ग्रामीणों का आरोप, ढंढूर बीड पंचायत मतदाता सूची में भारी धांधली, उपायुक्त को सौंपा ज्ञापन


Villagers allege huge rigging in Dhandhur Beed panchayat voter list, submit memorandum to Deputy Commissioner

ख़बर सुनें

हिसार। गांव ढंढूर बीड के ग्रामीणों ने पंचायत मतदाता सूची में भारी धांधली का आरोप लगाया है। इसे लेकर सोमवार को गांव ढंढूर बीड के ग्रामीणों ने जोरदार प्रदर्शन किया। प्रदर्शन की अगुवाई एचएस राजेश ने की। प्रदर्शन के बाद उपायुक्त को ज्ञापन सौंपा गया। उपायुक्त ने ग्रामीणों को जल्द ही मामले की जांच व समाधान का आश्वासन दिया।
प्रदर्शन की अगुवाई कर रहे एचएस राजेश ने सबूत दिखाते हुए बताया कि पिछले दिनों पंचायत राज संस्था निर्वाचन नामावली-2022 प्रशासन की तरफ से जारी की गई। इस नामावली में भारी विसंगतियां पाई गई। भारी संख्या में मरे हुए लोगों व कई वर्षों से गांव छोड़ चुके लोंगो के वोट सूची में आज भी दर्ज है। इस लिस्ट में एक ही व्यक्ति के दो वोटर आईडी नंबर दर्ज है और भारी संख्या में जाली वोट सूची में शामिल हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि वार्डबंदी भी पूरी तरह से गलत व किसी विशेष उम्मीदवार को फायदा पहुंचाने के लिए की गई हैं। एक ही परिवार जोकि एक ही छत के नीचे कई वर्षों से रह रहा है, उसके सभी सदस्यों के वोट अलग अलग वार्ड में शामिल किए गए हैं। ग्रामीण महेंद्र सिंह गैदर ने बताया कि यह लोकतंत्र का गला घोंटने वाली करतूत मिलीभगत करके की गई है। महिला मंजू दिलेर ने कहा कि यह करतूत लोकतांत्रिक व्यवस्था को चुनौती देने वाली है। ग्रामीणों ने चेतावनी दी कि प्रशासन उनकी उक्त सब मांगों को जल्द से जल्द पूरा करें, नही तो सभी ग्रामीण एकत्रित होकर आगामी पंचायती वोटों का बहिष्कार करेंगे और एक बड़े आंदोलन की शुरुआत करेंगे। इस मोके पर मुंशी, जयसिंह, सुरजी देवी, आनंद प्रजापति, विनोद, सुरेंद्र बिरोका, सतीश, मोनू, ज्योति देवी, मंजू आदि ग्रामीण मौजूद रहे।

हिसार। गांव ढंढूर बीड के ग्रामीणों ने पंचायत मतदाता सूची में भारी धांधली का आरोप लगाया है। इसे लेकर सोमवार को गांव ढंढूर बीड के ग्रामीणों ने जोरदार प्रदर्शन किया। प्रदर्शन की अगुवाई एचएस राजेश ने की। प्रदर्शन के बाद उपायुक्त को ज्ञापन सौंपा गया। उपायुक्त ने ग्रामीणों को जल्द ही मामले की जांच व समाधान का आश्वासन दिया।

प्रदर्शन की अगुवाई कर रहे एचएस राजेश ने सबूत दिखाते हुए बताया कि पिछले दिनों पंचायत राज संस्था निर्वाचन नामावली-2022 प्रशासन की तरफ से जारी की गई। इस नामावली में भारी विसंगतियां पाई गई। भारी संख्या में मरे हुए लोगों व कई वर्षों से गांव छोड़ चुके लोंगो के वोट सूची में आज भी दर्ज है। इस लिस्ट में एक ही व्यक्ति के दो वोटर आईडी नंबर दर्ज है और भारी संख्या में जाली वोट सूची में शामिल हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि वार्डबंदी भी पूरी तरह से गलत व किसी विशेष उम्मीदवार को फायदा पहुंचाने के लिए की गई हैं। एक ही परिवार जोकि एक ही छत के नीचे कई वर्षों से रह रहा है, उसके सभी सदस्यों के वोट अलग अलग वार्ड में शामिल किए गए हैं। ग्रामीण महेंद्र सिंह गैदर ने बताया कि यह लोकतंत्र का गला घोंटने वाली करतूत मिलीभगत करके की गई है। महिला मंजू दिलेर ने कहा कि यह करतूत लोकतांत्रिक व्यवस्था को चुनौती देने वाली है। ग्रामीणों ने चेतावनी दी कि प्रशासन उनकी उक्त सब मांगों को जल्द से जल्द पूरा करें, नही तो सभी ग्रामीण एकत्रित होकर आगामी पंचायती वोटों का बहिष्कार करेंगे और एक बड़े आंदोलन की शुरुआत करेंगे। इस मोके पर मुंशी, जयसिंह, सुरजी देवी, आनंद प्रजापति, विनोद, सुरेंद्र बिरोका, सतीश, मोनू, ज्योति देवी, मंजू आदि ग्रामीण मौजूद रहे।

.


What do you think?

Written by Haryanacircle

98 करोड़ की परियोजनाओं से होगा विकास, करीब 50 हजार लोगों की बुझेगी प्यास

Jind: सड़क दुर्घटनाओं में 3 लोगों की मौत, दो की अज्ञात वाहन की चपेट में, एक की कार तालाब में गिरने से हुई मौत