in

कोई साइकिल पर होगा सवार तो किसी के हिस्से आएगी कार


रेलवे रोड स्थित नगर परिषद कार्यालय। संवाद

रेलवे रोड स्थित नगर परिषद कार्यालय। संवाद
– फोटो : Bhiwani

ख़बर सुनें

संजय वर्मा
भिवानी। निकाय चुनावों में कुर्सी और ताज की दौड़ में कोई साइकिल पर सवार होगा तो किसी के हिस्से कार आएगी। इस बीच कौन अपनी सरकार बनाएगा। यह 17 दिन बाद तय हो जाएगा।
चुनाव आयोग के निर्देश पर भिवानी नप चुनावों में चेयरपर्सन पद के लिए 48 चुनाव निशान तय किए हैं, जबकि पार्षद पदक के प्रत्याशी के लिए 45 चुनावी चिह्न जारी किए गए हैं। चेयरपर्सन और पार्षद पद के प्रत्याशियों से तीन-तीन मनचाहे चुनाव चिह्न के कॉलम आवेदन में दिए गए हैं, इस दौरान जो जिसे पसंद हैं, वह तीन चुनाव चिह्न भर सकता है। नप चुनावों में चुनाव चिह्न का अहम किरदार होता है, क्योंकि पार्टियों के चुनाव चिह्न को छोड़कर बाकी चुनाव चिह्न प्रत्याशी के भाग्य का फैसला भी करते हैं। कई चुनाव चिह्न तो काफी लकी मानें जाते हैं, जिन्हें पाने के लिए हर कोई आवेदन में उनका जिक्र जरूर करता है। उसे मिले या न मिलें, वो उसके भाग्य पर निर्भर रहता है।
शहरी निकाय चुनाव में भिवानी नगर परिषद के सभी 31 वार्डों में पार्षद और चेयरपर्सन का चुनाव शेड्यूल जारी हो चुका है। 19 जून को मतदान होगा और 22 जून को परिणाम आएगा। इस बीच प्रत्याशियों की दिल की धड़कनें भी बढ़ गई हैं। शहर में 1.46 लाख मतदाता हैं, जिनमें 76628 पुरुष व 69632 महिला वोटर हैं। इन सबमें करीब 50 फीसदी महिला व युवा वोटर हैं, जो चुनाव में निर्णायक मोड़ तक नप चुनाव की बाजी लाएंगे। (संवाद)
निर्दलीय उम्मीदवारों की वार्डों में तैयार हो रही फौज
अभी नामांकन प्रक्रिया जारी है, लेकिन इसी दौरान शहरी वार्डों में पार्षद के लिए नामांकन करने वालों की फौज तैयार हो रही है। रोजाना ही पार्षद प्रतिनिधि नामांकन के लिए रिटर्निंग अधिकारी कार्यालय पहुंच रहे हैं। कई वार्डों में चुनावी रणनीति के तहत डम्मी उम्मीदवार भी मैदान में उतारे गए हैं।
कौन चढ़ेगा कामयाबी की सीढ़ी, किसके रिक्शा में मतदाता होंगे सवार
चुनावों में चुनाव चिह्न का आवंटन अभी नहीं हुआ है। लेकिन अभी से प्रत्याशी कामयाबी की सीढ़ी चढ़ने और किसके रिक्शा में मतदाता सवार होंगे, इसका आकलन जरूर होने लगा है। चुनाव को लेकर बहुत कम समय मिला है। मतदाता किस प्रत्याशी पर अपना विश्वास जताएंगे और ऊंट किस करवट बैठेगा किसी को कुछ नहीं पता। कुछ प्रत्याशी तो काफी पहले ही अपने चुनावी प्रचार में जुटे हैं।
सोशल मीडिया और यूट्यूबर बने प्रत्याशियों के हथियार
सोशल मीडिया और यूट्यूबर चुनाव मैदान में उतरे प्रत्याशियों के हथियार बन रहे हैं। यूट्यूबरों को इंटरव्यू देने के बहाने चुनाव प्रचार हो रहा है। जिसका खर्च भी उनके चुनाव खाते में नहीं जुड़ रहा है।
ये हैं चेयरपर्सन पद के लिए चुनाव चिह्न
एयर कंडीशन, अलमारी, सेब, कुल्हाड़ी, गुब्बारा, घंटी, ब्लैकबोर्ड, ईंट, पुल, ब्रश, अंगूर, बस, कैमरा, कैरमबोर्ड, कुर्सी, नारियल पेड़, चारपाई, क्रेन, ढोलक, दरवाजा, बिजली स्विच, गैस स्टोव, हाथ चक्की, डमरू, आम, टाई, कढ़ाई, कलमदवात, पीपल पत्ता, गैस पत्ती, सुराही, मटका, प्रेशर कूकर, रिक्शा, रोड रोलर, चकला बेलन, कैंची, कमीज, फावड़ा, तलवार, नल, गुल्ली डंडा, टॉर्च, करनी, वॉयलीन, सीटी, हाथघड़ी।
पार्षद पद के लिए चुनाव चिह्न
वायुयान, बल्ला, साइकिल, नाव, तीरकमान, बाल्टी, मोमबत्ती, कार, बैलगाड़ी, पंखा, कंघा, शंख, अनाज बरसाता किसान, गैस सिलिंडर, कांच का गिलास, हैंडपंप, हारमोनियम, टोप, हॉकी गेंद, जीप, जग, केतली, पतंग, सीढ़ी, लेडीज पर्स, लेटर बॉक्स, रेल इंजन, अंगूठी, उदीयमान सूर्य, स्कूटर, सिलाई मशीन, स्लेट, फावड़ा बेल्चा, स्टूल, टेबल फेन, टेबल लैंप, टोलीफोन, टेलीविजन, दो पत्ती।
यह है शहर में मतदाताओं की स्थिति
वार्ड पुरुष महिला कुल वोट
01 1455 1340 2795
02 2261 2165 4426
03 1701 1578 3279
04 2537 2373 4909
25 1641 1538 3179
06 2745 2488 5233
07 2877 2631 5508
08 3089 2903 5992
09 2456 2300 4756
10 1573 1463 3036
11 1097 989 2086
12 2016 1879 3895
13 1521 1330 2851
14 2127 1968 4095
15 2068 1760 3828
16 2403 2157 4560
17 1801 1613 3414
18 2055 1907 3962
19 2154 2056 4210
20 2550 2311 4861
21 2779 2301 5080
22 3474 3219 6693
23 3110 2889 5999
24 3521 3187 6708
25 3226 2918 6144
26 1991 1823 3814
27 3916 3496 7412
28 3835 3382 7217
29 3220 2900 6120
30 2622 3447 4969
31 2807 2422 5229
कुल 76628 69632 146260
नामांकन प्रक्रिया जारी
शहरी निकाय चुनाव के लिए नामांकन प्रक्रिया अभी जारी है। चेयरपर्सन और पार्षदों पदों के लिए चुनाव आयोग द्वारा जारी की गई चुनाव चिह्न की सूची कार्यालय के बाहर लगाई गई है। प्रत्येक प्रत्याशी तीन चुनावी चिह्न अपने आवेदन में भर सकता है, जिसे बाद में एक चुनाव चिह्न आवंटित किया जाएगा।
– संदीप अग्रवाल, रिटर्निंग अधिकारी एवं एसडीएम भिवानी।

संजय वर्मा

भिवानी। निकाय चुनावों में कुर्सी और ताज की दौड़ में कोई साइकिल पर सवार होगा तो किसी के हिस्से कार आएगी। इस बीच कौन अपनी सरकार बनाएगा। यह 17 दिन बाद तय हो जाएगा।

चुनाव आयोग के निर्देश पर भिवानी नप चुनावों में चेयरपर्सन पद के लिए 48 चुनाव निशान तय किए हैं, जबकि पार्षद पदक के प्रत्याशी के लिए 45 चुनावी चिह्न जारी किए गए हैं। चेयरपर्सन और पार्षद पद के प्रत्याशियों से तीन-तीन मनचाहे चुनाव चिह्न के कॉलम आवेदन में दिए गए हैं, इस दौरान जो जिसे पसंद हैं, वह तीन चुनाव चिह्न भर सकता है। नप चुनावों में चुनाव चिह्न का अहम किरदार होता है, क्योंकि पार्टियों के चुनाव चिह्न को छोड़कर बाकी चुनाव चिह्न प्रत्याशी के भाग्य का फैसला भी करते हैं। कई चुनाव चिह्न तो काफी लकी मानें जाते हैं, जिन्हें पाने के लिए हर कोई आवेदन में उनका जिक्र जरूर करता है। उसे मिले या न मिलें, वो उसके भाग्य पर निर्भर रहता है।

शहरी निकाय चुनाव में भिवानी नगर परिषद के सभी 31 वार्डों में पार्षद और चेयरपर्सन का चुनाव शेड्यूल जारी हो चुका है। 19 जून को मतदान होगा और 22 जून को परिणाम आएगा। इस बीच प्रत्याशियों की दिल की धड़कनें भी बढ़ गई हैं। शहर में 1.46 लाख मतदाता हैं, जिनमें 76628 पुरुष व 69632 महिला वोटर हैं। इन सबमें करीब 50 फीसदी महिला व युवा वोटर हैं, जो चुनाव में निर्णायक मोड़ तक नप चुनाव की बाजी लाएंगे। (संवाद)

निर्दलीय उम्मीदवारों की वार्डों में तैयार हो रही फौज

अभी नामांकन प्रक्रिया जारी है, लेकिन इसी दौरान शहरी वार्डों में पार्षद के लिए नामांकन करने वालों की फौज तैयार हो रही है। रोजाना ही पार्षद प्रतिनिधि नामांकन के लिए रिटर्निंग अधिकारी कार्यालय पहुंच रहे हैं। कई वार्डों में चुनावी रणनीति के तहत डम्मी उम्मीदवार भी मैदान में उतारे गए हैं।

कौन चढ़ेगा कामयाबी की सीढ़ी, किसके रिक्शा में मतदाता होंगे सवार

चुनावों में चुनाव चिह्न का आवंटन अभी नहीं हुआ है। लेकिन अभी से प्रत्याशी कामयाबी की सीढ़ी चढ़ने और किसके रिक्शा में मतदाता सवार होंगे, इसका आकलन जरूर होने लगा है। चुनाव को लेकर बहुत कम समय मिला है। मतदाता किस प्रत्याशी पर अपना विश्वास जताएंगे और ऊंट किस करवट बैठेगा किसी को कुछ नहीं पता। कुछ प्रत्याशी तो काफी पहले ही अपने चुनावी प्रचार में जुटे हैं।

सोशल मीडिया और यूट्यूबर बने प्रत्याशियों के हथियार

सोशल मीडिया और यूट्यूबर चुनाव मैदान में उतरे प्रत्याशियों के हथियार बन रहे हैं। यूट्यूबरों को इंटरव्यू देने के बहाने चुनाव प्रचार हो रहा है। जिसका खर्च भी उनके चुनाव खाते में नहीं जुड़ रहा है।

ये हैं चेयरपर्सन पद के लिए चुनाव चिह्न

एयर कंडीशन, अलमारी, सेब, कुल्हाड़ी, गुब्बारा, घंटी, ब्लैकबोर्ड, ईंट, पुल, ब्रश, अंगूर, बस, कैमरा, कैरमबोर्ड, कुर्सी, नारियल पेड़, चारपाई, क्रेन, ढोलक, दरवाजा, बिजली स्विच, गैस स्टोव, हाथ चक्की, डमरू, आम, टाई, कढ़ाई, कलमदवात, पीपल पत्ता, गैस पत्ती, सुराही, मटका, प्रेशर कूकर, रिक्शा, रोड रोलर, चकला बेलन, कैंची, कमीज, फावड़ा, तलवार, नल, गुल्ली डंडा, टॉर्च, करनी, वॉयलीन, सीटी, हाथघड़ी।

पार्षद पद के लिए चुनाव चिह्न

वायुयान, बल्ला, साइकिल, नाव, तीरकमान, बाल्टी, मोमबत्ती, कार, बैलगाड़ी, पंखा, कंघा, शंख, अनाज बरसाता किसान, गैस सिलिंडर, कांच का गिलास, हैंडपंप, हारमोनियम, टोप, हॉकी गेंद, जीप, जग, केतली, पतंग, सीढ़ी, लेडीज पर्स, लेटर बॉक्स, रेल इंजन, अंगूठी, उदीयमान सूर्य, स्कूटर, सिलाई मशीन, स्लेट, फावड़ा बेल्चा, स्टूल, टेबल फेन, टेबल लैंप, टोलीफोन, टेलीविजन, दो पत्ती।

यह है शहर में मतदाताओं की स्थिति

वार्ड पुरुष महिला कुल वोट

01 1455 1340 2795

02 2261 2165 4426

03 1701 1578 3279

04 2537 2373 4909

25 1641 1538 3179

06 2745 2488 5233

07 2877 2631 5508

08 3089 2903 5992

09 2456 2300 4756

10 1573 1463 3036

11 1097 989 2086

12 2016 1879 3895

13 1521 1330 2851

14 2127 1968 4095

15 2068 1760 3828

16 2403 2157 4560

17 1801 1613 3414

18 2055 1907 3962

19 2154 2056 4210

20 2550 2311 4861

21 2779 2301 5080

22 3474 3219 6693

23 3110 2889 5999

24 3521 3187 6708

25 3226 2918 6144

26 1991 1823 3814

27 3916 3496 7412

28 3835 3382 7217

29 3220 2900 6120

30 2622 3447 4969

31 2807 2422 5229

कुल 76628 69632 146260

नामांकन प्रक्रिया जारी

शहरी निकाय चुनाव के लिए नामांकन प्रक्रिया अभी जारी है। चेयरपर्सन और पार्षदों पदों के लिए चुनाव आयोग द्वारा जारी की गई चुनाव चिह्न की सूची कार्यालय के बाहर लगाई गई है। प्रत्येक प्रत्याशी तीन चुनावी चिह्न अपने आवेदन में भर सकता है, जिसे बाद में एक चुनाव चिह्न आवंटित किया जाएगा।

– संदीप अग्रवाल, रिटर्निंग अधिकारी एवं एसडीएम भिवानी।

.


चोरी में बाधा बनने पर फैक्टरी के पूर्व कारिंदे ने की थी चौकीदार सुरेंद्र की हत्या

संडवा में एक ही रात में दो घरों से 20 लाख का सामान चोरी