कैंटर ने तिपहिया साइकिल पर जा रहे दिव्यांग को मारी टक्कर, मौत


ख़बर सुनें

यमुनानगर। पुराना सहारनपुर रोड पर तेजली पावर हाउस के नजदीक कैंटर ने तिपहिया साइकिल पर जा रहे दिव्यांग को टक्कर मार दी। हादसे में उसकी मौके पर ही मौत हो गई। दिव्यांग तेजली से कपड़े लेकर घर जा रहा था। पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम कराया। संस्था ने शव को फ्रिजर में रखवा दिया है। मृतक की मां के आने पर श्री मानव सेवा समिति दिव्यांग के शव का अंतिम संस्कार कराएगी।
बिहार के गोपालगंज जिले के गांव दुमड़िया निवासी अरविंद साहनी ने बताया कि उसका चचेरा भाई दिव्यांग 26 वर्षीय राकेश साहनी गुलाब नगर में रहता था। वह अशोका प्लाईबोर्ड फैक्टरी में काम करता था। रविवार शाम राकेश अपनी तिपहिया साइकिल पर तेजली गांव में सिलाई के लिए दिए कपड़े लेने गया था। लौटते समय पुराना सहारनपुर रोड पर तेजली पावर हाउस के पास कलानौर की तरफ से तेज गति से आ रहे कैंटर ने उसे टक्कर मार दी। हादसे में उसकी मौके पर ही मौत हो गई। हादसे के बाद लोगों ने ट्रक चालक को पकड़ लिया। चालक की पहचान कर्मवीर के तौर पर हुई। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम करवा परिजनों को सौंप दिया। मौत की सूचना मिलने पर श्री मानव सेवा समिति के पदाधिकारी मौके पर पहुंचे।
संस्था के संस्थापक जयकुमार ने बताया कि राकेश साहनी का परिवार बिहार में रहता है। उसकी मां को सूचना दे दी गई है। जो यमुनानगर के लिए वहां से चल पड़ी है। उनके आने तक शव को फ्रिजर में रखवा दिया है। उनके आने के बाद संस्था द्वारा उसका संस्कार कराया जाएगा।

यमुनानगर। पुराना सहारनपुर रोड पर तेजली पावर हाउस के नजदीक कैंटर ने तिपहिया साइकिल पर जा रहे दिव्यांग को टक्कर मार दी। हादसे में उसकी मौके पर ही मौत हो गई। दिव्यांग तेजली से कपड़े लेकर घर जा रहा था। पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम कराया। संस्था ने शव को फ्रिजर में रखवा दिया है। मृतक की मां के आने पर श्री मानव सेवा समिति दिव्यांग के शव का अंतिम संस्कार कराएगी।

बिहार के गोपालगंज जिले के गांव दुमड़िया निवासी अरविंद साहनी ने बताया कि उसका चचेरा भाई दिव्यांग 26 वर्षीय राकेश साहनी गुलाब नगर में रहता था। वह अशोका प्लाईबोर्ड फैक्टरी में काम करता था। रविवार शाम राकेश अपनी तिपहिया साइकिल पर तेजली गांव में सिलाई के लिए दिए कपड़े लेने गया था। लौटते समय पुराना सहारनपुर रोड पर तेजली पावर हाउस के पास कलानौर की तरफ से तेज गति से आ रहे कैंटर ने उसे टक्कर मार दी। हादसे में उसकी मौके पर ही मौत हो गई। हादसे के बाद लोगों ने ट्रक चालक को पकड़ लिया। चालक की पहचान कर्मवीर के तौर पर हुई। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम करवा परिजनों को सौंप दिया। मौत की सूचना मिलने पर श्री मानव सेवा समिति के पदाधिकारी मौके पर पहुंचे।

संस्था के संस्थापक जयकुमार ने बताया कि राकेश साहनी का परिवार बिहार में रहता है। उसकी मां को सूचना दे दी गई है। जो यमुनानगर के लिए वहां से चल पड़ी है। उनके आने तक शव को फ्रिजर में रखवा दिया है। उनके आने के बाद संस्था द्वारा उसका संस्कार कराया जाएगा।

.


What do you think?

Written by Haryanacircle

एसडीओ से सवा तीन लाख रुपये बरामद नहीं कर पाई विजिलेंस

युवाओं के समर्थन में उतरा एसकेएम, 24 जून को देशभर में प्रदर्शन का एलान