in

दिव्या इंदौरा हत्याकांड : मर्डर के बाद सबूत मिटाने को शव जलाना चाहते थे आरोपी, नग्न हालत में मिली थी लाश


हरियाणवी सिंगर संगीता उर्फ दिव्या इंदौरा (Divya Indora) की हत्या में शामिल आरोपी रवि और अनिल से पूछताछ के बाद पुलिस ने वारदात में प्रयुक्त कार बरामद कर ली है। आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि उनकी योजना हत्या के बाद शव जला देने की थी। आरोपियों ने बताया कि सही जगह और समय नहीं मिलने से वे सिर्फ संगीता के कपड़े ही जला सके थे, जबकि उसके नग्न शव को रोहतक के महम इलाके में दफनाकर फरार हो गए। पुलिस ने गड्ढा खोदने में प्रयुक्त फावड़ा भी बरामद कर लिया है।

पुलिस अधिकारी ने बताया कि जाफरपुर कलां और स्पेशल स्टाफ ने आरोपियों की निशानदेही पर वारदात में प्रयुक्त कार व फावड़ा हरियाणा से बरामद किया है। कार का बंदोबस्त अनिल ने किया था। आरोपी म्यूजिक एल्बम शूट करने बहाने से संगीता को दिल्ली से रोहतक ले गए थे। रास्ते में उसकी गला घोंटकर हत्या कर दी, जिसके बाद उसके कपड़ों को जला दिया। वे उसे भी जलाकर सभी सबूत खत्म कर देना चाहते थे।

हरियाणवी गायिका को हत्या से पहले दी थी नींद की गोली

संगीता उर्फ दिव्या इंदौरा की हत्या के मामले की जांच में सामने आया है कि गायिका का गला घोंटने से पहले उसे नींद की गोलियां दी गई थीं। हरियाणवी गायिका बीते 11 मई से लापता थी। पुलिस ने हत्या के आरोप में दो लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस को दिव्या का शव हरियाणा के महम से रविवार को मिला और उसकी हत्या के आरोप में रवि और अनिल नाम के दो आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। हत्या के बाद शव को दफना दिया गया था।

संबंधित खबरें

गायिका के परिजन दिल्ली के जाफरपुर कलां इलाके में रहते हैं और उन्होंने उसके लापता होने के बारे में पुलिस के पास गत 14 मई को शिकायत दर्ज कराई थी। आरोपियों ने पूछताछ में खुलासा किया कि उन्होंने गायिका की हत्या की साजिश रची थी। जांच में सामने आया है कि इस घटना का मुख्य साजिशकर्ता रवि है। उसके इशारे पर अनिल दिल्ली आया, पीड़िता को कार में बिठाया और गन्ने के रस में नींद की गोलियां मिलाकर उसे पिला दीं।

उन्होंने हरियाणा के कलानौर स्थित गुलाटी ढाबे पर खाना भी खाया। जब वह महम पहुंचा तो रवि भी आ गया और बेहोश पड़ी गायिका का गला घोंट दिया। बाद में दोनों ने शव को दफना दिया। अनिल ने रवि से कहा था कि वह गायिका की हत्या नहीं कर सकता, जिसके बाद रवि ने उसे दिल्ली से लाने को कहा था। पुलिस ने कहा है कि प्रारंभिक जांच से पता चला है कि आरोपी के साथ गायिका के तनावपूर्ण संबंधों को लेकर यह घटना हुई। गायिका के भाई ने कहा कि आज उसकी बहन 29 साल की हो जाती।

म्यूजिक एल्बम में काम दिलाने का झांसा दिया

अभी तक की पूछताछ में सामने आया है कि दोनों आरोपियों ने साजिश के तहत युवती को साथ में चलने के लिए कहा था। आरोपियों ने उसे एक म्यूजिक एलबम में काम दिलाने की बात कही थी, जिससे युवती उनके झांसे में आ गई और साथ चलने को राजी हुई। आरोपी रोहित और उसका दोस्त दिव्या को साथ लेकर भिवानी गए थे। कई दिनों तक जब दिव्या के बारे में कोई सूचना नहीं मिली और उसका फोन लगातार बंद जा रहा था तो 14 मई को उसके परिजनों ने जाफरपुर कलां थाने में अपहरण की शिकायत दी।

गौरतलब है कि गायिका के परिजनों ने बेटी के लापता होने की शिकायत जाफरपुर कलां पुलिस को दी थी। गत 11 मई को संगीता घर से एक युवक के साथ गई थी, जिसके बाद वापस नहीं लौटी। उसका फोन भी लगातार बंद रहा। पुलिस ने केस दर्ज कर संगीता का फोन ट्रेसिंग पर लगा दिया। जैसे ही आरोपियों ने संगीता के फोन को चालू किया, पुलिस ने उन्हें ट्रेस कर गत 22 मई को दबोच लिया। पुलिस ने आरोपियों की निशानदेही पर ही गायिका का शव महम इलाके से बरामद किया।

.


निजीकरण के विरोध में कर्मचारियों ने निकाला जुलूस, लघु सचिवालय पर सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा की जिला इकाई ने किया प्रदर्शन

विज्ञापन तकनीक के प्रभुत्व पर ब्रिटेन की ताजा जांच के साथ Google प्रभावित