in

कोरोना के 16 संक्रमित मिले, 4 मरीज ठीक हुए


ख़बर सुनें

कोरोना के केस लगातार मिल रहे हैं। जिले में बुधवार को 16 संक्रमित मिले और चार मरीज ठीक हुए है। जिले में कोरोना के सक्रिय मरीजों की संख्या बढ़कर 49 हो गई। दूसरी ओर बाजारों में लोग बिना मास्क लगाए खरीदारी करने पहुंच रहे है। साथ ही अस्पतालों में कोरोना नियमों की धज्जियां उड़ाई जा रही है।
बुधवार को 201 लोगों की कोरोना जांच के लिए सैंपल लिए गए। इनमें आरटी पीसीआर के 106 व रैपिड एंटीजन टेस्ट के 95 सैंपल लिए गए। रेपिड एंटीजन टेस्ट की रिपोर्ट बुधवार को ही मिल गई। इसमें 2 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। वहीं आरटी पीसीआर की पुरानी 127 रिपोर्ट में से 14 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई है। इससे संक्रमण दर बुधवार को बढ़कर 11.02 फीसदी रही। संक्रमित सभी मरीज होम आइसोलेशन में रखे गए हैं।
जिले में कोरोना के 16 संक्रमित मिले हैं। लोगों को शारीरिक दूरी का पालन करने और मास्क लगाने की अपील की जा रही है। अगर किसी व्यक्ति को बुखार के लक्षण मिलते है तो वह स्वास्थ्य केंद्रों पर जाकर अपना कोरोना टेस्ट जरूर कराएं।
-डॉ. जयकिशोर, सिविल सर्जन।

कोरोना के केस लगातार मिल रहे हैं। जिले में बुधवार को 16 संक्रमित मिले और चार मरीज ठीक हुए है। जिले में कोरोना के सक्रिय मरीजों की संख्या बढ़कर 49 हो गई। दूसरी ओर बाजारों में लोग बिना मास्क लगाए खरीदारी करने पहुंच रहे है। साथ ही अस्पतालों में कोरोना नियमों की धज्जियां उड़ाई जा रही है।

बुधवार को 201 लोगों की कोरोना जांच के लिए सैंपल लिए गए। इनमें आरटी पीसीआर के 106 व रैपिड एंटीजन टेस्ट के 95 सैंपल लिए गए। रेपिड एंटीजन टेस्ट की रिपोर्ट बुधवार को ही मिल गई। इसमें 2 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। वहीं आरटी पीसीआर की पुरानी 127 रिपोर्ट में से 14 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई है। इससे संक्रमण दर बुधवार को बढ़कर 11.02 फीसदी रही। संक्रमित सभी मरीज होम आइसोलेशन में रखे गए हैं।

जिले में कोरोना के 16 संक्रमित मिले हैं। लोगों को शारीरिक दूरी का पालन करने और मास्क लगाने की अपील की जा रही है। अगर किसी व्यक्ति को बुखार के लक्षण मिलते है तो वह स्वास्थ्य केंद्रों पर जाकर अपना कोरोना टेस्ट जरूर कराएं।

-डॉ. जयकिशोर, सिविल सर्जन।

.


खुलासा: नाबालिग छात्रा को लेकर भागा, दुष्कर्म किया और दो घंटे के अंदर कर दी हत्या, नहर में फेंका शव

नागरिक अस्पताल में चिकित्सकों के 40 तो स्वास्थ्य केंद्रों पर 65 फीसदी पद रिक्त, कैसे मिले बेहतर इलाज