in

तीन दिन बाद नरवाना ब्रांच नहर से मिला भिवानी खेड़ा के युवक का शव


ख़बर सुनें

तीन दिन से लापता भिवानी खेड़ा के युवक का शव नरवाना ब्रांच नहर से बरामद हुआ है। युवक मानसिक रूप से परेशान बताया जा रहा था। इसी परेशानी के चलते उसने नहर में कूद कर आत्महत्या कर ली। पुलिस ने इत्तेफाकिया रपट दर्ज करके शव का पोस्टमार्टम कराकर परिजनों के हवाले कर दिया।
गांव भिवानी खेड़ा वासी जगदीश ने बताया कि उसका छोटा भाई कृष्ण कुमार रेलवे रोड पर एक बिजली की दुकान पर काम करता था। वह पिछले कुछ दिनों से मानसिक रूप से परेशान था। दो जुलाई को वह घर से कहीं चला गया, मगर वह वापस नहीं आया था। उन्होंने अपने स्तर पर उसकी काफी तलाश की, मगर उसका कोई सुराग नहीं लगा। वह लोग नहर के आसपास उसकी तलाश करने के लिए गए तो उन्हें गांव दबखेड़ी के समीप उसकी चप्पल मिली थी। आशंका के चलते वह नहर पर लगातार तलाश कर रहे थे।
उन्होंने गोताखोर प्रगट सिंह से संपर्क किया। गोताखोर प्रगट सिंह ने नहर में सर्च अभियान चलाया। मंगलवार दोपहर को गोताखोर प्रगट सिंह की टीम मनिंद्र, सिंदर व गुरविंद्र को नरवाना ब्रांच नहर में ज्योतिसर के समीप एक शव बहता दिखाई दिया। टीम ने उसे नहर से बाहर निकाल कर उसकी सूचना पुलिस को दी।
सूचना पाकर केयूके थाना पुलिस और परिजन मौके पर पहुंचे। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर उसकी शिनाख्त कराई। परिजनों ने कृष्ण कुमार की मौत के मामले में किसी प्रकार का शक जाहिर नहीं किया है। पुलिस ने इत्तेफाकिया रपट दर्ज करके शव का पोस्टमार्टम कराकर परिजनों के हवाले कर दिया।

तीन दिन से लापता भिवानी खेड़ा के युवक का शव नरवाना ब्रांच नहर से बरामद हुआ है। युवक मानसिक रूप से परेशान बताया जा रहा था। इसी परेशानी के चलते उसने नहर में कूद कर आत्महत्या कर ली। पुलिस ने इत्तेफाकिया रपट दर्ज करके शव का पोस्टमार्टम कराकर परिजनों के हवाले कर दिया।

गांव भिवानी खेड़ा वासी जगदीश ने बताया कि उसका छोटा भाई कृष्ण कुमार रेलवे रोड पर एक बिजली की दुकान पर काम करता था। वह पिछले कुछ दिनों से मानसिक रूप से परेशान था। दो जुलाई को वह घर से कहीं चला गया, मगर वह वापस नहीं आया था। उन्होंने अपने स्तर पर उसकी काफी तलाश की, मगर उसका कोई सुराग नहीं लगा। वह लोग नहर के आसपास उसकी तलाश करने के लिए गए तो उन्हें गांव दबखेड़ी के समीप उसकी चप्पल मिली थी। आशंका के चलते वह नहर पर लगातार तलाश कर रहे थे।

उन्होंने गोताखोर प्रगट सिंह से संपर्क किया। गोताखोर प्रगट सिंह ने नहर में सर्च अभियान चलाया। मंगलवार दोपहर को गोताखोर प्रगट सिंह की टीम मनिंद्र, सिंदर व गुरविंद्र को नरवाना ब्रांच नहर में ज्योतिसर के समीप एक शव बहता दिखाई दिया। टीम ने उसे नहर से बाहर निकाल कर उसकी सूचना पुलिस को दी।

सूचना पाकर केयूके थाना पुलिस और परिजन मौके पर पहुंचे। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर उसकी शिनाख्त कराई। परिजनों ने कृष्ण कुमार की मौत के मामले में किसी प्रकार का शक जाहिर नहीं किया है। पुलिस ने इत्तेफाकिया रपट दर्ज करके शव का पोस्टमार्टम कराकर परिजनों के हवाले कर दिया।

.


मेडिकल संचालक पर दुकान में घुसकर हमला कर छीने 25 हजार, तीन नामजद

देसी कट्टा व कारतूस के साथ बाइक चालक काबू, भेजा जेल