in

दहेज में बाइक न मिलने पर विवाहिता को जहर देकर मार डाला


ख़बर सुनें

हथीन। गांव अकबरपुर नाटोल में दहेज में बाइक नहीं मिलने पर शीतल को जहर देकर मार डाला। विवाहिता की 15 माह पहले ही शादी हुई थी। हथीन थाना पुलिस ने शीतल के भाई की शिकायत पर पति सहित चार नामजद के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया।
मंडकौला चौकी में कार्यरत जांच अधिकारी सुरेंद्र सिंह के अनुसार, गांव अछेजा निवासी जगवीर ने पुलिस को दी शिकायत में कहा कि उन्होंने अपनी बहन शीतल का विवाह 16 फरवरी 2021 को अकबरपुर नाटोल निवासी सुधीर के साथ किया था। शादी में दहेज से ससुराल पक्ष के लोग संतुष्ट नहीं थे। उसकी बहन ने कई बार इस बारे में शिकायत की थी। ससुराल पक्ष के लोग दहेज में बाइक की मांग कर रहे थे। 21 मई को उन्हें सूचना मिली कि उसकी बहन गुरुनानक अस्पताल, पलवल में भर्ती है। 22 मई को उसकी इलाज के दौरान मौत हो गई। जगवीर ने मामला दर्ज कराया है कि उसकी बहन को जहर देकर मारा गया है। जांच अधिकारी सुरेंद्र सिंह ने बताया कि मामले में पति सुधीर, ससुर कुमरपाल, सास बाला और जेठ विनोद के खिलाफ दहेज हत्या का मामला दर्ज किया गया है। फिलहाल, सभी आरोपी फरार हैं। आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए दबिश दी जा रही है।

हथीन। गांव अकबरपुर नाटोल में दहेज में बाइक नहीं मिलने पर शीतल को जहर देकर मार डाला। विवाहिता की 15 माह पहले ही शादी हुई थी। हथीन थाना पुलिस ने शीतल के भाई की शिकायत पर पति सहित चार नामजद के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया।

मंडकौला चौकी में कार्यरत जांच अधिकारी सुरेंद्र सिंह के अनुसार, गांव अछेजा निवासी जगवीर ने पुलिस को दी शिकायत में कहा कि उन्होंने अपनी बहन शीतल का विवाह 16 फरवरी 2021 को अकबरपुर नाटोल निवासी सुधीर के साथ किया था। शादी में दहेज से ससुराल पक्ष के लोग संतुष्ट नहीं थे। उसकी बहन ने कई बार इस बारे में शिकायत की थी। ससुराल पक्ष के लोग दहेज में बाइक की मांग कर रहे थे। 21 मई को उन्हें सूचना मिली कि उसकी बहन गुरुनानक अस्पताल, पलवल में भर्ती है। 22 मई को उसकी इलाज के दौरान मौत हो गई। जगवीर ने मामला दर्ज कराया है कि उसकी बहन को जहर देकर मारा गया है। जांच अधिकारी सुरेंद्र सिंह ने बताया कि मामले में पति सुधीर, ससुर कुमरपाल, सास बाला और जेठ विनोद के खिलाफ दहेज हत्या का मामला दर्ज किया गया है। फिलहाल, सभी आरोपी फरार हैं। आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए दबिश दी जा रही है।

.


मनरेगा घोटाला : 35 गांवों में 69 विकास कार्यों में बरती गई थी अनियमितताएं

मानदेय नहीं मिलने पर आशा कार्यकर्ताओं का प्रदर्शन