ज़ेरोधा ने अपने कर्मचारियों को दिया कमाल का फिटनेस चैलेंज; विजेता को मिलेगा 10 लाख रुपये और एक महीने का वेतन


नई दिल्ली: 2 साल तक कोरोना महामारी का प्रकोप रहा। प्रकोप के दो वर्षों ने लोगों को मानसिक, आर्थिक और शारीरिक रूप से परेशान किया है। कोरोना काल में कई लोगों का वजन बढ़ा। लेकिन ऑनलाइन ब्रोकिंग फर्म जेरोधा ने बढ़े हुए वजन को कम करने के लिए एक नई पहल की है।

फर्म द्वारा की गई पहल के बारे में जानना चाहते हैं? यहां पहल का विवरण दिया गया है। (यह भी पढ़ें: अविश्वसनीय! 9 वर्षीय भारतीय लड़की ने विकसित किया एक iOS ऐप, टिम कुक ने बधाई व्यक्त करने के लिए मेल भेजा)

ज़ेरोधा के सह-संस्थापक और सीईओ नितिन कामथ ने अपने कर्मचारियों के लिए एक फिटनेस चुनौती शुरू की है। फिटनेस चैलेंज के तहत कर्मचारियों को 10 लाख रुपये तक का लकी ड्रॉ और एक महीने का वेतन बोनस के रूप में मिलेगा। नितिन कामत ने अपने फेसबुक पेज पर कार्यक्रम के बारे में पोस्ट किया। (यह भी पढ़ें: सार्वजनिक कंप्यूटर का उपयोग कर रहे हैं? UIDAI ने आधार उपयोगकर्ताओं को ऐसा न करने की चेतावनी दी है अन्यथा इसके लिए तैयार रहें…)

नितिन कामथ ने अपने कर्मचारियों से दैनिक गतिविधि लक्ष्य निर्धारित करने को कहा है। कामत ने कहा कि जो भी अगले साल इस दैनिक गतिविधि लक्ष्य का 90 प्रतिशत हिस्सा हासिल करेगा, उसे बोनस के रूप में 1 महीने का वेतन दिया जाएगा।

इसके अलावा किसी एक कर्मचारी को 10 लाख रुपये का लकी ड्रॉ दिया जाएगा। यह लकी ड्रा मोटिवेशन किकर की तरह काम करेगा। नितिन कामथ ने यह भी कहा कि यह एक वैकल्पिक कार्यक्रम है। इस कार्यक्रम के तहत कर्मचारी को हर दिन कम से कम 350 एक्टिव कैलोरी बर्न करनी होगी।

नितिन कामथ ने अपने कर्मचारियों को फिटनेस चैलेंज देते हुए कहा कि फिटनेस ट्रैकर पर उन्होंने अपने कर्मचारियों को एक दैनिक लक्ष्य निर्धारित करने की चुनौती दी है। उन्होंने कहा कि हम में से ज्यादातर लोग वर्क फ्रॉम होम में हैं। बैठने और धूम्रपान करने की आदत लगातार बढ़ती जा रही है। इसलिए टीम को सक्रिय करने के लिए ऐसा किया जा रहा है।

नितिन कामथ ने पोस्ट किया कि उन्होंने इस साल सितंबर में हर दिन 1000 कैलोरी कम करने का लक्ष्य रखा है। उन्होंने आगे कहा कि कोरोना के दौरान मेरा वजन बढ़ गया है. मैंने फिटनेस के लक्ष्य बनाए और अपना वजन कम किया। इससे पहले भी नितिन कामथ ने फिटनेस चैलेंज दिया था।

पिछले साल कामथ ने 12 महीने का गेट-हेल्दी गोल प्रोग्राम शुरू किया था। ज़ेरोधा की स्थापना कामत बंधुओं द्वारा वर्ष 2010 में की गई थी। यह एक वित्तीय सेवा कंपनी है, जो स्टॉक मार्केट में म्यूचुअल फंड में ट्रेडिंग और ट्रेडिंग के लिए एक मंच प्रदान करती है।

.


What do you think?

Written by Haryanacircle

विधायक दल की बैठक बुलाए जाने के समय कुछ विधायकों का अनाधिकारिक बैठक करना ‘अनुशासनहीनता’ : माकन

Rajasthan Political Crisis : महेश जोशी और शांति धारीवाल को कारण बताओ नोटिस जारी कर सकती है कांग्रेस