दमखम दिखा रहे 8500 खिलाड़ी


ख़बर सुनें

संवाद न्यूज एजेंसी
कुरुक्षेत्र। खेलो इंडिया गेम्स 2021 में खिलाड़ी 545 स्वर्ण, 545 रजत और 776 कांस्य पदक के लिए अपना दमखम दिखा रहे हैं। इस खेल महाकुंभ में देशभर से आए 8500 खिलाड़ी शामिल है। सभी खिलाड़ी पूरे उत्साह और जोश के साथ प्रदर्शन कर रहे हैं।
उपायुक्त मुकुल कुमार रविवार को दूसरे दिन के सायं कालीन सत्र का शुभारंभ करने पहुंचे थे। उपायुक्त और जिला खेल एवं युवा कार्यक्रम अधिकारी रा निवास ने खिलाड़ियों से हाथ मिलाकर उनका परिचय प्राप्त किया। इसके बाद पूल ए की टीम ओडिशा और चंडीगढ़ के मध्य मैच का शुभारंभ कराया।
उपायुक्त ने कहा कि प्रदेश को इस प्रतियोगिता की मेजबानी करने का यह सुनहरा अवसर मिला है। इससे पहले भी खेलो इंडिया के तीन संस्करण आयोजित किए जा चुके हैं। खिलाड़ियों के ठहरने के लिए कम से कम तीन सितारा होटलों में व्यवस्था की गई है। उन्हें उच्च गुणवत्ता वाला पौष्टिक भोजन परोसा जा रहा है। होटल से स्टेडियम तक उनकी सुरक्षित यात्रा के लिए वाहनों की भी पर्याप्त व्यवस्था की गई है।
उन्होंने बताया कि प्रत्येक स्थल पर चिकित्सकों, नर्सों, फिजियोथेरेपिस्ट और एंबुलेंस की व्यवस्था की गई है। इसके अलावा अत्याधुनिक सुविधाओं वाला रिहैब सेंटर बनाया गया है। यह उत्तर भारत में अपनी तरह का अनोखा सेंटर है, जिसमें खिलाड़ियों को चोट से जल्द उबारने के लिए सभी व्यवस्था की गई है। इस प्रतियोगिता में जिले के 39 खिलाड़ी विभिन्न खेलों में हिस्सा ले रहे हैं। इनमें सबसे अधिक 16 खिलाड़ी गतका खेल से संबंधित हैं।
पहली बार मशाल रिले का आयोजन
खेलो इंडिया गेम्स के इतिहास में पहली बार हरियाणा ने पूरे राज्य में मशाल रिले का आयोजन किया है। गत माह से इन खेलों के तीन शुभंकर पूरे राज्य में आकर्षण का केंद्र रहे। राहगिरी नामक वाहन के माध्यम से इसे पूरे राज्य में घुमाया गया है।

संवाद न्यूज एजेंसी

कुरुक्षेत्र। खेलो इंडिया गेम्स 2021 में खिलाड़ी 545 स्वर्ण, 545 रजत और 776 कांस्य पदक के लिए अपना दमखम दिखा रहे हैं। इस खेल महाकुंभ में देशभर से आए 8500 खिलाड़ी शामिल है। सभी खिलाड़ी पूरे उत्साह और जोश के साथ प्रदर्शन कर रहे हैं।

उपायुक्त मुकुल कुमार रविवार को दूसरे दिन के सायं कालीन सत्र का शुभारंभ करने पहुंचे थे। उपायुक्त और जिला खेल एवं युवा कार्यक्रम अधिकारी रा निवास ने खिलाड़ियों से हाथ मिलाकर उनका परिचय प्राप्त किया। इसके बाद पूल ए की टीम ओडिशा और चंडीगढ़ के मध्य मैच का शुभारंभ कराया।

उपायुक्त ने कहा कि प्रदेश को इस प्रतियोगिता की मेजबानी करने का यह सुनहरा अवसर मिला है। इससे पहले भी खेलो इंडिया के तीन संस्करण आयोजित किए जा चुके हैं। खिलाड़ियों के ठहरने के लिए कम से कम तीन सितारा होटलों में व्यवस्था की गई है। उन्हें उच्च गुणवत्ता वाला पौष्टिक भोजन परोसा जा रहा है। होटल से स्टेडियम तक उनकी सुरक्षित यात्रा के लिए वाहनों की भी पर्याप्त व्यवस्था की गई है।

उन्होंने बताया कि प्रत्येक स्थल पर चिकित्सकों, नर्सों, फिजियोथेरेपिस्ट और एंबुलेंस की व्यवस्था की गई है। इसके अलावा अत्याधुनिक सुविधाओं वाला रिहैब सेंटर बनाया गया है। यह उत्तर भारत में अपनी तरह का अनोखा सेंटर है, जिसमें खिलाड़ियों को चोट से जल्द उबारने के लिए सभी व्यवस्था की गई है। इस प्रतियोगिता में जिले के 39 खिलाड़ी विभिन्न खेलों में हिस्सा ले रहे हैं। इनमें सबसे अधिक 16 खिलाड़ी गतका खेल से संबंधित हैं।

पहली बार मशाल रिले का आयोजन

खेलो इंडिया गेम्स के इतिहास में पहली बार हरियाणा ने पूरे राज्य में मशाल रिले का आयोजन किया है। गत माह से इन खेलों के तीन शुभंकर पूरे राज्य में आकर्षण का केंद्र रहे। राहगिरी नामक वाहन के माध्यम से इसे पूरे राज्य में घुमाया गया है।

.


What do you think?

Written by Haryanacircle

नरू बाबा की समाधि पर उमड़ी श्रद्धा

वन विभाग की टीम ने नाकाबंदी कर खैर की लकड़ी से भरी कार पकड़ी