गोहाना में ‘अग्निपथ’ पर उतरे युवा, लगाया जाम, पुलिस पर फेंके पत्थर


ख़बर सुनें

गोहाना/खरखौदा। अग्निपथ योजना के विरोध में गुस्साए युवाओं ने शनिवार सुबह करीब साढ़े 11 बजे पानीपत-रोहतक हाईवे पर गोहाना बाईपास के नजदीक जाम लगा दिया। मौके पर पहुंची पुलिस ने युवाओं को समझाकर जाम खुलवाने का प्रयास किया तो प्रदर्शनकारियों ने पथराव कर दिया। इससे थाना शहर प्रभारी की गाड़ी समेत कई वाहनों के शीशे टूट गए और कई पुलिसर्मी चोटिल हो गए। बाद में एएसपी निकिता खट्टर के नेतृत्व में गोहाना व सोनीपत से पहुंचे पुलिस बल ने प्रदर्शनकारियों को मौके से खदेड़ा। इस दौरान करीब डेढ़ घंटे तक हाईवे जाम रहा, जिससे वाहन चालकों को परेशानियां झेलनी पड़ी। पुलिस ने करीब 200 प्रदर्शनकारियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है।
अग्निपथ योजना के विरोध में युवा शनिवार सुबह करीब 10 बजे जींद रोड स्थित नगर परिषद के पार्क में एकत्रित होने लगे थे। युवा शहर में प्रदर्शन करते हुए 11:30 बजे रोहतक-पानीपत हाईवे स्थित गोहाना बाईपास के नजदीक पहुंचे। युवाओं ने कांटेदार झाड़ियां हाईवे पर डालकर जाम लगा दिया और सड़क पर बैठकर नारेबाजी की। सूचना पर एसडीएम आशीष वशिष्ठ व एएसपी निकिता खट्टर पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। अधिकारियों ने युवाओं को समझाते हुए जाम खुलवाने का प्रयास किया। इस दौरान युवाओं ने एसडीएम को मांगपत्र सौंपा, जिसमें योजना को रद्द करने व सेना की भर्ती में दो साल की छूट देने की मांग की। एसडीएम को मांगपत्र सौंपने के बाद कुछ युवा पीछे हट गए, लेकिन अधिकतर प्रदर्शनकारी हाईवे पर ही बैठे रहे। पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को हटाने का प्रयास किया तो उन्होंने पथराव शुरू कर दिया। प्रदर्शनकारियों की तरफ से किए गए पथराव के चलते थाना शहर गोहाना प्रभारी की गाड़ी सहित दो अन्य वाहनों के शीशे टूट गए और कई पुलिसकर्मी भी चोटिल हो गए। जिससे पुलिस को पीछे हटना पड़ा। जिसके बाद एएसपी निकिता खट्टर ने सोनीपत व गोहाना से अतिरिक्त पुलिस बल बुलाया। जिसके बाद पुलिस ने सख्ती बरतते हुए प्रदर्शनकारियों को खदेड़ दिया। पुलिस की सख्ती के बाद प्रदर्शनकारी खेतों की तरफ भाग गए।
प्लॉट की नींव उखाड़ हाईवे पर जुटाए ईंट व पत्थर
पानीपत-रोहतक हाईवे जाम करने वाले प्रदर्शनकारियों ने पुलिस से आमना-सामना करने के लिए पहले ही तैयारी कर ली थी। एसडीएम को ज्ञापन सौंपने के बाद कुछ युवा सभी को जाम खोलने की बात कह रहे थे। वहीं कुछ प्रदर्शनकारी जाम न खोलने पर अड़े रहे। इन युवाओं ने सड़क के पास ही प्लॉट की नींव उखाड़कर हाईवे पर ईंट व पत्थर जुटा लिए थे। पुलिस ने जब युवाओं को हाईवे से हटाने का प्रयास किया तो युवाओं ने पथराव शुरू कर दिया। इस पथराव में पुलिस की गाड़ियां क्षतिग्रस्त हुई वहीं कई पुलिसकर्मी भी चोटिए हुए।
वाहन चालकों व यात्रियों को झेलनी पड़ी परेशानी
अग्निपथ योजना के विरोध में युवाओं के पानीपत-रोहतक हाईवे जाम करने से वाहन चालकों व यात्रियों को खासी परेशानियों का सामना करना पड़ा। प्रदर्शनकारियों के पथराव करने व मौके पर भारी पुलिस को देखते हुए अनेक यात्री वाहनों से उतरकर पैदल ही वापस जाने लगे। जाम को देखते हुए कई वाहन चालकों ने भी अपने वाहन वापस मोड़ते हुए दूसरे रास्ते से गंतव्य पर पहुंचने में भलाई समझी। करीब डेढ़ घंटा बाद प्रदर्शनकारियों को खदेड़ने के बाद पुलिस ने हाईवे खुलवाया। उसके बाद ही वाहन चालकों ने राहत की सांस ली।

पिपली गांव में दिल्ली मार्ग पर 15 मिनट लगाया जाम
अग्निपथ योजना के विरोध में कई गांवों के युवा एकत्रित होकर पिपली गांव में पहुंचे और खरखौदा दिल्ली मार्ग को जाम कर दिया। मौके पर पहुंचे खरखौदा थाना प्रभारी जसपाल सिंह व सीआईए-2 प्रभारी सुनील कुमार के समझाने के बाद युवा जाम खोलने पर राजी हो गए। इस दौरान खरखौदा एसडीएम शिखा भी मौके पर पहुंची। उन्होंने युवाओं से शांति एवं संयम बनाए रखने की अपील की। युवाओं ने इस दौरान एसडीएम सिखा को ज्ञापन सौंपा। इस दौरान करीब 15 मिनट तक मार्ग जाम रहा। अधिकारियों के समझाने पर युवाओं ने जाम खोल दिया।
वर्जन
अग्निपथ योजना के विरोध में युवाओं ने पानीपत-रोहतक हाईवे पर गोहाना बाईपास के नजदीक जाम लगा दिया था। पुलिस ने युवाओं को समझाकर जाम खुलवाने का प्रयास किया तो युवाओं ने पथराव कर दिया था। इससे पुलिस के वाहन क्षतिग्रस्त हुए हैं, वहीं कई पुलिसकर्मियों को चोटें आई हैं। बाद में पुलिस बल की सहायता से प्रदर्शनकारियों को खदेड़ा गया। मामले में 200 युवाओं के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। आरोपियों की पहचान कर उन्हें गिरफ्तार किया जाएगा।
-बदन सिंह, प्रभारी, शहर थाना, गोहाना

रोहतक-पानीपत हाईवे पर जाम लगाकर बैठे युवा सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए। संवाद

रोहतक-पानीपत हाईवे पर जाम लगाकर बैठे युवा सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए। संवाद– फोटो : Sonipat

गोहाना/खरखौदा। अग्निपथ योजना के विरोध में गुस्साए युवाओं ने शनिवार सुबह करीब साढ़े 11 बजे पानीपत-रोहतक हाईवे पर गोहाना बाईपास के नजदीक जाम लगा दिया। मौके पर पहुंची पुलिस ने युवाओं को समझाकर जाम खुलवाने का प्रयास किया तो प्रदर्शनकारियों ने पथराव कर दिया। इससे थाना शहर प्रभारी की गाड़ी समेत कई वाहनों के शीशे टूट गए और कई पुलिसर्मी चोटिल हो गए। बाद में एएसपी निकिता खट्टर के नेतृत्व में गोहाना व सोनीपत से पहुंचे पुलिस बल ने प्रदर्शनकारियों को मौके से खदेड़ा। इस दौरान करीब डेढ़ घंटे तक हाईवे जाम रहा, जिससे वाहन चालकों को परेशानियां झेलनी पड़ी। पुलिस ने करीब 200 प्रदर्शनकारियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

अग्निपथ योजना के विरोध में युवा शनिवार सुबह करीब 10 बजे जींद रोड स्थित नगर परिषद के पार्क में एकत्रित होने लगे थे। युवा शहर में प्रदर्शन करते हुए 11:30 बजे रोहतक-पानीपत हाईवे स्थित गोहाना बाईपास के नजदीक पहुंचे। युवाओं ने कांटेदार झाड़ियां हाईवे पर डालकर जाम लगा दिया और सड़क पर बैठकर नारेबाजी की। सूचना पर एसडीएम आशीष वशिष्ठ व एएसपी निकिता खट्टर पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। अधिकारियों ने युवाओं को समझाते हुए जाम खुलवाने का प्रयास किया। इस दौरान युवाओं ने एसडीएम को मांगपत्र सौंपा, जिसमें योजना को रद्द करने व सेना की भर्ती में दो साल की छूट देने की मांग की। एसडीएम को मांगपत्र सौंपने के बाद कुछ युवा पीछे हट गए, लेकिन अधिकतर प्रदर्शनकारी हाईवे पर ही बैठे रहे। पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को हटाने का प्रयास किया तो उन्होंने पथराव शुरू कर दिया। प्रदर्शनकारियों की तरफ से किए गए पथराव के चलते थाना शहर गोहाना प्रभारी की गाड़ी सहित दो अन्य वाहनों के शीशे टूट गए और कई पुलिसकर्मी भी चोटिल हो गए। जिससे पुलिस को पीछे हटना पड़ा। जिसके बाद एएसपी निकिता खट्टर ने सोनीपत व गोहाना से अतिरिक्त पुलिस बल बुलाया। जिसके बाद पुलिस ने सख्ती बरतते हुए प्रदर्शनकारियों को खदेड़ दिया। पुलिस की सख्ती के बाद प्रदर्शनकारी खेतों की तरफ भाग गए।

प्लॉट की नींव उखाड़ हाईवे पर जुटाए ईंट व पत्थर

पानीपत-रोहतक हाईवे जाम करने वाले प्रदर्शनकारियों ने पुलिस से आमना-सामना करने के लिए पहले ही तैयारी कर ली थी। एसडीएम को ज्ञापन सौंपने के बाद कुछ युवा सभी को जाम खोलने की बात कह रहे थे। वहीं कुछ प्रदर्शनकारी जाम न खोलने पर अड़े रहे। इन युवाओं ने सड़क के पास ही प्लॉट की नींव उखाड़कर हाईवे पर ईंट व पत्थर जुटा लिए थे। पुलिस ने जब युवाओं को हाईवे से हटाने का प्रयास किया तो युवाओं ने पथराव शुरू कर दिया। इस पथराव में पुलिस की गाड़ियां क्षतिग्रस्त हुई वहीं कई पुलिसकर्मी भी चोटिए हुए।

वाहन चालकों व यात्रियों को झेलनी पड़ी परेशानी

अग्निपथ योजना के विरोध में युवाओं के पानीपत-रोहतक हाईवे जाम करने से वाहन चालकों व यात्रियों को खासी परेशानियों का सामना करना पड़ा। प्रदर्शनकारियों के पथराव करने व मौके पर भारी पुलिस को देखते हुए अनेक यात्री वाहनों से उतरकर पैदल ही वापस जाने लगे। जाम को देखते हुए कई वाहन चालकों ने भी अपने वाहन वापस मोड़ते हुए दूसरे रास्ते से गंतव्य पर पहुंचने में भलाई समझी। करीब डेढ़ घंटा बाद प्रदर्शनकारियों को खदेड़ने के बाद पुलिस ने हाईवे खुलवाया। उसके बाद ही वाहन चालकों ने राहत की सांस ली।



पिपली गांव में दिल्ली मार्ग पर 15 मिनट लगाया जाम

अग्निपथ योजना के विरोध में कई गांवों के युवा एकत्रित होकर पिपली गांव में पहुंचे और खरखौदा दिल्ली मार्ग को जाम कर दिया। मौके पर पहुंचे खरखौदा थाना प्रभारी जसपाल सिंह व सीआईए-2 प्रभारी सुनील कुमार के समझाने के बाद युवा जाम खोलने पर राजी हो गए। इस दौरान खरखौदा एसडीएम शिखा भी मौके पर पहुंची। उन्होंने युवाओं से शांति एवं संयम बनाए रखने की अपील की। युवाओं ने इस दौरान एसडीएम सिखा को ज्ञापन सौंपा। इस दौरान करीब 15 मिनट तक मार्ग जाम रहा। अधिकारियों के समझाने पर युवाओं ने जाम खोल दिया।

वर्जन

अग्निपथ योजना के विरोध में युवाओं ने पानीपत-रोहतक हाईवे पर गोहाना बाईपास के नजदीक जाम लगा दिया था। पुलिस ने युवाओं को समझाकर जाम खुलवाने का प्रयास किया तो युवाओं ने पथराव कर दिया था। इससे पुलिस के वाहन क्षतिग्रस्त हुए हैं, वहीं कई पुलिसकर्मियों को चोटें आई हैं। बाद में पुलिस बल की सहायता से प्रदर्शनकारियों को खदेड़ा गया। मामले में 200 युवाओं के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। आरोपियों की पहचान कर उन्हें गिरफ्तार किया जाएगा।

-बदन सिंह, प्रभारी, शहर थाना, गोहाना

रोहतक-पानीपत हाईवे पर जाम लगाकर बैठे युवा सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए। संवाद

रोहतक-पानीपत हाईवे पर जाम लगाकर बैठे युवा सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए। संवाद– फोटो : Sonipat

.


What do you think?

Written by Haryanacircle

सवा दो साल बाद 1 जुलाई से पटरी पर दौड़ेगी टाटानगर-जम्मूतवी एक्सप्रेस

कोरोना के 13 संक्रमित मिले, तीन मरीज ठीक हुए