किसानों का दिल्ली कूच: टीकरी बॉर्डर पर पांच लेयर की सुरक्षा, पैरामिलिट्री तैनात, प्रशासन ने की किलेबंदी


Farmers march to Delhi: Five layer security at Tikri border

टीकरी बॉर्डर पर दिल्ली पुलिस द्वारा की गई बैरिकेडिंग।
– फोटो : संवाद

विस्तार


13 फरवरी को किसानों के प्रस्तावित दिल्ली कूच को देखते हुए टीकरी बॉर्डर पर सुरक्षा इंतजाम और बढ़ा दिए गए हैं। पैरामिलिट्री और पुलिस बल औद्योगिक क्षेत्र में बीसीसीआई के नजदीक तैनात किए गए हैं। किसानों को रोकने के लिए कंटीली तार, लोहे और सीमेंट के भारी बैरिकेड की व्यवस्था कर दी गई है।

बॉर्डर पर लोहे के बैरिकेड के साथ भारी पत्थर भी लगाए गए हैं। सर्विलांस के लिए आधुनिक कैमरे और साउंड सिस्टम लगाए गए हैं जिनमें प्रत्येक गतिविधि कैद होगी।बहादुरगढ़ में भी कई नाके लगा दिए गए हैं। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि किसानों को दिल्ली में प्रोटेस्ट की अनुमति नहीं है।

एमएसपी की गारंटी और स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशें लागू करने जैसी लंबित मांगों को लेकर किसान 13 फरवरी से दिल्ली चलो की बात कह रहे हैं। इसके चलते हरियाणा और दिल्ली के बॉर्डर टीकरी पर किसानों को रोकने की तैयारी तेज कर दी गई। टीकरी बॉर्डर पर हरियाणा और दिल्ली की तरफ भारी भरकम कंटेनर और बैरिकेड लगा दिए गए है।

सड़क के दोनों तरफ सीमेंट कंक्रीट के अलग-अलग साईज के बड़े बड़े बैरिकेड रखे गए हैं। सड़क पर बैरिकेड रखने के लिए क्रेेन भी मौजूद है। आपात स्थिति से निबटने के लिए दिल्ली पुलिस के सैकड़ों जवान रिजर्व रखे गए हैं।

अफसर दौरा कर ले रहे निगरानी

टीकरी बॉर्डर पर पांच लेयर की सुरक्षा के इंतजाम किए जा रहे हैं। दिल्ली पुलिस के कर्मचारियों के लिए तंबू भी बनाया गया है। बड़े-बड़े पत्थर के आगे लोहे के बैरिकेड पर तारें भी बांधी गई हैं। अत्याधुनिक कैमरे लगाए जा रहे हैं। देर शाम तक बैरिकेड पर लोहे के तार बांधने का काम चलता रहा। साउंड सिस्टम भी दिल्ली बॉर्डर पर लगाए गए हैं।बाहरी दिल्ली के डीसीपी जिमी चिराम व मुंडका थाना एसएचओ गुलशन गुप्ता लगातार निगरानी रख रहे हैं।

इस तरह की जा रही है बैरिकेडिंग

हरियाणा से दिल्ली में प्रवेश करने से पहले पुराने बड़े पत्थर लगाए गए हैं। इसके बाद नए बड़े-बड़े पत्थरों को लगाया गया है। साथ ही लोहे के बैरिकेड पर तार लगाकर उन्हें खड़ा किया गया है। इसके आगे लोहे के बड़े कंटेनर और फिर क्रेन खड़ी की गई है। काफी संख्या में दिल्ली पुलिस के साथ ही पैरामिलिट्री फोर्स की तैनाती भी की जाएगी। बहादुरगढ़ में जवान तैनात कर दिए गए हैं। सेक्टर-9 मोड़ पर नाका लगाया गया है। रविवार की शाम को काफी संख्या में अधिकारी व पुलिसकर्मी नाके पर पहुंचे।

दिल्ली पुलिस पूरी तरह तैयार : डीसीपी

बाहरी दिल्ली के डीसीपी जिमी चिराम ने कहा कि अगर आंदोलनकारियों के बीच में घुसकर शरारती तत्वों ने सरकारी संपत्ति या अन्य कोई नुकसान पहुंचाया तो उस पर सख्त कानूनी कार्रवाई की जाएगी। पुलिस प्रशासन किसी भी अप्रिय स्थिति से निपटने के लिए तैयार है।

कानून से खिलवाड़ नहीं करने देंगे : एसपी

आमजन की सुरक्षा तथा कानून व्यवस्था बनाए रखना पुलिस की प्राथमिकता है। हर गतिविधि पर नजर रखी जा रही है। दिल्ली-हरियाणा बॉर्डर पर पुलिस की गश्त तेज है। किसी भी तरीके से कानून का उल्लंघन नहीं होने दिया जाएगा। यदि कोई कानून के साथ खिलवाड़ करेगा तो उसके खिलाफ पुलिस एक्शन लेगी। -डॉ. अर्पित जैन, एसपी, झज्जर।

.


What do you think?

Hisar News: फीस बढ़ोतरी के विरोध में आईआईवीईआर के विद्यार्थी धरने पर डटे

Fatehabad News: सड़क हादसे में दो सगे भाइयों की मौत, तीन गंभीर