जेनरेटर लगवा निकासी का कार्य शुरू


21-सीवन गांव मलिकपुर में गंदे पानी की निकासी के लिए लगाई गई जेसीबी।

21-सीवन गांव मलिकपुर में गंदे पानी की निकासी के लिए लगाई गई जेसीबी।
– फोटो : Kaithal

ख़बर सुनें

सीवन। गांव मलिकपुर में सड़क पर गंदे पानी की समस्या पर ग्रामीणों के विरोध प्रदर्शन के बाद शनिवार को खंड कार्यालय ने जनरेटर लगवाकर निकासी का कार्य शुरू करवाया। गंदे पानी की निकासी के लिए स्थान बनाने के लिए जेसीबी से काम किया और खुदाई आरंभ कर दी।
गौरतलब है कि नाराज ग्रामीण समस्या के संबंध में खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी सीवन से भी मिले थे। तब खंड कार्यालय ने यह कदम उठाया। गांव मलिकपुर निवासी जसबीर गुर्जर, महेंद्र गुर्जर, राजेश, गुरदयाल, रोशन लाल, राजेश, विक्रम, सिन्दा राम, बूटा सिंह, रामपाल, बलवान, कुलदीप व लोक सेवा मंच सीवन के प्रधान ओम प्रकाश मुटरेजा ने बताया कि गांव में गंदे पानी की निकासी की बहुत बड़ी समस्या है। पहले जिस स्थान पर गांव की निकासी का पानी जा रहा था, उस स्थान पर प्लाट थे। जिन लोगों के ये प्लाट थे, उन्होंने अपने अपने प्लाट में मिट्टी डलवा ली।
गांव के बड़े तालाब में निकासी के लिए जो नाला बनवाया गया था, उस नाले का निर्माण जब हुआ तो करीब 50 फीट का निर्माण नहीं हो पाया था। इस कारण से निकासी का सारा पानी गली में जमा हो रहा था। इसके लिए वह सभी खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी सीवन से मिले और उन्हें अपनी समस्या के बारे में बताया। इस मामले में उन्होंने तुरंत संज्ञान लिया। अब पानी निकासी के लिए जनरेटर व पम्प लगा दिया गया है। अब गली में से गंदा पानी निकल रहा है।

सीवन। गांव मलिकपुर में सड़क पर गंदे पानी की समस्या पर ग्रामीणों के विरोध प्रदर्शन के बाद शनिवार को खंड कार्यालय ने जनरेटर लगवाकर निकासी का कार्य शुरू करवाया। गंदे पानी की निकासी के लिए स्थान बनाने के लिए जेसीबी से काम किया और खुदाई आरंभ कर दी।

गौरतलब है कि नाराज ग्रामीण समस्या के संबंध में खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी सीवन से भी मिले थे। तब खंड कार्यालय ने यह कदम उठाया। गांव मलिकपुर निवासी जसबीर गुर्जर, महेंद्र गुर्जर, राजेश, गुरदयाल, रोशन लाल, राजेश, विक्रम, सिन्दा राम, बूटा सिंह, रामपाल, बलवान, कुलदीप व लोक सेवा मंच सीवन के प्रधान ओम प्रकाश मुटरेजा ने बताया कि गांव में गंदे पानी की निकासी की बहुत बड़ी समस्या है। पहले जिस स्थान पर गांव की निकासी का पानी जा रहा था, उस स्थान पर प्लाट थे। जिन लोगों के ये प्लाट थे, उन्होंने अपने अपने प्लाट में मिट्टी डलवा ली।

गांव के बड़े तालाब में निकासी के लिए जो नाला बनवाया गया था, उस नाले का निर्माण जब हुआ तो करीब 50 फीट का निर्माण नहीं हो पाया था। इस कारण से निकासी का सारा पानी गली में जमा हो रहा था। इसके लिए वह सभी खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी सीवन से मिले और उन्हें अपनी समस्या के बारे में बताया। इस मामले में उन्होंने तुरंत संज्ञान लिया। अब पानी निकासी के लिए जनरेटर व पम्प लगा दिया गया है। अब गली में से गंदा पानी निकल रहा है।

.


What do you think?

Written by Haryanacircle

छात्र की हत्या में दो और आरोपी धरे गए

देवम ने ताइक्वांडो में जीता स्वर्ण पदक