in

डीजीपी का औचक निरीक्षण: कहा- पंजाब को गैंगस्टर मुक्त बनाना सरकार का लक्ष्य, इसकी शुरुआत हो चुकी है


ख़बर सुनें

गैंगस्टरों की गोलियों का निशाना बने गायक सिद्धू मूसेवाला की हत्या के बाद प्रदेश की शांति भंग करने वालों को सबक सिखाने के लिए पंजाब पुलिस ने कमर कस ली है। मंगलवार को पंजाब के नव नियुक्त डीजीपी गौरव यादव चार्ज संभालते ही एक्शन मोड में आ गए। उन्होंने खरड़ स्थित सीआईए स्टाफ मोहाली में मटौर और फेज-आठ थानों का औचक निरीक्षण किया और यहां पुलिस अधिकारियों को गैंगस्टरों के खिलाफ सख्त कदम उठाने का निर्देश दिया। उन्होंने दो टूक शब्दों में साफ कहा कि प्रदेश की शांति फिर कभी भंग नहीं होने दी जाएगी। 

इस दौरान उन्होंने संकेत दिया कि पुलिस ने सिद्धू मूसेवाला की हत्या का षडयंत्र रचने वाले गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई से पूछताछ में कई परतें खोली हैं, इन्हें अभी गुप्त रखा गया है। जल्द ही इस मामले में और अपराधियों की गिरफ्तारियां होंगी। गौरव यादव ने कहा कि पंजाब सरकार का लक्ष्य अब पंजाब को गैंगस्टर मुक्त करना है और इसकी शुरुआत हो चुकी है। 

उन्होंने मोहाली थानों में जाकर विजिटर रूम, मालखाना और बैरकों को चेक किया। उन्होंने अधिकारियों से थानों में मूलभूत सुविधाओं पर ध्यान देने और कमियों को जल्द दूर करने का निर्देश दिया। इस अवसर पर उनके साथ डीआईजी गुरप्रीत सिंह भुल्लर रूपनगर रेंज, एसएसपी मोहाली विवेक शील सोनी मौजूद रहे।

सबसे पहले मटौर थाने 
डीजीपी गौरव यादव सबसे पहले मटौर पहुंचे। पुलिस प्रशासन की ओर से दी जा रही सुविधाओं संबंधी भी जानकारी ली। इस मौके पर उन्होंने बताया कि उनकी कोशिश थी कि वह स्वयं आप थानों में जाकर पुलिस फोर्स की कार्यप्रणाली को जांचे और देखें कि कहीं कोई कमी है तो उसे पहल के आधार पर दुरुस्त करवाएं। पंजाब पुलिस फोर्स की यह प्राथमिकताएं हैं कि ड्रग्स के खिलाफ, गैंगस्टरों के खिलाफ उपयुक्त कार्रवाई कर इसको पंजाब में से जड़ से खत्म करना और पंजाब के निवासियों को बढ़िया कानून-व्यवस्था देना है।

हमारा यह एजेंडा रहेगा कि पंजाब पुलिस की बेसिक पुलिसिंग को दुरुस्त किया जाए। पुलिस और आम नागरिकों के साथ संबंधों को और बेहतर बनाया जाए। मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान की ओर से भी पुलिस को यह हिदायत दी गई है कि मुख्य तौर पर नश तस्करों और गैंगस्टरों को पंजाब में से जड़ से खत्म किया जाए। जिसमें वह दिन-रात लगे हुए हैं और इसका खात्मा जल्द ही पंजाब में से कर देंगे। -गौरव यादव, डीजीपी, पंजाब।

विस्तार

गैंगस्टरों की गोलियों का निशाना बने गायक सिद्धू मूसेवाला की हत्या के बाद प्रदेश की शांति भंग करने वालों को सबक सिखाने के लिए पंजाब पुलिस ने कमर कस ली है। मंगलवार को पंजाब के नव नियुक्त डीजीपी गौरव यादव चार्ज संभालते ही एक्शन मोड में आ गए। उन्होंने खरड़ स्थित सीआईए स्टाफ मोहाली में मटौर और फेज-आठ थानों का औचक निरीक्षण किया और यहां पुलिस अधिकारियों को गैंगस्टरों के खिलाफ सख्त कदम उठाने का निर्देश दिया। उन्होंने दो टूक शब्दों में साफ कहा कि प्रदेश की शांति फिर कभी भंग नहीं होने दी जाएगी। 

इस दौरान उन्होंने संकेत दिया कि पुलिस ने सिद्धू मूसेवाला की हत्या का षडयंत्र रचने वाले गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई से पूछताछ में कई परतें खोली हैं, इन्हें अभी गुप्त रखा गया है। जल्द ही इस मामले में और अपराधियों की गिरफ्तारियां होंगी। गौरव यादव ने कहा कि पंजाब सरकार का लक्ष्य अब पंजाब को गैंगस्टर मुक्त करना है और इसकी शुरुआत हो चुकी है। 

उन्होंने मोहाली थानों में जाकर विजिटर रूम, मालखाना और बैरकों को चेक किया। उन्होंने अधिकारियों से थानों में मूलभूत सुविधाओं पर ध्यान देने और कमियों को जल्द दूर करने का निर्देश दिया। इस अवसर पर उनके साथ डीआईजी गुरप्रीत सिंह भुल्लर रूपनगर रेंज, एसएसपी मोहाली विवेक शील सोनी मौजूद रहे।

सबसे पहले मटौर थाने 

डीजीपी गौरव यादव सबसे पहले मटौर पहुंचे। पुलिस प्रशासन की ओर से दी जा रही सुविधाओं संबंधी भी जानकारी ली। इस मौके पर उन्होंने बताया कि उनकी कोशिश थी कि वह स्वयं आप थानों में जाकर पुलिस फोर्स की कार्यप्रणाली को जांचे और देखें कि कहीं कोई कमी है तो उसे पहल के आधार पर दुरुस्त करवाएं। पंजाब पुलिस फोर्स की यह प्राथमिकताएं हैं कि ड्रग्स के खिलाफ, गैंगस्टरों के खिलाफ उपयुक्त कार्रवाई कर इसको पंजाब में से जड़ से खत्म करना और पंजाब के निवासियों को बढ़िया कानून-व्यवस्था देना है।

हमारा यह एजेंडा रहेगा कि पंजाब पुलिस की बेसिक पुलिसिंग को दुरुस्त किया जाए। पुलिस और आम नागरिकों के साथ संबंधों को और बेहतर बनाया जाए। मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान की ओर से भी पुलिस को यह हिदायत दी गई है कि मुख्य तौर पर नश तस्करों और गैंगस्टरों को पंजाब में से जड़ से खत्म किया जाए। जिसमें वह दिन-रात लगे हुए हैं और इसका खात्मा जल्द ही पंजाब में से कर देंगे। -गौरव यादव, डीजीपी, पंजाब।

.


सीबीएसई ने विद्यार्थियों की सुविधा के लिए लॉन्च किया परीक्षा संगम पोर्टल

बहुचर्चित राजेश हत्याकांड: लड़की के पिता की जमानत याचिका खारिज, अंतरजातीय विवाह करने पर ली थी जान