुरू कर दिया था। लेकिन अनिश्चितकालीन धरने को 66 दिन का समय बीतने के बावजूद भी सरकार व प्रशासन की ओर से कोई ठोस कदम नहीं उठाने से नाराज दुकानदारों ने चुनावों का भी बहिष्कार करने की घोषणा कर दी थी। अब बुधवार को एक चेयरमैन उम्मीदवार का कार्यालय खोलने के लिए दुकानदारों ने एक खोखा रखा था जिसे ढाई घंटे बाद पुलिस उठा ले गई।

महेंद्रगढ़। शहर के रेलवे रोड पर दुकानदारों ने अनिश्चितकालीन धरने के 66वें तथा सांकेतिक भूख हड़ताल के 56वें दिन चुनाव कार्यालय खोलने के लिए रेलवे रोड पर एक खोखा रख दिया। इसके महज ढाई घंटे बाद पुलिस कर्मचारी आकर खोखे को उठाकर ले गए। धरने पर बैठे दुकानदारों की मानें तो अब चुनावों को लेकर जल्द ही धरने एवं सांकेतिक भूख हड़ताल को खत्म करने की घोषणा की जा सकती है। बुधवार को इंद्रजीत व महाबीर सांकेतिक भूख हड़ताल पर बैठे।

नगर पालिका एवं पुलिस की संयुक्त कार्रवाई में 31 मार्च को रेलवे रोड पर 29 खोखों को तोड़ दिया गया था। इसके बाद दुकानदारों ने खोखे रखने के लिए जगह उपलब्ध कराने की मांग को लेकर अनिश्चितकालीन धरना एवं भूख हड़ताल शुरू कर दी थी। अनेक राजनीति दलों व सामाजिक संगठनों के लोगों ने खोखा दुकानदारों के धरने को अपना समर्थन देते हुए सहयोग का आश्वासन देने का सिलसिला शुरू कर दिया था। लेकिन अनिश्चितकालीन धरने को 66 दिन का समय बीतने के बावजूद भी सरकार व प्रशासन की ओर से कोई ठोस कदम नहीं उठाने से नाराज दुकानदारों ने चुनावों का भी बहिष्कार करने की घोषणा कर दी थी। अब बुधवार को एक चेयरमैन उम्मीदवार का कार्यालय खोलने के लिए दुकानदारों ने एक खोखा रखा था जिसे ढाई घंटे बाद पुलिस उठा ले गई।

.


चेयरमैन पद के छह तथा पार्षद पद के 56 उम्मीदवार डटे हैं चुनाव मैदान में

बूथों पर करें बिजली, पानी और छाया की व्यवस्था : बिढान