क्राइम अनुसंधान में नवीनतम तकनीक का प्रयोग


ख़बर सुनें

हांसी। अनुसंधान में आधुनिक तकनीक का प्रयोग करने पर क्षेत्र की पुलिस को राष्ट्रीय स्तर पर सराहना मिली है। एनसीआरबी (नेशनल क्राइम रिपोर्ट ब्यूरो) व सीपीएफ ने राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित सीसीटीएनएस हैकथोंन एंड साइबर चैलेंज प्रतियोगिता के तहत पुलिस इन्वेस्टिगेशन एप तैयार की। नवीनतम तकनीक पर आधारित यह एप पुलिस अधीक्षक नितिका गहलोत व उनकी टीम ने तैयार की। इस पुलिस इन्वेस्टिगेशन एप को पूरे भारत वर्ष में तीसरा स्थान हासिल हुआ है। इस एप के तहत पीड़ित मौके से ही एफआईआर दर्ज करवा सकता है।
इसके अलावा पीड़ित को एफआईआर की कॉपी मौके पर ही उपलब्ध कराई जा सकती है। एप का इस्तेमाल करना बहुत ही आसान है। जिस अधिकारी को टाइप करना नहीं आता, वह इसका प्रयोग बोलकर सकता है। एप के माध्यम से मौके पर घटनास्थल के फोटोग्राफ्स लिए जा सकते हैं। मौके पर ही सभी दस्तावेज डिजिटल फॉर्म में तैयार किए जाएंगे, जिससे पुलिस कार्रवाई में विश्वसनीयता भी बढ़ेगी। पुलिस अधीक्षक नितिका गहलोत ने नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो व सीपीएफ ने राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित सीसीटीएनएस साइबर चैलेंज प्रतियोगिता में पुलिस अधीक्षक की तरफ से एप को प्रस्तुत किया, जहां से इसे राष्ट्रीय स्तर पर सराहना मिली। एप के संचालन में पीएसआई, नितिन, हेड कांस्टेबल विपिन साइबर सेल व हेड कांस्टेबल सुरेंद्र व सिपाही कुलदीप का सराहनीय योगदान है। एप्लीकेशन बारे हरियाणा पुलिस के उच्च अधिकारियों द्वारा भी पुलिस अधीक्षक नितिका गहलोत के कार्यों की सराहना करते हुए उन्हें बधाई दी।

हांसी। अनुसंधान में आधुनिक तकनीक का प्रयोग करने पर क्षेत्र की पुलिस को राष्ट्रीय स्तर पर सराहना मिली है। एनसीआरबी (नेशनल क्राइम रिपोर्ट ब्यूरो) व सीपीएफ ने राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित सीसीटीएनएस हैकथोंन एंड साइबर चैलेंज प्रतियोगिता के तहत पुलिस इन्वेस्टिगेशन एप तैयार की। नवीनतम तकनीक पर आधारित यह एप पुलिस अधीक्षक नितिका गहलोत व उनकी टीम ने तैयार की। इस पुलिस इन्वेस्टिगेशन एप को पूरे भारत वर्ष में तीसरा स्थान हासिल हुआ है। इस एप के तहत पीड़ित मौके से ही एफआईआर दर्ज करवा सकता है।

इसके अलावा पीड़ित को एफआईआर की कॉपी मौके पर ही उपलब्ध कराई जा सकती है। एप का इस्तेमाल करना बहुत ही आसान है। जिस अधिकारी को टाइप करना नहीं आता, वह इसका प्रयोग बोलकर सकता है। एप के माध्यम से मौके पर घटनास्थल के फोटोग्राफ्स लिए जा सकते हैं। मौके पर ही सभी दस्तावेज डिजिटल फॉर्म में तैयार किए जाएंगे, जिससे पुलिस कार्रवाई में विश्वसनीयता भी बढ़ेगी। पुलिस अधीक्षक नितिका गहलोत ने नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो व सीपीएफ ने राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित सीसीटीएनएस साइबर चैलेंज प्रतियोगिता में पुलिस अधीक्षक की तरफ से एप को प्रस्तुत किया, जहां से इसे राष्ट्रीय स्तर पर सराहना मिली। एप के संचालन में पीएसआई, नितिन, हेड कांस्टेबल विपिन साइबर सेल व हेड कांस्टेबल सुरेंद्र व सिपाही कुलदीप का सराहनीय योगदान है। एप्लीकेशन बारे हरियाणा पुलिस के उच्च अधिकारियों द्वारा भी पुलिस अधीक्षक नितिका गहलोत के कार्यों की सराहना करते हुए उन्हें बधाई दी।

.


What do you think?

Written by Haryanacircle

साढ़े चार करोड़ रुपये से होगा हिसार रोड का पुनर्निर्माण

लैब में जांच के बाद मीटर में मिली कमी, एक लाख रुपये का लगाया जुर्माना