in

जिला जेल में बंदी की संग्दिध परिस्थितियों में मौत


ख़बर सुनें

संवाद न्यूज एजेंसी
करनाल। जिला जेल में एक बंदी की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई है। परिजनों ने हत्या की आशंका जताते हुए जांच की मांग की है। परिजन का गुस्सा देख कल्पना चावला मेडिकल कॉलेज के शव गृह में भारी पुलिस बल तैनात रहा। डीएसपी मुकेश ने परिजनों को मामले की गहनता से जांच का आश्वासन दिया। इसके बाद डॉक्टरों के बोर्ड से मृतक का पोस्टमार्टम कराया गया।
परिवार के सदस्य ईश्वर ने बताया कि 2019 में खेड़ी मान सिंह निवासी रजत (23) का झगड़ा गांव में ही पड़ोसी के साथ हुआ था। इस मामले में रजत जमानत पर था। वह कोर्ट में तारीख पर नहीं जा रहा था, इसलिए उन्होंने रजत और उसके भाई को वकील के माध्यम से दो जुलाई को कोर्ट में पेश किया और वहां से उन्हें जेल भेज दिया।
सोमवार रात आठ बजे उन्हें सूचना दी गई की रजत की मौत हो गई है। उसका शव कल्पना चावला मेडिकल कॉलेज में रखा गया है। रजत के परिजन वहां पहुंचे और मौत का कारण पूछा, लेकिन किसी ने कारण नहीं बताया। पता चला कि कई घंटे पहले ही रजत की मौत हो चुकी थी, लेकिन पुलिस ने उन्हें रात को इसकी जानकारी दी। जब रजत को कोर्ट में पेश किया था तब वह बिल्कुल ठीक था।
10 माह के बच्चे के सिर से उठा पिता का साया
रजत की दो साल पहले शादी हुई थी। उसका 10 महीने का बेटा है। जिसके सिर से पिता का साया उठ गया। पोस्टमार्टम हाउस के बाहर रजत की पत्नी और अन्य परिजन बिलखते रहे।
डॉक्टरों के बोर्ड से रजत के शव का पोस्टमार्टम कराया गया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत के कारणों का पता चलेगा। उसके बाद ही कार्रवाई होगी।
मुकेश कुमार, डीएसपी, हेड क्वार्टर करनाल
दो जुलाई को रजत जेल में आया था। सोमवार शाम को उसकी अचानक तबीयत बिगड़ गई तो उसका जेल के डॉक्टर से चेकअप कराया गया था। इसके बाद उसे कल्पना चावला मेडिकल कॉलेज ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गई।
अमित कुमार, जिला जेल अधीक्षक, करनाल

संवाद न्यूज एजेंसी

करनाल। जिला जेल में एक बंदी की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई है। परिजनों ने हत्या की आशंका जताते हुए जांच की मांग की है। परिजन का गुस्सा देख कल्पना चावला मेडिकल कॉलेज के शव गृह में भारी पुलिस बल तैनात रहा। डीएसपी मुकेश ने परिजनों को मामले की गहनता से जांच का आश्वासन दिया। इसके बाद डॉक्टरों के बोर्ड से मृतक का पोस्टमार्टम कराया गया।

परिवार के सदस्य ईश्वर ने बताया कि 2019 में खेड़ी मान सिंह निवासी रजत (23) का झगड़ा गांव में ही पड़ोसी के साथ हुआ था। इस मामले में रजत जमानत पर था। वह कोर्ट में तारीख पर नहीं जा रहा था, इसलिए उन्होंने रजत और उसके भाई को वकील के माध्यम से दो जुलाई को कोर्ट में पेश किया और वहां से उन्हें जेल भेज दिया।

सोमवार रात आठ बजे उन्हें सूचना दी गई की रजत की मौत हो गई है। उसका शव कल्पना चावला मेडिकल कॉलेज में रखा गया है। रजत के परिजन वहां पहुंचे और मौत का कारण पूछा, लेकिन किसी ने कारण नहीं बताया। पता चला कि कई घंटे पहले ही रजत की मौत हो चुकी थी, लेकिन पुलिस ने उन्हें रात को इसकी जानकारी दी। जब रजत को कोर्ट में पेश किया था तब वह बिल्कुल ठीक था।

10 माह के बच्चे के सिर से उठा पिता का साया

रजत की दो साल पहले शादी हुई थी। उसका 10 महीने का बेटा है। जिसके सिर से पिता का साया उठ गया। पोस्टमार्टम हाउस के बाहर रजत की पत्नी और अन्य परिजन बिलखते रहे।

डॉक्टरों के बोर्ड से रजत के शव का पोस्टमार्टम कराया गया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत के कारणों का पता चलेगा। उसके बाद ही कार्रवाई होगी।

मुकेश कुमार, डीएसपी, हेड क्वार्टर करनाल

दो जुलाई को रजत जेल में आया था। सोमवार शाम को उसकी अचानक तबीयत बिगड़ गई तो उसका जेल के डॉक्टर से चेकअप कराया गया था। इसके बाद उसे कल्पना चावला मेडिकल कॉलेज ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गई।

अमित कुमार, जिला जेल अधीक्षक, करनाल

.


‘क्या ऐसे शौचालय में जा सकती हैं आपकी बेटियां’

फार्म मालिक पर हमला कर 1.88 लाख लूटे