गांव में पार्क की जमीन हड़पी, पूर्व सरपंच, ग्राम सचिव समेत चार पर केस दर्ज


ख़बर सुनें

हिसार। फर्जी शैक्षणिक प्रमाण पत्र के आधार पर सरपंच बनने और गांव की पार्क की जमीन को हड़पने के आरोप में सदर थाना पुलिस ने खोखा गांव की पूर्व सरपंच, ग्राम सचिव सहित चार के खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज किया है। इस बारे में पुलिस ने खोखा गांव निवासी बलवान सिंह की शिकायत पर पूर्व सरपंच कौशल्य, ग्राम सचिव कल्याण सिंह के अलावा धीरेंद्र, धूप सिंह के खिलाफ धोखाधड़ी व अन्य आरोपों में मामला दर्ज किया है।
पुलिस को दी शिकायत में बलवान ने बताया कि गांव के पूर्व सरपंच ने पंचायत समिति के सदस्यों के साथ मिलकर गांव की जमीन पर पार्क बनाने के लिए 7 फरवरी 2015 को प्रस्ताव पारित किया था। इसके बाद कौशल्या देवी गांव की सरपंच ने उक्त जमीन हड़प ली। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि कौशल्य ने जिस शिक्षा प्रमाण पत्र पर चुनाव लड़ा था, वह भी फर्जी था। इस मामले की शिकायत की प्राथमिक जांच के दौरान पुलिस ने पाया कि सरपंच कौशल्य के अलावा धीरेंद्र, धूप सिंह ने अपने परिवार के सदस्यों के साथ मिलकर फर्जी शिक्षा प्रमाण पत्र पर चुनाव लड़ा और सरपंच बनी और फिर पंचायत की जमीन हड़प ली।

हिसार। फर्जी शैक्षणिक प्रमाण पत्र के आधार पर सरपंच बनने और गांव की पार्क की जमीन को हड़पने के आरोप में सदर थाना पुलिस ने खोखा गांव की पूर्व सरपंच, ग्राम सचिव सहित चार के खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज किया है। इस बारे में पुलिस ने खोखा गांव निवासी बलवान सिंह की शिकायत पर पूर्व सरपंच कौशल्य, ग्राम सचिव कल्याण सिंह के अलावा धीरेंद्र, धूप सिंह के खिलाफ धोखाधड़ी व अन्य आरोपों में मामला दर्ज किया है।

पुलिस को दी शिकायत में बलवान ने बताया कि गांव के पूर्व सरपंच ने पंचायत समिति के सदस्यों के साथ मिलकर गांव की जमीन पर पार्क बनाने के लिए 7 फरवरी 2015 को प्रस्ताव पारित किया था। इसके बाद कौशल्या देवी गांव की सरपंच ने उक्त जमीन हड़प ली। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि कौशल्य ने जिस शिक्षा प्रमाण पत्र पर चुनाव लड़ा था, वह भी फर्जी था। इस मामले की शिकायत की प्राथमिक जांच के दौरान पुलिस ने पाया कि सरपंच कौशल्य के अलावा धीरेंद्र, धूप सिंह ने अपने परिवार के सदस्यों के साथ मिलकर फर्जी शिक्षा प्रमाण पत्र पर चुनाव लड़ा और सरपंच बनी और फिर पंचायत की जमीन हड़प ली।

.


What do you think?

Written by Haryanacircle

40 साल की सेरेना की जीत से वापसी… एक साल बाद कोर्ट पर लौटीं, विंबलडन से पहले किया आगाह

राजकीय बहुतकनीकी हिसा बना दो एनबीए अवॉर्ड प्राप्त करने वाला उत्तर भारत का पहला संस्थान