in

खुलासा: अवैध तरीके से भ्रूण लिंग जांच के बाद गर्भपात से हुई थी महिला की मौत, सास और ससुर सहित चार गिरफ्तार


ख़बर सुनें

हरियाणा के बादली में एक सप्ताह पहले संदिग्ध परिस्थितियों में हुई महिला की मौत के मामले में पुलिस ने सास और ससुर सहित दो अन्य महिलाओं का गिरफ्तार कर लिया है। मामला भ्रूण लिंग जांच के बाद गर्भपात के दौरान हुए संक्रमण का मिला है। पुलिस ने ससुर और एक महिला को न्यायालय से रिमांड पर लिया है। 

गत 17 मई की सुबह बादली में एक महिला का शव मिला था। महिला के परिजनों ने शुरू में सास और ससुर के साथ पति पर हत्या का आरोप लगाया। परिजनों ने दहेज हत्या का अंदेशा जताया। लेकिन पुलिस को शुरू से ही मामला संदिग्ध लग रहा था। इसी पर पुलिस ने सास और ससुर से कठोरता से पूछताछ की तो उन्होंने अवैध तरीके से लिंग जांच का खुलासा किया।

पुलिस के अनुसार मामला लिंग जांच के बाद अबॉर्शन के दौरान हुए संक्रमण के कारण महिला की मौत होना पाया गया है। विवाहिता के सास व ससुर उसे लिंग जांच के लिए जिला अमरोहा उत्तर प्रदेश में ले गए थे। जहां दो महिलाओं द्वारा जांच के दौरान विवाहिता के पेट में पल रहा बच्चा लड़की होना बताया गया। इसके पश्चात सास और ससुर ने लिंग जांच करने वाली दोनों महिलाओं को विवाहिता का गर्भपात करने को कहा।

दवाइयां देकर गर्भपात करने की प्रक्रिया शुरू की गई। कई घंटे तक गर्भपात न होने तथा दवाइयों के संक्रमण होने के कारण विवाहिता की तबीयत खराब होती चली गई। जिसके पश्चात गर्भपात करने वाली अमरोहा निवासी दोनों महिलाओं ने विवाहिता के सास ससुर को उसे किसी बड़े अस्पताल में ले जाने को कहा। जिसके बाद विवाहिता की सास व ससुर सतबीर उसे अमरोहा के एक हॉस्पिटल में लेकर गए। जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। जिसके पश्चात मृतका को वापिस बादली में लाया गया।

थाना प्रभारी बाबूलाल ने बताया कि उपरोक्त मामले की पड़ताल करते हुए मृतका के आरोपी ससुर सतबीर निवासी बादली को गिरफ्तार को किया गया। अवैध रूप से लिंग जांच व गर्भपात का प्रयास करने वाली उपरोक्त दोनों आरोपी महिलाओं को अमरोहा यूपी से गिरफ्तार किया गया। गिरफ्त में आई उपरोक्त दो महिलाओं सहित तीनों आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए तीनों को अदालत में पेश किया गया।

जहां से मृतका के आरोपी ससुर सतबीर व अमरोहा निवासी एक महिला को पूछताछ के लिए एक दिन के पुलिस रिमांड पर लिया गया। मामले की गहनता से जांच पड़ताल करते हुए मृतका की आरोपी सास को भी गिरफ्तार किया गया। एक दिन के रिमांड के पश्चात आरोपी ससुर सतबीर व अमरोहा निवासी एक महिला को अदालत में पेश किया गया। जहां से आरोपी महिला सास को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया तथा ससुर सतबीर व अमरोहा निवासी एक महिला को पूछताछ के लिए फिर से 2 दिन के पुलिस रिमांड पर लिया गया। 

पुलिस की कठोरता से ससुर ने किया खुलासा
मामला शुरू से ही संदिग्ध लग रहा था। इसी को लेकर पुलिस ने मृतका के ससुर सतबीर के साथ कठोरता से पूछताछ की तो सतबीर टूट गया। सतबीर ने जब मामले का खुलासा किया तो पुलिस भी हैरान रह गई। हालांकि शुरू से ही सास और ससुर के अलग-अलग बयान होने से पुलिस का शक बढ़ गया था। पुलिस थाना प्रभारी बाबूलाल ने बताया कि सतबीर की निशानदेही पर उत्तर प्रदेश के अमरोह में दबिश दी गई और लिंग जांच के बाद गर्भपात में शामिल दो अन्य महिलाओं को गिरफ्तार किया है। बाद में मृतका की सास को भी गिरफ्तार कर लिया गया। 

विस्तार

हरियाणा के बादली में एक सप्ताह पहले संदिग्ध परिस्थितियों में हुई महिला की मौत के मामले में पुलिस ने सास और ससुर सहित दो अन्य महिलाओं का गिरफ्तार कर लिया है। मामला भ्रूण लिंग जांच के बाद गर्भपात के दौरान हुए संक्रमण का मिला है। पुलिस ने ससुर और एक महिला को न्यायालय से रिमांड पर लिया है। 

गत 17 मई की सुबह बादली में एक महिला का शव मिला था। महिला के परिजनों ने शुरू में सास और ससुर के साथ पति पर हत्या का आरोप लगाया। परिजनों ने दहेज हत्या का अंदेशा जताया। लेकिन पुलिस को शुरू से ही मामला संदिग्ध लग रहा था। इसी पर पुलिस ने सास और ससुर से कठोरता से पूछताछ की तो उन्होंने अवैध तरीके से लिंग जांच का खुलासा किया।

पुलिस के अनुसार मामला लिंग जांच के बाद अबॉर्शन के दौरान हुए संक्रमण के कारण महिला की मौत होना पाया गया है। विवाहिता के सास व ससुर उसे लिंग जांच के लिए जिला अमरोहा उत्तर प्रदेश में ले गए थे। जहां दो महिलाओं द्वारा जांच के दौरान विवाहिता के पेट में पल रहा बच्चा लड़की होना बताया गया। इसके पश्चात सास और ससुर ने लिंग जांच करने वाली दोनों महिलाओं को विवाहिता का गर्भपात करने को कहा।

दवाइयां देकर गर्भपात करने की प्रक्रिया शुरू की गई। कई घंटे तक गर्भपात न होने तथा दवाइयों के संक्रमण होने के कारण विवाहिता की तबीयत खराब होती चली गई। जिसके पश्चात गर्भपात करने वाली अमरोहा निवासी दोनों महिलाओं ने विवाहिता के सास ससुर को उसे किसी बड़े अस्पताल में ले जाने को कहा। जिसके बाद विवाहिता की सास व ससुर सतबीर उसे अमरोहा के एक हॉस्पिटल में लेकर गए। जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। जिसके पश्चात मृतका को वापिस बादली में लाया गया।

थाना प्रभारी बाबूलाल ने बताया कि उपरोक्त मामले की पड़ताल करते हुए मृतका के आरोपी ससुर सतबीर निवासी बादली को गिरफ्तार को किया गया। अवैध रूप से लिंग जांच व गर्भपात का प्रयास करने वाली उपरोक्त दोनों आरोपी महिलाओं को अमरोहा यूपी से गिरफ्तार किया गया। गिरफ्त में आई उपरोक्त दो महिलाओं सहित तीनों आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए तीनों को अदालत में पेश किया गया।

जहां से मृतका के आरोपी ससुर सतबीर व अमरोहा निवासी एक महिला को पूछताछ के लिए एक दिन के पुलिस रिमांड पर लिया गया। मामले की गहनता से जांच पड़ताल करते हुए मृतका की आरोपी सास को भी गिरफ्तार किया गया। एक दिन के रिमांड के पश्चात आरोपी ससुर सतबीर व अमरोहा निवासी एक महिला को अदालत में पेश किया गया। जहां से आरोपी महिला सास को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया तथा ससुर सतबीर व अमरोहा निवासी एक महिला को पूछताछ के लिए फिर से 2 दिन के पुलिस रिमांड पर लिया गया। 

पुलिस की कठोरता से ससुर ने किया खुलासा

मामला शुरू से ही संदिग्ध लग रहा था। इसी को लेकर पुलिस ने मृतका के ससुर सतबीर के साथ कठोरता से पूछताछ की तो सतबीर टूट गया। सतबीर ने जब मामले का खुलासा किया तो पुलिस भी हैरान रह गई। हालांकि शुरू से ही सास और ससुर के अलग-अलग बयान होने से पुलिस का शक बढ़ गया था। पुलिस थाना प्रभारी बाबूलाल ने बताया कि सतबीर की निशानदेही पर उत्तर प्रदेश के अमरोह में दबिश दी गई और लिंग जांच के बाद गर्भपात में शामिल दो अन्य महिलाओं को गिरफ्तार किया है। बाद में मृतका की सास को भी गिरफ्तार कर लिया गया। 

.


आरसीबी भी नहीं बन रही आईपीएल बार! भेंट

खतरनाक बीमारी से पीड़ित मरीज