in

तापमान में हो रही लगातार बढ़ोतरी से लोग परेशान, तापमान पहुंचा 45 पार


ख़बर सुनें

तापमान में लगातार हो रही बढ़ोतरी से जनजीवन प्रभावित हो रहा है। करीब पंद्रह दिन बाद शनिवार को अधिकतम तापमान 45 डिग्री सेल्सियस से अधिक पहुंच गया। अधिकतम तापमान 45.5 और न्यूनतम 26.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। इससे पहले 20 मई को अधिकतम 46 और न्यूनतम 28.8 डिग्री सेल्सियस था। इसके अलावा इसी वर्ष पिछले 25-30 सालों का 15 मई को 47.5 डिग्री सेल्सियस के साथ सबसे गर्म दिन रहा है। इसके बाद तापमान में आंशिक कमी आने लगी लेकिन पिछले चार दिनों से तापमान 43 डिग्री सेल्सियस से अधिक ही चल रहा है। ऐसे में दिन में भीषण गर्मी तो रात को उमस ने हर किसी को परेशान किया हुआ है। पिछले साल की तुलना की जाए तो चार जून को अधिकतम तापमान 40.5 और न्यूनतम 26.5 डिग्री सेल्सियस था।
इस बार गर्मी कुछ ज्यादा ही पड़ रही है। इस दौरान बिजली संकट भी परेशानियों को बढ़ाने में सहायक बना हुआ है। लगातार पड़ रही गर्मी से बिजली के ट्रांसफार्मरों के तपने से घोषित और अघोषित कट लग रहे हैं।
लगातार पड़ रही गर्मी के चलते स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने लोगों से लगातार पानी और अन्य पेयजल पदार्थ का सेवन करते रहने की सलाह दी है। दिन में 12 से तीन बजे के दौरान बाहर निकलने से बचने और बहुत आवश्यकता होने पर पूरी बाजू के कपड़े, टोपी, आंखों पर चश्मा पहनने और छतरी ओढ़कर निकलने की सलाह दी है। इसके अलावा खाली पेट नहीं रहने तथा किसी भी प्रकार की तकलीफ होने पर चिकित्सक से जरूर परामर्श लेना चाहिए।
छह जून तक मौसम परिवर्तनशील परंतु खुश्क व गर्म रहने की संभावना है। इस दौरान दिन के तापमान में बढ़ोतरी होने के साथ बीच में शाम के समय हल्के बादल व कई स्थानों पर धूलभरी गर्म हवाएं चलने की भी संभावना है।
– डॉ. धर्मबीर यादव, मौसम वैज्ञानिक, बावल कृषि अनुसंधान केंद्र।

तापमान में लगातार हो रही बढ़ोतरी से जनजीवन प्रभावित हो रहा है। करीब पंद्रह दिन बाद शनिवार को अधिकतम तापमान 45 डिग्री सेल्सियस से अधिक पहुंच गया। अधिकतम तापमान 45.5 और न्यूनतम 26.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। इससे पहले 20 मई को अधिकतम 46 और न्यूनतम 28.8 डिग्री सेल्सियस था। इसके अलावा इसी वर्ष पिछले 25-30 सालों का 15 मई को 47.5 डिग्री सेल्सियस के साथ सबसे गर्म दिन रहा है। इसके बाद तापमान में आंशिक कमी आने लगी लेकिन पिछले चार दिनों से तापमान 43 डिग्री सेल्सियस से अधिक ही चल रहा है। ऐसे में दिन में भीषण गर्मी तो रात को उमस ने हर किसी को परेशान किया हुआ है। पिछले साल की तुलना की जाए तो चार जून को अधिकतम तापमान 40.5 और न्यूनतम 26.5 डिग्री सेल्सियस था।

इस बार गर्मी कुछ ज्यादा ही पड़ रही है। इस दौरान बिजली संकट भी परेशानियों को बढ़ाने में सहायक बना हुआ है। लगातार पड़ रही गर्मी से बिजली के ट्रांसफार्मरों के तपने से घोषित और अघोषित कट लग रहे हैं।

लगातार पड़ रही गर्मी के चलते स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने लोगों से लगातार पानी और अन्य पेयजल पदार्थ का सेवन करते रहने की सलाह दी है। दिन में 12 से तीन बजे के दौरान बाहर निकलने से बचने और बहुत आवश्यकता होने पर पूरी बाजू के कपड़े, टोपी, आंखों पर चश्मा पहनने और छतरी ओढ़कर निकलने की सलाह दी है। इसके अलावा खाली पेट नहीं रहने तथा किसी भी प्रकार की तकलीफ होने पर चिकित्सक से जरूर परामर्श लेना चाहिए।

छह जून तक मौसम परिवर्तनशील परंतु खुश्क व गर्म रहने की संभावना है। इस दौरान दिन के तापमान में बढ़ोतरी होने के साथ बीच में शाम के समय हल्के बादल व कई स्थानों पर धूलभरी गर्म हवाएं चलने की भी संभावना है।

– डॉ. धर्मबीर यादव, मौसम वैज्ञानिक, बावल कृषि अनुसंधान केंद्र।

.


बाजार में भरा गंदा पानी, व्यापारियों ने ठेकेदार के खिलाफ दी पुलिस को शिकायत

क्या रविवार को पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़े? अपने शहर में दरों की जाँच करें