in

झज्जर: लूट के इरादे से की थी सोनू की हत्या, तीन आरोपी गिरफ्तार, एक दिन के पुलिस रिमांड पर


ख़बर सुनें

हरियाणा के झज्जर शहर की सब्जी मंडी के सामने सोमवार को मनी ट्रांसफर का काम करने वाले एक युवक की हत्या लूट के इरादे से गोली मार कर की गई थी। पुलिस ने तीनों आरोपियों को रोहतक से काबू किया है। तीनों आरोपियों को पुलिस ने अदालत में पेश किया। जहां से उन्हें एक दिन के पुलिस रिमांड पर सौंप दिया है।  

ग्रामीण इस मामले में हत्या के पीछे कोई और कारण मान कर चल रहे हैं। इस संबंध में रविवार को ग्वालीशन गांव के ग्रामीण डीएसपी राहुल देव से मिले। पुलिस आरोपियों को ग्रामीणों के सामने लेकर आई। इसके बाद भी ग्रामीण इस बात पर विश्वास नहीं कर रहे हैं कि यह मामला लूट के प्रयास का था।
 
ग्रामीणों का कहना है कि जिस प्रकार युवक के सीने में गोली मारी गई है उससे नहीं लगता की मामला लूट का है। जबकि एक रुपये की भी मामले में लूट नहीं हुई है। ग्रामीणों ने डीएसपी से कहा है कि मामले की पूरी तरह से सच्चाई सामने लाई जाए। 

डीएसपी झज्जर राहुल देव ने बताया कि पकड़े गए आरोपियों की पूछताछ में पहचान दादरी तोए निवासी मोनू उर्फ योगेश, अनुराग उर्फ काली व सोनीपत के गन्नौर निवासी दीपक के तौर पर की गई है। पकड़े गए आरोपियों से प्राथमिक पूछताछ में सब्जी मंडी के सामने हुई हत्या की  वारदात का खुलासा किया। ग्वालीशन गांव निवासी सोनू की हत्या की वारदात के बाद गिरफ्त में आए आरोपियों ने लूटपाट की नीयत से योजना बनाकर घटना को अंजाम दिया गया था। 

रविवार को पुलिस कार्यालय झज्जर मे डीएसपी राहुल देव ने  बताया कि वारदात के संबंध में मृतक के गांव ग्वालीशन निवासी उसके साथी सुरेंद्र के अनुसार थाना शहर झज्जर में अज्ञात लोगों के खिलाफ 16 मई को हत्या का आपराधिक मामला दर्ज किया गया था।

थाना प्रबंधक शहर झज्जर निरीक्षक शेर सिंह, सीआईए झज्जर के प्रभारी उप निरीक्षक सुंदर पाल, एंटी नारकोटिक सेल झज्जर व साइबर सेल की एक संयुक्त टीम का गठन किया गया था। झज्जर पुलिस की संयुक्त टीम कार्रवाई करते हुए वारदात को सुलझाने में कामयाबी हासिल की।

वारदात में शामिल थे चार आरोपी
डीएसपी झज्जर राहुल देव ने पत्रकार वार्ता के दौरान बताया कि पकड़े गए आरोपियों से पूछताछ में मालूम हुआ कि हत्या की वारदात को अंजाम देने में चार आरोपी शामिल थे। वारदात के समय एक आरोपी मोटरसाइकिल लेकर रोड पर खड़ा रहा। जबकि तीन आरोपी हथियार सहित दुकान पर गए थे। मोनू ने गोली चलाई जो सीधी दुकानदार की छाती में जा लगी। गोली लगने से वह जमीन पर गिर गया। जिसके पश्चात तीनों आरोपी डर के मारे मौका से भाग गए। भागते हुए एक आरोपी दीपक के हथियार से मैगजीन वहीं गिर गई। आरोपियों ने योजना बनाकर लूटपाट की नीयत से वारदात को अंजाम दिया था। वारदात की योजना में शामिल अन्य आरोपियों को पकड़ने के लिए स्थानीय पुलिस द्वारा गंभीरता से कार्रवाई अमल में लाई जा रही है।

विस्तार

हरियाणा के झज्जर शहर की सब्जी मंडी के सामने सोमवार को मनी ट्रांसफर का काम करने वाले एक युवक की हत्या लूट के इरादे से गोली मार कर की गई थी। पुलिस ने तीनों आरोपियों को रोहतक से काबू किया है। तीनों आरोपियों को पुलिस ने अदालत में पेश किया। जहां से उन्हें एक दिन के पुलिस रिमांड पर सौंप दिया है।  

ग्रामीण इस मामले में हत्या के पीछे कोई और कारण मान कर चल रहे हैं। इस संबंध में रविवार को ग्वालीशन गांव के ग्रामीण डीएसपी राहुल देव से मिले। पुलिस आरोपियों को ग्रामीणों के सामने लेकर आई। इसके बाद भी ग्रामीण इस बात पर विश्वास नहीं कर रहे हैं कि यह मामला लूट के प्रयास का था।

 

ग्रामीणों का कहना है कि जिस प्रकार युवक के सीने में गोली मारी गई है उससे नहीं लगता की मामला लूट का है। जबकि एक रुपये की भी मामले में लूट नहीं हुई है। ग्रामीणों ने डीएसपी से कहा है कि मामले की पूरी तरह से सच्चाई सामने लाई जाए। 

डीएसपी झज्जर राहुल देव ने बताया कि पकड़े गए आरोपियों की पूछताछ में पहचान दादरी तोए निवासी मोनू उर्फ योगेश, अनुराग उर्फ काली व सोनीपत के गन्नौर निवासी दीपक के तौर पर की गई है। पकड़े गए आरोपियों से प्राथमिक पूछताछ में सब्जी मंडी के सामने हुई हत्या की  वारदात का खुलासा किया। ग्वालीशन गांव निवासी सोनू की हत्या की वारदात के बाद गिरफ्त में आए आरोपियों ने लूटपाट की नीयत से योजना बनाकर घटना को अंजाम दिया गया था। 

रविवार को पुलिस कार्यालय झज्जर मे डीएसपी राहुल देव ने  बताया कि वारदात के संबंध में मृतक के गांव ग्वालीशन निवासी उसके साथी सुरेंद्र के अनुसार थाना शहर झज्जर में अज्ञात लोगों के खिलाफ 16 मई को हत्या का आपराधिक मामला दर्ज किया गया था।

थाना प्रबंधक शहर झज्जर निरीक्षक शेर सिंह, सीआईए झज्जर के प्रभारी उप निरीक्षक सुंदर पाल, एंटी नारकोटिक सेल झज्जर व साइबर सेल की एक संयुक्त टीम का गठन किया गया था। झज्जर पुलिस की संयुक्त टीम कार्रवाई करते हुए वारदात को सुलझाने में कामयाबी हासिल की।

वारदात में शामिल थे चार आरोपी

डीएसपी झज्जर राहुल देव ने पत्रकार वार्ता के दौरान बताया कि पकड़े गए आरोपियों से पूछताछ में मालूम हुआ कि हत्या की वारदात को अंजाम देने में चार आरोपी शामिल थे। वारदात के समय एक आरोपी मोटरसाइकिल लेकर रोड पर खड़ा रहा। जबकि तीन आरोपी हथियार सहित दुकान पर गए थे। मोनू ने गोली चलाई जो सीधी दुकानदार की छाती में जा लगी। गोली लगने से वह जमीन पर गिर गया। जिसके पश्चात तीनों आरोपी डर के मारे मौका से भाग गए। भागते हुए एक आरोपी दीपक के हथियार से मैगजीन वहीं गिर गई। आरोपियों ने योजना बनाकर लूटपाट की नीयत से वारदात को अंजाम दिया था। वारदात की योजना में शामिल अन्य आरोपियों को पकड़ने के लिए स्थानीय पुलिस द्वारा गंभीरता से कार्रवाई अमल में लाई जा रही है।

.


नंबर 3 वर्जीनिया टेक ने केंटकी को दो बार हराया, सुपरर्स के लिए अग्रिम – केंटकी एथलेटिक्स विश्वविद्यालय

हिसार: कुंए का एक हिस्सा धंस जाने पर दो व्यक्ति अंदर फंसे, बचाव अभियान जारी