in

जनस्वास्थ्य विभाग ने नहीं शुरू करवाया बरसाती नालों की सफाई का काम, वाटर सप्लाई व सीवर डिस्पोजल सब कमेटी की बैठक में दी जानकारी


ख़बर सुनें

हिसार। मौसम विभाग के अनुसार शहर में मानसून आने में अब मात्र 24 दिन व प्री मानसून में आने में 9 ही दिन बचे हैं। मगर अभी तक जनस्वास्थ्य विभाग इससे निपटने के लिए अभी तक तैयार नहीं हुआ। पानी निकासी के लिए अब तक बरसाती नालों की सफाई शुरू नहीं हो सकी हैं, ऐसे में इस बार की बारिश में भी शहर की सड़कें डूबना तय है। खुद जनस्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने सोमवार को नगर निगम कार्यालय में हुई वार्ड 1 से 10 तक की वाटर सप्लाई व सीवर डिस्पोजल सब कमेटी की बैठक में यह जानकारी दी।
विभाग के अधिकारी ने कहा कि पांच बार टेंडर लगाने पर भी एक भी एजेंसी सफाई के लिए आगे नहीं आई है, अब छठी बार टेंडर लगाया है। मंगलवार यह टेंडर खोल दिया जाएगा। अगर इस बार भी कोई एजेंसी नहीं आई तो कोटेशन के आधार पर सफाई कराई जाएगी। इस पर कमेटी चेयरमैन मनोहर लाल ने कहा कि विभाग को छह बार टेंडर लगाने की जरूरत ही क्यों पड़ी। तीन बार टेंडर लगाने पर जब कोई एजेंसी नहीं आई थी तो कोटेशन आधार पर काम शुरू करवा लेना चाहिए था। अधिकारी ने कहा कि टेंडर लगाने का ही नियम है। चेयरमैन ने कहा कि टेंडर हो या न हो। सभी वार्डों के बरसाती नालों की सफाई तुरंत प्रभाव से विभाग अपने स्तर पर करवाए। कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। यदि मानसून सीजन में जलभराव की समस्या पैदा होती है तो अधिकारियों के खिलाफ सरकार को लिखा जाएगा।
34 किमी. है बरसाती नालों की लंबाई
जनस्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने बताया कि विभाग के अधीन आने वाले बरसाती नालों की लंबाई 34 किलोमीटर है। इनमें फव्वारा चौक से लघु सचिवालय डिस्पोजल, लघु सचिवालय से शाहपुर ड्रेन, फव्वारा चौक से मलिक चौक होते हुए ऋषि नगर डिस्पोजल, ऑटो मार्केट, नागरिक अस्पताल, सेक्टर 14 से ऋषि नगर डिस्पोजल, ऋषि नगर डिस्पोजल से शाहपुर ड्रेन व बरवाला बाईपास से भैंस फार्म शामिल है। अधिकारियों ने बताया कि इनमें से लघु सचिवालय से शाहपुर ड्रेन की सफाई करवाई है। हालांकि नाला सिंचाई विभाग का है।
अप्रैल में शुरू कर दी थी टेंडर प्रक्रिया
अधिकारियों ने बताया कि बरसाती नालों की सफाई के लिए टेंडर प्रक्रिया अप्रैल में ही शुरू कर दी थी। एक बार टेंडर लगाने पर एजेंसियों को आवेदन के लिए सात दिन का समय दिया जाता है।
जेटिंग मशीन के लिए 90 लाख रुपये का एस्टीमेट बनाकर भेजा
शहर के लिए दो जेटिंग मशीन खरीदे जाने के एजेंडे पर अधिकारियों ने बताया कि उन्होंने जेटिंग मशीन के लिए 90 लाख रुपये का एस्टीमेट बनाकर भेजा था। इस पर मुख्यालय की तरफ से कुछ ऑब्जेक्शन लगा दी गई। अब उस ऑब्जेक्शन को दूर कर दोबारा एस्टीमेट भेज दिया गया है। इस पर कमेटी ने अधिकारियों से एस्टीमेट की कॉपी उपलब्ध करवाने को कहा।
नेताजी कॉलोनी से सीवर लाइन को मुख्य लाइन से जोड़ा जाएगा
बैठक में नेताजी कॉलोनी, योग नगर से सीवर लाइन श्मशान घाट के पीछे गली से होते हुए लाहौरिया चौक मुख्य लाइन में मिलाने के एजेंडे पर भी चर्चा की गई। अधिकारियों ने बताया कि अमरूत टू के तहत तैयार की जा रही डीपीआर में उन्होंने राजीव नगर से ठंडी सड़क तक सीवर लाइन बिछाने का प्रस्ताव शामिल किया है। नेताजी कॉलोनी से राजीव नगर तक लाइन बिछाने का प्रस्ताव इसी में शामिल कर लिया जाएगा।
पानी के सैंपल लेने से पहले पार्षद को करें सूचित
कमेटी चेयरमैन मनोहर लाल ने कहा कि जनस्वास्थ्य विभाग किसी भी वार्ड में पीने के पानी का सैंपल लेता है तो उससे पहले उक्त वार्ड के पार्षद को सूचित करेगा। इसके अलावा उन्होंने विभाग से पिछले साल में लिए गए पानी के सैंपल की रिपोर्ट उपलब्ध करवाने को भी कहा। दूषित पेयजल पर पार्षद बिमला देवी ने कहा कि दो दिन के बाद पीने के पानी में कीड़े पैदा हो जाते हैं।
एक सप्ताह तक शिकायतों का नहीं किया जाता समाधान
सीवर ओवरफ्लो की शिकायतों के जल्द समाधान करने के मुद्दे पर कमेटी चेयरमैन ने कहा कि मेरे वार्ड की शिकायतों का एक सप्ताह तक समाधान नहीं होता। पार्षद उमेद खन्ना ने कहा कि हमें चुने तीन साल हो गए हैं। मगर इस दौरान विभाग की कार्यप्रणाली जरा सी भी संतोषजनक नहीं रही। अब हमारे दो साल बचे हैं। कुछ तो अच्छा काम करके दिखा दो। पार्षद बिमला देवी ने कहा कि वार्ड के लोग अब कहने लगे हैं कि अगर काम नहीं होता तो हाथ खड़े कर दो। विभाग के कारण हमारी काफी बेइज्जती हो रही है।
45 मिनट की देरी से शुरू हुई बैठक
बैठक का समय सुबह 11 बजे निर्धारित किया गया था। कमेटी सदस्य व जनस्वास्थ्य विभाग के अधिकारी निर्धारित समय पर निगम कार्यालय में पहुंच गए। मगर निगम के अधिकारी बैठक में 45 मिनट की देरी से पहुंचे। उन्होंने कमेटी सदस्यों को बताया कि एसीएस के साथ वीसी चल रही थी। इस मौके पर सीनियर डिप्टी मेयर अनिल सैनी, पार्षद डॉ. उमेद खन्ना, बिमला देवी, पार्षद जयप्रकाश, कैप्टन नरेंद्र शर्मा, पार्षद प्रतिनिधि उदयवीर सिंह मिंटू, डीएमसी वीरेंद्र सहारण मौजूद रहे।

हिसार। मौसम विभाग के अनुसार शहर में मानसून आने में अब मात्र 24 दिन व प्री मानसून में आने में 9 ही दिन बचे हैं। मगर अभी तक जनस्वास्थ्य विभाग इससे निपटने के लिए अभी तक तैयार नहीं हुआ। पानी निकासी के लिए अब तक बरसाती नालों की सफाई शुरू नहीं हो सकी हैं, ऐसे में इस बार की बारिश में भी शहर की सड़कें डूबना तय है। खुद जनस्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने सोमवार को नगर निगम कार्यालय में हुई वार्ड 1 से 10 तक की वाटर सप्लाई व सीवर डिस्पोजल सब कमेटी की बैठक में यह जानकारी दी।

विभाग के अधिकारी ने कहा कि पांच बार टेंडर लगाने पर भी एक भी एजेंसी सफाई के लिए आगे नहीं आई है, अब छठी बार टेंडर लगाया है। मंगलवार यह टेंडर खोल दिया जाएगा। अगर इस बार भी कोई एजेंसी नहीं आई तो कोटेशन के आधार पर सफाई कराई जाएगी। इस पर कमेटी चेयरमैन मनोहर लाल ने कहा कि विभाग को छह बार टेंडर लगाने की जरूरत ही क्यों पड़ी। तीन बार टेंडर लगाने पर जब कोई एजेंसी नहीं आई थी तो कोटेशन आधार पर काम शुरू करवा लेना चाहिए था। अधिकारी ने कहा कि टेंडर लगाने का ही नियम है। चेयरमैन ने कहा कि टेंडर हो या न हो। सभी वार्डों के बरसाती नालों की सफाई तुरंत प्रभाव से विभाग अपने स्तर पर करवाए। कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। यदि मानसून सीजन में जलभराव की समस्या पैदा होती है तो अधिकारियों के खिलाफ सरकार को लिखा जाएगा।

34 किमी. है बरसाती नालों की लंबाई

जनस्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने बताया कि विभाग के अधीन आने वाले बरसाती नालों की लंबाई 34 किलोमीटर है। इनमें फव्वारा चौक से लघु सचिवालय डिस्पोजल, लघु सचिवालय से शाहपुर ड्रेन, फव्वारा चौक से मलिक चौक होते हुए ऋषि नगर डिस्पोजल, ऑटो मार्केट, नागरिक अस्पताल, सेक्टर 14 से ऋषि नगर डिस्पोजल, ऋषि नगर डिस्पोजल से शाहपुर ड्रेन व बरवाला बाईपास से भैंस फार्म शामिल है। अधिकारियों ने बताया कि इनमें से लघु सचिवालय से शाहपुर ड्रेन की सफाई करवाई है। हालांकि नाला सिंचाई विभाग का है।

अप्रैल में शुरू कर दी थी टेंडर प्रक्रिया

अधिकारियों ने बताया कि बरसाती नालों की सफाई के लिए टेंडर प्रक्रिया अप्रैल में ही शुरू कर दी थी। एक बार टेंडर लगाने पर एजेंसियों को आवेदन के लिए सात दिन का समय दिया जाता है।

जेटिंग मशीन के लिए 90 लाख रुपये का एस्टीमेट बनाकर भेजा

शहर के लिए दो जेटिंग मशीन खरीदे जाने के एजेंडे पर अधिकारियों ने बताया कि उन्होंने जेटिंग मशीन के लिए 90 लाख रुपये का एस्टीमेट बनाकर भेजा था। इस पर मुख्यालय की तरफ से कुछ ऑब्जेक्शन लगा दी गई। अब उस ऑब्जेक्शन को दूर कर दोबारा एस्टीमेट भेज दिया गया है। इस पर कमेटी ने अधिकारियों से एस्टीमेट की कॉपी उपलब्ध करवाने को कहा।

नेताजी कॉलोनी से सीवर लाइन को मुख्य लाइन से जोड़ा जाएगा

बैठक में नेताजी कॉलोनी, योग नगर से सीवर लाइन श्मशान घाट के पीछे गली से होते हुए लाहौरिया चौक मुख्य लाइन में मिलाने के एजेंडे पर भी चर्चा की गई। अधिकारियों ने बताया कि अमरूत टू के तहत तैयार की जा रही डीपीआर में उन्होंने राजीव नगर से ठंडी सड़क तक सीवर लाइन बिछाने का प्रस्ताव शामिल किया है। नेताजी कॉलोनी से राजीव नगर तक लाइन बिछाने का प्रस्ताव इसी में शामिल कर लिया जाएगा।

पानी के सैंपल लेने से पहले पार्षद को करें सूचित

कमेटी चेयरमैन मनोहर लाल ने कहा कि जनस्वास्थ्य विभाग किसी भी वार्ड में पीने के पानी का सैंपल लेता है तो उससे पहले उक्त वार्ड के पार्षद को सूचित करेगा। इसके अलावा उन्होंने विभाग से पिछले साल में लिए गए पानी के सैंपल की रिपोर्ट उपलब्ध करवाने को भी कहा। दूषित पेयजल पर पार्षद बिमला देवी ने कहा कि दो दिन के बाद पीने के पानी में कीड़े पैदा हो जाते हैं।

एक सप्ताह तक शिकायतों का नहीं किया जाता समाधान

सीवर ओवरफ्लो की शिकायतों के जल्द समाधान करने के मुद्दे पर कमेटी चेयरमैन ने कहा कि मेरे वार्ड की शिकायतों का एक सप्ताह तक समाधान नहीं होता। पार्षद उमेद खन्ना ने कहा कि हमें चुने तीन साल हो गए हैं। मगर इस दौरान विभाग की कार्यप्रणाली जरा सी भी संतोषजनक नहीं रही। अब हमारे दो साल बचे हैं। कुछ तो अच्छा काम करके दिखा दो। पार्षद बिमला देवी ने कहा कि वार्ड के लोग अब कहने लगे हैं कि अगर काम नहीं होता तो हाथ खड़े कर दो। विभाग के कारण हमारी काफी बेइज्जती हो रही है।

45 मिनट की देरी से शुरू हुई बैठक

बैठक का समय सुबह 11 बजे निर्धारित किया गया था। कमेटी सदस्य व जनस्वास्थ्य विभाग के अधिकारी निर्धारित समय पर निगम कार्यालय में पहुंच गए। मगर निगम के अधिकारी बैठक में 45 मिनट की देरी से पहुंचे। उन्होंने कमेटी सदस्यों को बताया कि एसीएस के साथ वीसी चल रही थी। इस मौके पर सीनियर डिप्टी मेयर अनिल सैनी, पार्षद डॉ. उमेद खन्ना, बिमला देवी, पार्षद जयप्रकाश, कैप्टन नरेंद्र शर्मा, पार्षद प्रतिनिधि उदयवीर सिंह मिंटू, डीएमसी वीरेंद्र सहारण मौजूद रहे।

.


नुहियांवाली में पेट्रोल पंप के कारिंदे को पिस्तौल दिखा बदमाशों ने लूटी नकदी

सिपाही की नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी करने वाला गिरफ्तार