खुद को कस्टम अधिकारी बताकर साइबर ठग ने युवती से ठगे 95 हजार रुपये


ख़बर सुनें

यमुनानगर। खुद को कस्टम अधिकारी बताकर साइबर ठगों ने जम्मू कॉलोनी बी निवासी कीर्ति तागरा से 95 लाख रुपये ठग लिए। आरोपियों ने यूके से आए पाउंड से भरे पार्सल की फीस बताकर युवती के साथ ठगी की। युवती की शिकायत पर गांधी नगर थाना पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ धोखाधड़ी के आरोप में केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।
जम्मू कॉलोनी बी निवासी कीर्ति तागरा ने गांधी नगर पुलिस को दी शिकायत में बताया कि वह प्राइवेट जॉब करती है। 24 मई की सुबह करीब साढ़े 11 बजे उसके पास विदेश के नंबर से फोन आया। फोन करने वाले ने उसे कस्टम अधिकारी बताते हुए बात शुरू की। आरोपी ने उससे कहा कि आपका पार्सल यूके से आया हुआ है, जो कस्टम में रुका हुआ है। उसने सोचा कि ये पार्सल उसकी कंपनी का है। आरोपियों ने उसे बताया कि पार्सल की 55 हजार रुपये फीस बनती है। यह फीस आरोपियों ने दिल्ली के एक बैंक खाते में जमा करवाने को कहा। आरोपियों की बातों में आकर उसने 55 हजार रुपये आरोपियों के बताए खाते में जमा करवा दिए। अगले दिन फिर से दूसरे नंबर से आरोपी का फोन आया। आरोपी ने उससे कहा कि उनके पार्सल में विदेशी मुद्रा पाउंड है। इसलिए 85 हजार रुपये और जमा कराने पड़ेंगे। आरोपियों की बातों में आकर उसने 40 हजार रुपये और उनके दिए गए खाते में जमा करा दिए। इसके बाद जब उसने अपनी कंपनी में कॉल किया तो पता चला कि हमारा इस नाम से कोई पार्सल नहीं आया है। जब उसने आरोपियों के नंबरों पर संपर्क किया तो उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया। आरोप है कि साइबर ठगों ने उससे धोखाधड़ी करके 95 हजार रुपये की ठगी की है। उसने इसकी शिकायत गांधी नगर थाना पुलिस को दी। गांधी नगर थाना प्रभारी भूपेंद्र राणा का कहना है कि अज्ञात के खिलाफ धोखाधड़ी के आरोप में केस दर्ज कर लिया है। मामले की जांच की जा रही है।

यमुनानगर। खुद को कस्टम अधिकारी बताकर साइबर ठगों ने जम्मू कॉलोनी बी निवासी कीर्ति तागरा से 95 लाख रुपये ठग लिए। आरोपियों ने यूके से आए पाउंड से भरे पार्सल की फीस बताकर युवती के साथ ठगी की। युवती की शिकायत पर गांधी नगर थाना पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ धोखाधड़ी के आरोप में केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

जम्मू कॉलोनी बी निवासी कीर्ति तागरा ने गांधी नगर पुलिस को दी शिकायत में बताया कि वह प्राइवेट जॉब करती है। 24 मई की सुबह करीब साढ़े 11 बजे उसके पास विदेश के नंबर से फोन आया। फोन करने वाले ने उसे कस्टम अधिकारी बताते हुए बात शुरू की। आरोपी ने उससे कहा कि आपका पार्सल यूके से आया हुआ है, जो कस्टम में रुका हुआ है। उसने सोचा कि ये पार्सल उसकी कंपनी का है। आरोपियों ने उसे बताया कि पार्सल की 55 हजार रुपये फीस बनती है। यह फीस आरोपियों ने दिल्ली के एक बैंक खाते में जमा करवाने को कहा। आरोपियों की बातों में आकर उसने 55 हजार रुपये आरोपियों के बताए खाते में जमा करवा दिए। अगले दिन फिर से दूसरे नंबर से आरोपी का फोन आया। आरोपी ने उससे कहा कि उनके पार्सल में विदेशी मुद्रा पाउंड है। इसलिए 85 हजार रुपये और जमा कराने पड़ेंगे। आरोपियों की बातों में आकर उसने 40 हजार रुपये और उनके दिए गए खाते में जमा करा दिए। इसके बाद जब उसने अपनी कंपनी में कॉल किया तो पता चला कि हमारा इस नाम से कोई पार्सल नहीं आया है। जब उसने आरोपियों के नंबरों पर संपर्क किया तो उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया। आरोप है कि साइबर ठगों ने उससे धोखाधड़ी करके 95 हजार रुपये की ठगी की है। उसने इसकी शिकायत गांधी नगर थाना पुलिस को दी। गांधी नगर थाना प्रभारी भूपेंद्र राणा का कहना है कि अज्ञात के खिलाफ धोखाधड़ी के आरोप में केस दर्ज कर लिया है। मामले की जांच की जा रही है।

.


What do you think?

Written by Haryanacircle

गिरफ्तारी से बचने के लिए फूड इंस्पेक्टर ने लगाई अग्रिम जमानत याचिका, पुलिस ने कब्जे में लिया रिकॉर्ड

बारिश ने दिलाई गर्मी से राहत, रादौर में पेड़ गिरने से तीन दुकानें ढही