in

किसानों ने केसीसी के लिए गैरकानूनी रूप से खाली चेक लेने का आरोप लगाया


ख़बर सुनें

जींद। नगूरां तथा आसपास के गांव के किसानों ने मंगलवार को नगूरां स्थित पीएनबी की शाखा के अधिकारियों पर किसान कृषि कार्ड लोन के दौरान गैरकानूनी रूप से खाली चेक लेने के आरोप लगाते हुए बैंक प्रबंधन के खिलाफ प्रदर्शन किया। किसानों द्वारा विरोध प्रदर्शन करने सूचना मिलते ही एलडीएम प्रेमचंद अहलावत मौके पर पहुंचे तथा भविष्य में किसानों के अलावा किसी भी ग्राहक के साथ ऐसा नहीं करने की चेतावनी कर्मचारियों को दी है।
किसान परमल, गजे सिंह, बलवान, शमशेर, रणबीर, राजू ने बताया कि किसान परमल द्वारा पीएनबी शाखा नगूरां से किसान कृषि कार्ड लोन के लिए नवीनीकरण करवाने के लिए बैंक में फाइल लगाई थी। इस पर एक बैंक अधिकारी ने उसकी फाइल को उठा कर पटक दिया। बार-बार अनुरोध करने के बाद भी उसकी किसी कर्मचारी तथा बैंक मैनेजर ने नहीं सुनी। यही नहीं बैंक मैनेजर तथा कर्मचारी द्वारा किसान कृषि कार्ड पर लोन लेने के लिए पहले पांच खाली चेक देने की बात कही।
उन्होंने कहा कि जब तक खाली चेक नहीं दिए जाएंगे, तब तक किसी भी सूरत में लोन नहीं दिया जाएगा। अन्य लोगों ने बताया कि बैंक कर्मचारियों ग्राहकों को बार-बार कोई न कोई बहाना करके धमकाते रहते हैं। महिलाएं भी बैंक में डरी सहमी नजर आती हैं।
शाखा मैनेजर बोले-नियम के तहत लिए जा रहे खाली चेक
शाखा मैनेजर राजेंद्र सहगल ने कहा कि किसानों से बैंक नियमों के तहत ही पांच खाली चेक लिए जा रहे हैं। किसी ग्राहक को कोई परेशान नहीं किया जा रहा है। किसान परमल मामले की जानकारी है। मामले को बैठकर सुलझा लिया जाएगा।
किसानों से खाली चेक लेना गलत : अहलावत
पीएनबी के लीड बैंक मैनेजर प्रेमचंद अहलावत ने कहा कि किसानों की शिकायत मिली है कि नगूरां बैंक मैनेजर द्वारा किसान कृषि कार्ड लोन के बदले पांच खाली चेक लिए जा रहे हैं। खाली चेक लेना गैरकानूनी है। इसके लिए बैंक मैनेजर के अलावा कर्मचारियों को चेतावनी दी है कि भविष्य में ऐसा नहीं हो।
बैंक मैनेजर के खिलाफ डीसी से मिलेंगे : कंडेला
भाकियू के प्रदेश प्रवक्ता छज्जूराम कंडेला ने कहा कि किसानों की कई बार इस शाखा के प्रति शिकायतें मिल चुकी हैं। इस मामले को लेकर डीसी से मिलकर बैंक मैनेजर के खिलाफ कार्रवाई की मांग की जाएगी।

जींद। नगूरां तथा आसपास के गांव के किसानों ने मंगलवार को नगूरां स्थित पीएनबी की शाखा के अधिकारियों पर किसान कृषि कार्ड लोन के दौरान गैरकानूनी रूप से खाली चेक लेने के आरोप लगाते हुए बैंक प्रबंधन के खिलाफ प्रदर्शन किया। किसानों द्वारा विरोध प्रदर्शन करने सूचना मिलते ही एलडीएम प्रेमचंद अहलावत मौके पर पहुंचे तथा भविष्य में किसानों के अलावा किसी भी ग्राहक के साथ ऐसा नहीं करने की चेतावनी कर्मचारियों को दी है।

किसान परमल, गजे सिंह, बलवान, शमशेर, रणबीर, राजू ने बताया कि किसान परमल द्वारा पीएनबी शाखा नगूरां से किसान कृषि कार्ड लोन के लिए नवीनीकरण करवाने के लिए बैंक में फाइल लगाई थी। इस पर एक बैंक अधिकारी ने उसकी फाइल को उठा कर पटक दिया। बार-बार अनुरोध करने के बाद भी उसकी किसी कर्मचारी तथा बैंक मैनेजर ने नहीं सुनी। यही नहीं बैंक मैनेजर तथा कर्मचारी द्वारा किसान कृषि कार्ड पर लोन लेने के लिए पहले पांच खाली चेक देने की बात कही।

उन्होंने कहा कि जब तक खाली चेक नहीं दिए जाएंगे, तब तक किसी भी सूरत में लोन नहीं दिया जाएगा। अन्य लोगों ने बताया कि बैंक कर्मचारियों ग्राहकों को बार-बार कोई न कोई बहाना करके धमकाते रहते हैं। महिलाएं भी बैंक में डरी सहमी नजर आती हैं।

शाखा मैनेजर बोले-नियम के तहत लिए जा रहे खाली चेक

शाखा मैनेजर राजेंद्र सहगल ने कहा कि किसानों से बैंक नियमों के तहत ही पांच खाली चेक लिए जा रहे हैं। किसी ग्राहक को कोई परेशान नहीं किया जा रहा है। किसान परमल मामले की जानकारी है। मामले को बैठकर सुलझा लिया जाएगा।

किसानों से खाली चेक लेना गलत : अहलावत

पीएनबी के लीड बैंक मैनेजर प्रेमचंद अहलावत ने कहा कि किसानों की शिकायत मिली है कि नगूरां बैंक मैनेजर द्वारा किसान कृषि कार्ड लोन के बदले पांच खाली चेक लिए जा रहे हैं। खाली चेक लेना गैरकानूनी है। इसके लिए बैंक मैनेजर के अलावा कर्मचारियों को चेतावनी दी है कि भविष्य में ऐसा नहीं हो।

बैंक मैनेजर के खिलाफ डीसी से मिलेंगे : कंडेला

भाकियू के प्रदेश प्रवक्ता छज्जूराम कंडेला ने कहा कि किसानों की कई बार इस शाखा के प्रति शिकायतें मिल चुकी हैं। इस मामले को लेकर डीसी से मिलकर बैंक मैनेजर के खिलाफ कार्रवाई की मांग की जाएगी।

.


जिला अस्पताल में नहीं है बुखार, दर्दनाशक तथा एंटीबायोटिक दवाइयां

पिकअप की चपेट में आया श्रमिक, मौत