in

करंट लगने से दो लोगों की मौत


ख़बर सुनें

पानीपत। बिजली का करंट लगने से मंगलवार को अलग-अलग स्थानों पर दो लोगों की मौत हो गई। पहला हादसा बरसत रोड पर और दूसरा तहसील कैंप के विकास नगर में हुआ। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए सामान्य अस्पताल के शव गृह में रखवाया।
पहला हादसा:
स्वास्तिक कॉलोनी निवासी रुंडाराम (62) ऑटो चलाता था। वह मंगलवार देर शाम धागे की गांठ लोड कर बरसत रोड स्थित एक फैक्टरी में गया था। जहां माल उतारते समय वह एचटी लाइन की चपेट में आ गया और गंभीर रूप से झुलस गया। स्थानीय लोगों ने उसे सामान्य अस्पताल पहुंचाया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।
दूसरा हादसा:
मूलरूप से यूपी के उग्रपुर निवासी हिंदराज (28) पानीपत के तहसील कैंप स्थित विकास नगर में रहता था। वह सीवरेज पाइपलाइन बिछाने का काम करता था। मंगलवार रात विकास नगर में पाइप लाइन बिछाने का काम चल रहा था। वह एक ट्रांसफारमर के पास खुदाई कर रहा था। इसी बीच बिजली के तारों की चपेट में आने से वह भी बुरी तरह झुलस गया। स्थानीय लोगों ने उसे सामान्य अस्पताल पहुंचाया, जहां डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए शव गृह में रखवा दिया है और आगामी कार्रवाई शुरू कर दी है।

पानीपत। बिजली का करंट लगने से मंगलवार को अलग-अलग स्थानों पर दो लोगों की मौत हो गई। पहला हादसा बरसत रोड पर और दूसरा तहसील कैंप के विकास नगर में हुआ। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए सामान्य अस्पताल के शव गृह में रखवाया।

पहला हादसा:

स्वास्तिक कॉलोनी निवासी रुंडाराम (62) ऑटो चलाता था। वह मंगलवार देर शाम धागे की गांठ लोड कर बरसत रोड स्थित एक फैक्टरी में गया था। जहां माल उतारते समय वह एचटी लाइन की चपेट में आ गया और गंभीर रूप से झुलस गया। स्थानीय लोगों ने उसे सामान्य अस्पताल पहुंचाया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

दूसरा हादसा:

मूलरूप से यूपी के उग्रपुर निवासी हिंदराज (28) पानीपत के तहसील कैंप स्थित विकास नगर में रहता था। वह सीवरेज पाइपलाइन बिछाने का काम करता था। मंगलवार रात विकास नगर में पाइप लाइन बिछाने का काम चल रहा था। वह एक ट्रांसफारमर के पास खुदाई कर रहा था। इसी बीच बिजली के तारों की चपेट में आने से वह भी बुरी तरह झुलस गया। स्थानीय लोगों ने उसे सामान्य अस्पताल पहुंचाया, जहां डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए शव गृह में रखवा दिया है और आगामी कार्रवाई शुरू कर दी है।

.


नौकरी लगवाने के नाम पर हजारों रुपये ठगे

20.5 लाख के 5 ट्यूबवेल लगाने का निगम ने लगाया दोबारा टेंडर